होम लेखक द्वारा पोस्ट Sarthak Samay

Sarthak Samay

4171 पोस्ट 0 टिप्पणी
Sarthak Samay is a news website, which publish latest news articles on daily basis. Subscribe to our mailing list for news alerts in your inbox.
विश्वविद्यालय शिक्षक चयन आयोग के गठन की है जरूरत
देश के सभी विश्वविद्यालयों में सभी शिक्षकों के लिए यूजीसी का एक समान वेतनमान लागू है. यूजीसी ने शिक्षकों के चयन के लिए एक समान योग्यता सुनिश्चित कर रखा है जिसका अनुपालन भी सख्ती से किया जाता है. देश भर के सभी विश्वविद्यालयों से मिलने वाली उपाधियाँ भी सभी जगह समान रूप से मान्य होती हैं. किन्तु शिक्षकों की चयन-...
झारखंड में ग्रामीण अर्थव्यवस्था का रथ राज्य की डेढ़ लाख उद्यमी महिलाएं खींच रही हैं। झारखंड के सीएम हेमन्त सोरेन के विजन को इससे बल मिल रहा है।
रांची। झारखंड में ग्रामीण अर्थव्यवस्था का रथ राज्य की डेढ़ लाख उद्यमी महिलाएं खींच रही हैं। झारखंड के सीएम हेमन्त सोरेन के विजन को इससे बल मिल रहा है। झारखंड को विकास के राजपथ पर दौड़ाने के मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन के विजन को ये महिलाएं अमली जामा पहना रही हैं। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ग्रामीण महिलाओं को आजीविका से...
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार फिर से ‘जनता के दरबार में मुख्यमंत्री’ कार्यक्रम की शुरुआत आज से की। 5.5 घंटे से ज्यादा देर तक सीएम ने फरियाद सुनी।
पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार फिर से ‘जनता के दरबार में मुख्यमंत्री’ कार्यक्रम की शुरुआत आज से की। 5.5 घंटे से ज्यादा देर तक सीएम ने फरियाद सुनी। जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में राज्य के विभिन्न जिलों से पहुंचे 146 लोगों की समस्याओं को नीतीश कुमार ने सुना और संबंधित विभागों के अधिकारियों को समाधान के...
दिव्या भारती की हमशक्ल लड़की इनदिनों खासा चर्चा का केंद्र बनी हुई है। मंजू थापा नाम की यह लड़की भी फिल्म जगत से जुड़ी है।
सिलीगुड़ी (पश्चिम बंगाल)। दिव्या भारती की हमशक्ल लड़की इनदिनों खासा चर्चा का केंद्र बनी हुई है। मंजू थापा नाम की यह लड़की भी फिल्म जगत से जुड़ी है। दिव्या भारती की हमशक्ल 18 साल की मंजू दार्जिलिंग की रहने वाली है। इसने प्लेनेट मिस इंडिया वर्ल्ड 2018 का खिताब भी अपने नाम किया है। माडलिंग से करियर शुरू करने...
चंद्रशेखर (भूतपूर्व प्रधानमंत्री) की पुण्यतिथि पर उनसे जुड़े कई लम्हे दिलो-दिमाग में आने लगे हैं। सीतामढ़ी से जुड़ा एक प्रसंग याद आ रहा है। 80 के दशक की बात है।
नागेंद्र प्रसाद सिंह चंद्रशेखर (भूतपूर्व प्रधानमंत्री) की पुण्यतिथि पर उनसे जुड़े कई लम्हे दिलो-दिमाग में आने लगे हैं। सीतामढ़ी से जुड़ा एक प्रसंग याद आ रहा है। 80 के दशक की बात है। सीतामढ़ी में उनकी सभा तात्कालिक लक्ष्मी उच्च विद्यालय के मैदान (वर्तमान नगर उद्यान) में  होनी थी। उन्हीं दिनों एक रिक्शाचालक को किसी ने लखनदेई पुल से...
पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर को याद करते हुए। बलिया से उठा, बुलन्दी छू गया। ठेठ, खुद्दार, गंवई अक्स, खादी की सादगी में मुस्कुराता चेहरा। अब नही दिखेगा।
Chanchal Bhu पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर को याद करते हुए। बलिया से उठा, बुलन्दी छू गया। ठेठ, खुद्दार, गंवई अक्स, खादी की सादगी में मुस्कुराता चेहरा। अब नही दिखेगा। न सियासत में, न ही समाज में। क्योंकि ऐसे लोग अब कैसे बनेंगे, जब उस विधा का ही लोप हो गया है, जो विधा चंद्रशेखर को गढ़ती रही। विषयांतर है। एक दिन...
चंद्रशेखर की जेल डायरी में अनेक प्रसंग दर्ज हैं। इमरजेंसी के दौर की शासन व्यवस्था, राजनीतिक गतिविधियों को समझने के लिए यह अहम दस्तावेज है।
चंद्रशेखर की जेल डायरी में अनेक प्रसंग दर्ज हैं। इमरजेंसी के दौर की शासन व्यवस्था, राजनीतिक गतिविधियों को समझने के लिए यह अहम दस्तावेज है। 8 जुलाई चंद्रशेखर की पुण्यतिथि है। इस मौके पर उनकी जेल डायरी के चुनिंदा अंश पर प्रकाश डाल रहे हैं राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश हरिवंश इमरजेंसी के दौरान लिखी गयी पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर की डायरी...
डिजिटल मीडिया आचार संहिता का उदेश्य सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के संयुक्त सचिव विक्रम सहाय ने डिजिटल प्रकाशकों को विस्तार से समझाया।
पटना। डिजिटल मीडिया आचार संहिता का उदेश्य सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के संयुक्त सचिव विक्रम सहाय ने डिजिटल प्रकाशकों को विस्तार से समझाया। उन्होंने कहा कि केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा डिजिटल मीडिया आचार संहिता 2021 का उद्देश्य अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को कायम रखते हुए ओटीटी प्लेटफार्म पर प्रसारित होने वाली सामग्री के गुणवत्ता को बनाये रखना है।...
पीर अली खां 1857 के स्वतंत्रता संग्राम के ऐसे योद्धा थे, जिनके बलिदान को देश ने विस्मृत कर दिया है। बिना रियासत वाले योद्धाओं में पीर अली की गिनती होती है।
ध्रुव गुप्त पीर अली खां 1857 के स्वतंत्रता संग्राम के ऐसे योद्धा थे, जिनके बलिदान को देश ने विस्मृत कर दिया है। बिना रियासत वाले योद्धाओं में पीर अली की गिनती होती है। देश के पहले स्वाधीनता संग्राम के नायकों में सिर्फ राजे, नवाब और सामंत नहीं थे जिनके सामने अपने छोटे-बड़े राज्यों और जमींदारियों को अंग्रेजों से बचाने...
नेहरू ने मेनन को चुनाव जितवाने के लिए दिलीप कुमार की मदद ली थी। हिन्दी सिनेमा के पहले महानायक दिलीप कुमार का निधन हो गया है। यह संस्मरण उन्हें श्रद्धांजलि है।
सुरेंद्र किशोर नेहरू ने मेनन को चुनाव जितवाने के लिए दिलीप कुमार की मदद ली थी। हिन्दी सिनेमा के पहले महानायक दिलीप कुमार का निधन हो गया है। यह संस्मरण उन्हें श्रद्धांजलि है। ‘मैंने पहली बार 1962 में लोकसभा चुनाव में किसी उम्मीदवार के लिए प्रचार किया था। पण्डित जवाहरलाल नेहरू ने मुझे खुद फोन करके कहा था कि क्या मैं...