बेपनाह हुस्न की मलिका इंद्राणी जानिए क्यों है चर्चा के केंद्र में

0
825

मुंबई। हिंदी, तमिल और तेलगू सिनेमा में काम कर चुकी इंद्राणी तालुकदार फिल्म देवन मिसिर से मगही सिनेमा में नजर आ चुकी है। नवाजउद्दीन सिद्दिकी के साथ फिल्म लतीफ में काम कर चुकीं और राजपाल यादव के साथ फिल्म अपरिचित शक्ति में काम कर रही इंद्राणी ने बताया कि फिल्म में उनका निभाया किरदार बेहद चुनौतीपूर्ण रहा है। इंद्राणी ने बताया कि फिल्म किसी भी भाषा में हो, यदि कहानी पसंद है तो उन्हें उसमें काम कर अच्छा लगता है।

मूल रूप से असम की रहने वाली इंद्राणी ने बताया कि जब फिल्म के निर्माता-निर्देशक मिथिलेश सिंह ने फिल्म की कहानी सुनायी तो उसे सुन कर वह बेहद रोमांचित हो गयीं। उन्होंने कहा- मुझे फिल्म की कहानी काफी अच्छी लगी और फिल्म में काम करना सहर्ष स्वीकार कर लिया। इस फिल्म के जरिये दर्शकों को नयी इंद्राणी देखने को मिली। उम्मीद से ज्यादा दर्शकों ने फिल्म और मेरे अभिनय को  पसंद किया। मुझे फिल्मों में चुनौतीपूर्ण किरदार निभाना बेहद पसंद है। मैं अलग-अलग तरह के किरदार निभाने की ख्वाहिश रखती हूँ।

- Advertisement -

फिल्म देवन मिसिर के जरिये हर वर्ग के लोगों को ध्यान में रखकर एक बहुत ही अच्छी फिल्म बनाने की कोशिश की गयी थी।   इंद्राणी ने बताया कि वैसी फिल्म में ही काम करना चाहती हैं, जो उन्हें प्रेरित करे। चाहे वह किसी भी भाषा की हो। उन्होंने कहा कि भाषा कलाकार के उत्साह को कम नहीं करती।

उन्होंने कहा कि यदि मुझे फिल्म की कहानी पसंद आती है तो चाहे यह पंजाबी, हिन्दी या किसी भी भाषा की हो और यदि फिल्म का किरदार मुझे पसंद हो तो मैं उस फिल्म का हिस्सा जरूर बनूंगी। उनका मानना है कि फिल्मों की कोई भाषा नहीं होती। इन बातों से कोई फर्क नहीं पड़ता है कि आपने किस भाषा की फिल्म में काम किया है। फिल्म बनाने प्रक्रिया सभी जगह समान है।

यह भी पढ़ेंः प्यार में तोरे उड़े चुनरिया’ की हिरोइन गुंजन पंत को भा गया बिहार

यह भी पढ़ेंः पुरषोत्तम से हारते नहीं तो गजल गायक नहीं बन पाते जगजीत सिंह

यह भी पढ़ेंः दक्षिण अफ्रीका ने गांधी को राह दिखाई तो चंपारण ने मशहूर किया

यह भी पढ़ेंः भावुकता में नरेंद्र मोदी के बारे में क्या बोल गये मुलायम, जानिए

- Advertisement -