अभिनेता तापस पाल का असमय जाना, बांग्ला फिल्म इंडस्ट्री की बड़ी क्षति

तापस पाल का जाना कई बांग्ला फिल्मों की कई यादें छोड़ गया

0
राजेश त्रिपाठी तापस पाल का जाना कई यादें छोड़ गया। उत्तम कुमार-सुचित्रा सेन के युग के बाद बांग्ला फिल्मों में उनके खालीपन को तापस...

तब प्रभात खबर के प्रिंटलाइन में संपादकीय प्रभारी का नाम छपा

0
आप जहां रहते हैं, उसके इर्द-गिर्द हर दिन, हर पल कई ऐसी चीजें घटित होती हैं कि जब कभी किस्सागोई में उन्हें समेटना चाहें...

जानिए क्यों चर्चा में है प्रिंस सिंह राजपूत की फिल्म इंडियन विराज

0
5 अक्टूबर को हुई है फिल्म रिलीज पहले दिन ही मिली बंपर ओपनिंग पटना। कश्मीर में पत्थरबाजी की घटना पर आधारित भोजपुरी फिल्म इंडियन...

कुमार कालिका सिंह ने जलाई थी स्वतंत्रता संग्राम की मशाल

0
राज घराने से ताल्लुक रखने वाले कालिका हीरा जी के नाम से रहे मशहूर पकड़े जाने पर कुमार कालिका ने न्यायालय में ऐसा...

SC/ST मुद्दे पर विपक्ष को धकिया कर आगे निकल गयी भाजपा

0
डा. राजेंद्र 2019 की तस्वीर कुछ-कुछ साफ होने लगी है। सुप्रीम कोर्ट ने अचानक ही एससी-एसटी ऐक्ट के विरुद्ध फैसला नहीं सुना दिया था!...
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर दीया जलाओ कार्यक्रम में जन-जन की हुई सहभागिता के जरिए इस देश के आम लोगों ने एक बार फिर एक बड़ा संकेत दे दिया है।

दीया जलाओ कार्यक्रम का बड़ा संकेत, जानने के लिए इसे पढ़ लें

0
सुरेंद्र किशोर दीया जलाओ कार्यक्रम में जन-जन की हुई सहभागिता के जरिए इस देश के आम लोगों ने एक बार फिर एक बड़ा संकेत...
जननायक कर्पूरी ठाकुर की सादगी बेमिसाल व अनुकरणीय है। मुख्यमंत्री के सर्वोच्च पद पर पहुंचने के बावजूद आजीवन वे तामझाम व दिखावे से दूर रहे।

जननायक कर्पूरी ठाकुर की सादगी बेमिसाल व अनुकरणीय है

0
सुशील कुमार मोदी जननायक कर्पूरी ठाकुर की सादगी बेमिसाल व अनुकरणीय है। मुख्यमंत्री के सर्वोच्च पद पर पहुंचने के बावजूद आजीवन वे तामझाम व...
भीष्म साहनी

जयंती पर विशेषः तमस में उजियारे का नाम भीष्म साहनी

0
नवीन शर्मा भीष्म साहनी हिंदी साहित्यकारों में विशिष्ट स्थानीय रखते हैं। सात अगस्त 1915 को रावलपिंडी में इनका जन्म हुआ था। अपने उपन्यास तमस...
नेताजी सुभाष चंद्र बोस पत्रकार भी थे। यह बात नयी पीढ़ी के पत्रकारों को शायद मालूम न हो। नेताजी ने साप्ताहिक ‘फारवर्ड ब्लाक’  का संपादन किया।

नेताजी सुभाष चंद्र बोस पत्रकार भी थे, न जानते हों तो पढ़ लीजिए

0
कृपाशंकर चौबे नेताजी सुभाष चंद्र बोस पत्रकार भी थे। यह बात नयी पीढ़ी के पत्रकारों को शायद मालूम न हो। नेताजी ने साप्ताहिक ‘फारवर्ड...

पैंसठ वर्षीय पिता ने प्रोफेसर पुत्र को लिखा पत्र, दी ऐसी सलाह 

0
कलकत्ता यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर रहे अमरनाथ ने अपने 65वें जन्मदिन पर बेटे के नाम पत्र लिखा है। बेटा हिमांशु भी प्रोफेसर हैं। पत्र में...