कैदी वाहन में सुराग बना भागने की फिराक में थे नक्सली

0
195
कैदी वाहन, जिसमें नक्सलियों ने सुराग बना डाला था भागने के लिए

पुलिस ने योजना कर दी विफल, लापरवाही के आरोप में जमादार, चालक निलंबित 

सासाराम। मंडल कारा से  डेहरी अनुमंडल कोर्ट आ रहे कैदी वाहन में सुराग बना बड़े नक्सलियों की भागने की योजना पुलिस की तत्परता से शनिवार को विफल हो गई।  वाहन के सिपाही चालक व  एमटी जमादार को निलंबित कर दिया गया है। सार्जेंट से शो कॉज किया गया है। सार्जेंट मेजर को अलर्ट किया गया। जिले के प्रभारी एसपी पीके मंडल ने शनिवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय में प्रेस वार्ता में यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि आज सुबह गुप्त सूचना मिली कि मंडल कारा सासाराम से डेहरी अनुमंडल कोर्ट में पेशी के लिए आ रहे तीन बड़े नक्सलियों ने कैदी वाहन से भागने की योजना बनाई है। सूचना मिलते ही कैदी वाहन की उन्होंने जांच की। जांच के दौरान पता चला कि वाहन के  फर्श  के लोहे के शीट क्षतिग्रस्त है। कैदी वाहन  के फर्श की चादर को सोडा और चूना लगा कर गला दिया गया था। जिससे 2 फीट से अधिक लोहा गल चुका था। उससे आराम से कैदी भाग सकते थे। उन्होंने बताया कि उनके भागने की योजना की सूचना मिलते दूसरे कैदी वाहन से पेशी के लिए नक्सलियों को यहां न्यायालय भेजा गया।

- Advertisement -

उन्होंने बताया कि आज डेहरी अनुमंडल न्यायालय में कुख्यात नक्सली अभय यादव शंभू उर्फ शीतल और अजय खरवार की पेशी होनी थी। इन नक्सलियों की योजना थी कि सासाराम से यहां आने के क्रम में सड़क जाम होने की स्थिति में कैदी वाहन पर सवार सिपाही जैसे ही सड़क फ्री कराने उतरते,  वैसे ही ये नक्सली भाग निकलते। इनके भागने की जानकारी कैदी वाहन के डेहरी कोर्ट पहुंचने पर मिलती। एसपी ने कैदी वाहन के छतिग्रस्त फर्श के चादर से निकलने का डेमो भी दिखाया।

यह भी पढ़ेंः नाबालिग को जेल भेजे जाने मामले में 11 पुलिसकर्मी सस्पेंड

उन्होंने बताया कि इस मामले में कैदी वाहन के सिपाही चालक महेंद्र सिंह और एमटी जमादार तबारक मियां को निलंबित कर दिया गया है। सार्जेंट रणधीर कुमार से शो कॉज किया गया है।  सार्जेंट मेजर को अलर्ट किया गया। श्री मंडल ने बताया कि चालक व अन्य की कैदी भगाने के मामले में भूमिका की जांच की जा रही है। जो भी इस मामले में दोषी होंगे, उन पर कार्रवाई की जाएगी। प्रेस वार्ता में एएसपी अभियान दुर्गेश कुमार व एसडीपीओ अनवर जावेद अंसारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ेंः बेटियों के कल्याण के लिए बिहार सरकार ने उठाये क्रांतिकारी कदम

- Advertisement -