मलिकाइन के पातीः चिरई के जान जाव लड़िका खेलवना

मार बढ़नी रे-मार बढ़नी, कोरोनवा कुलच्छनी के मार बढ़नी

मार बढ़नी रे-मार बढ़नी, कोरोनवा कुलच्छनी के मार बढ़नी। मलिकाइन के पाती एम शफी के लिखल आ रिंकू भारती के गावल गीत से शुरू...
मलिकाइन के पातीः चिरई के जान जाव लड़िका खेलवना

हमरा त रह-रह के इहे बुझाता, केहू से केहू के निबही ना नाता

हमरा त रह-रह के इहे बुझाता, केहू से केहू के निबही ना नाता। मलिकाइन के पाती आइल बा। आजो ऊ अपना पाती के शुरुआत...
मलिकाइन के पातीः चिरई के जान जाव लड़िका खेलवना

मलिकाइन के पाती- भय बिन होहि न प्रीति…

मलिकाइन के पाती एहू बेर गोसाईं तुलसी दास जी के रामायण के एगो चौपाई के लाइन से शुरू भइल बा। लिखले बाड़ी- भय बिन...
ना खेलेब, ना खेलायेब, खेलवे भांड़ देब- मलिकाइन लिखले बाड़ी

खेलेब, ना खेलायेब, खेलवे भांड़ देब…………………

खेलेब ना खेलायेब, खेलवे भांड़ देब। मलिकाइन के पाती अबकियो कहाउते से शुरू भइल बा। उनकर सगरी पाती एही अंदाज में हर बेर आवेला।...
मलिकाइन के पातीः चिरई के जान जाव लड़िका खेलवना

मलिकाइन के पाती- बेशवा रूसल त घरवो बांचल

मलिकाइन आपन पाती आदतन एहू बेर कहाउते से शुरू कइले बाड़ी। लिखले बाड़ी- बेशवा रूसल त घरवो बांचल। पाती पढ़ला के बाद माने बुझाई।...
मलिकाइन के पातीः चिरई के जान जाव लड़िका खेलवना

आनकर आंख में कीचर लउके, आपन ढेंढ़र केहू निहारे ना

आनकर आंख में कीचर लउके, आपन ढेंढ़र केहू निहारे ना। मलिकाइन के पाती अबकियो कहाउते से शुरू भइल बा। आनकर आंख में कीचर लउके,...
मलिकाइन के पातीः चिरई के जान जाव लड़िका खेलवना

ई कोरना भायरस कवन बेमारी ह मलिकार, मचवले बा हाहाकार

ई कोरना भायरस कवन बेमारी ह मलिकार, एह घरी चारू ओर ऊ मचवले बा हाहाकार। मलिकाइन अपना पाती में आज इहे सवाल कइले बाड़ी।...
मलिकाइन के पातीः चिरई के जान जाव लड़िका खेलवना

कहीं के ढोल कहीं के तासा, पल में तोला पल में मासा

कहीं के ढोल कहीं के तासा, पल में तोला पल में मासा। मलिकाइन के पाती के शुरुआत गंवई कहाउत से भइल बा-  एह कहाउत...
मलिकाइन के पाती

मलिकाइन के पाती- जस करनी, तस भोग ही पावा….

मलिकाइन के पाती अबकी फेर एगो कहाउते से शुरू भइल बा। ऊ शुरुआत कइले बाड़ी- जस करनी तस भोग ही पावा, नरक जात में...
मलिकाइन के पाती

मलिकाइन के पातीः आग लागो, बज्जर परो एह दुनिया में मलिकार

मलिकाइन के पाती के आज शुरुआत भइल बा- आग लागो, बज्जर परो एह दुनिया में मलिकार। ऊ निर्भया कांड के दोषी लोगन के फांसी...
- Advertisement -

POPULAR POSTS

- Advertisement -

MOST COMMENTED

बिहार की राजनीति को समझना मुश्कल ही नहीं, नामुमकिन है

पटना। बिहार की राजनीति को समझना मुश्कल ही नहीं, नामुमकिन है। 2014 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी की लहर में विपक्ष साफ हो...