कांग्रेस सत्ता में आई तो गरीबों को 72000 सालाना देंगेः राहुल गांधी

0
140
बीजेपी का आरोप है कि कोरोना वायरस से उत्पन्न हुए संकट की इस घड़ी में कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी झूठ बोलने से बाज नहीं आ रहे हैं। बिहार प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव रंजन ने यह आरोप लगाया है
बीजेपी का आरोप है कि कोरोना वायरस से उत्पन्न हुए संकट की इस घड़ी में कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी झूठ बोलने से बाज नहीं आ रहे हैं। बिहार प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव रंजन ने यह आरोप लगाया है

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने महंगाई मिटाने के नाम पर बड़ा दांव खेला है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि देश में 20 प्रतिशत अति गरीब लोग हैं। कांग्रेस को अगर सरकार बनाने का मौका मिलता है तो ऐसे हर गरीब परिवार को 72000 रुपये सरकार देगी। उन्होंने देश से गरीबी मिटाने का संकल्प दोहराते हुए यह वादा जनता से किया। इंदिरा गांधी ने भी गरीबी हटाओ का नारा दिया था।

इससे पहले गांवों से पलायन रोकने हर आदमी को काम देने के लिए कांग्रेस नीत पिछली यूपीए सरकार ने मनरेगा स्कीम लागू की थी। राहुल ने इसी कड़ी को आगे बढ़ाया है। हालांकि उन्होंने खुद यह नहीं बताया कि इसके लिए पैसे कहां से आयेंगे, लेकिन इतना जरूर कहा कि इसके उपाय पी. चिदंबरम बेहतर ढंग से बतायेंगे।

- Advertisement -

यह भी पढ़ेंः भाजपा की हुईं अन्नपूर्णा देवी, कोडरमा की सीट से उतरेंगी मैदान में

राहुल ने कहा कि उनकी सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि ऐसे गरीबों की आमदनी हर महीने 12000 रुपये हो। अगर किसी की आमदनी 12 हजार से कम होगी तो बाकी पैसे सरकार देगी और आमदनी 12 हजार रुपये सुनिश्चित करेगी। उन्होंने समझाया कि अगर किसी की आमदनी 10 हजार मासिक है तो सरकार उसके खाते में 2000 रुपये डालेगी।

यह भी पढ़ेंः सुशील मोदी की शत्रुघ्न को सलाह, इस उम्र में अब और फजीहत ठीक नहीं

राहुल ने कहा कि हमने जब भी जो वादा किया, उसे पूरा किया है। मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने कर्ज माफी का वादा किया था। सरकार बनते ही कांग्रेस ने उसे पूरा कर दिखाया। इसी अंदाज में राहुल ने देश के 20 फीसदी गरीबों के लिए वादा किया है। राहुल के मुताबिक अपना वादा पूरा करने के लिए पार्टी ने पहले ही समीक्षा कर ली है कि कितने पैसे इस योजना पर खर्च होंगे और कहां से आयेंगे।

यह भी पढ़ेंः कांग्रेस के 3 नाम घोषित, भाकपा ने कन्हैैया कुमार को बेगूसराय भेजा

राहुल गांधी के इस बड़े वादे पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि कांग्रेस हमेशा योजनाएं बनाती है, लेकिन उसमें छल-कपट का समावेश हो जाता है। गरीबी हटाने का वादा इंदिरा गांधी ने भी किया था, जिसका नतीजा आज सामने है। कांग्रेस इसे हमेशा पालिटिकल बिजनेस के रूप में देखती है। इंदिरा गांधी ने भी 1971 में गरीबी हटाने का नारा दिया था और इसके बूते चुनाव भी जीता था, लेकिन गरीबी हटाने के लिए काम नहीं किया।

यह भी पढ़ेंः बिहार में महागठबंधन से आगे चल रहा एनडीए, कैंडिडेट घोषित

- Advertisement -