प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फंस गये राष्ट्र को संबोधित कर, होगी जांच

0
162
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राष्ट्र को संबोधित कर फंस गये हैं। एंटी-कंसल्टेंट मिसाइल के सफल परीक्षण के बाद राष्ट्र को उन्होंने बुधवार को संबोधित किया था। चुनाव आयोग ने इसका संज्ञान ले लिया है। विपक्षी दलों ने इसे चुनाव आचार संहिता का उल्लेघन करार दिया था। चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री के राष्ट्र को संबोधित करने के मामले की जांच के लिए अधिकारियों का एक पैनल गठित किया है, ताकि यह पता लगाया जा सके कि क्या उन्होंने वास्तव में आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया है।

मोदी ने राष्ट्र को संबोधित करने का निर्णय बुधवार की सुबह “एंटी-कंसल्टेंट मिसाइल” का सफलतापूर्वक परीक्षण करने के बाद लिया गया। चुनाव आयोग के वरिष्ठ अधिकारियों के अनुसार जांच के लिए एक पैनल बनाया गया है, जो प्रधानमंत्री के भाषण की क्लिपिंग मांगेगा और संबोधन की तात्कालिक आवश्यकता की जांच करेगा।

- Advertisement -

यह भी पढ़ेंः बिहार की हाट सीट पटना साहिब, दरभंगा व बेगूसराय बन गयीं हैं

परीक्षण बुधवार को 11.16 बजे किया गया इसके एक घंटे बाद पीएम मोदी द्वारा राष्ट्र को संबोधित कर इसकी जानकारी दी गयी। विपक्षी दलों ने यह सवाल उठाया है कि यह केवल राजनीतिक लाभ के लिए किया गया है। श्री मोदी ने 11.23 बजे ट्वीट किया था कि उनके पास राष्ट्र के लिए एक महत्वपूर्ण घोषणा है। चुनाव आयोग की जांच दो बिंदुओं पर होगी। पहला यह कि राष्ट्र के नाम संबोधन क्या तात्कालिक जरूरत थी या फिर चुनावी के लिए यह निर्णय प्रधानमंत्री ने लिया, जैसा विपक्ष का आरोप है।

यह भी पढ़ेंः ‘मुगल-ए-आज़म’ की अनारकली इस तरह ज़िंदा बच निकली 

चुनाव आयोग के सूत्रों ने इससे पहले दिन में बताया था कि राष्ट्रीय सुरक्षा और आपदा प्रबंधन से जुड़े मुद्दे आदर्श आचार संहिता के दायरे में नहीं आते हैं। इसके लिए किसी पूर्व अनुमति की आवश्यकता भी नहीं होती है। प्रधानमंत्री बुधवार को घोषणा की कि भारत ने एक एंटी-सैटेलाइट मिसाइल का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है। यह भारत की एक बड़ी उपलब्धि है। इसके साथ ही अंतरिक्ष की शक्तियों वाले राष्ट्रों में भारत शुमार हो गया है। इस मामले में यह विश्व का चौथा देश हो गया। इससे पहले अमेरिका, रूस और चीन ने ही एंटी-सैटेलाइट मिसाइलों का परीक्षण किया है।

यह भी पढ़ेंः भाजपा को खरी खोटी सुनाने वाली अन्नपूर्णा देवी अब गुणगान कर रहीं

- Advertisement -