सीवान में नोट छापने की मशीन पकड़ायी, फिर क्या हुआ?

0
336
  • सिवान के बसंतपुर में 4 गिरफ्तार
  • 4.55 लाख के  जाली नोट बरामद

सिवान। सिवान एक बार फिर चर्चा में है। जालसाजी के मामले में देश-दुनिया में मशहूर नटवर लाल की जन्मभूमि पर एक और फर्जीवाड़े का पता चला है। जिले के बसंतपुर में जाली नोटों की बड़े पैमाने पर छपाई का रहस्योद्घाटन हुआ है। इस छापाखाने से नोट छपने के बाद जगह-जगह सप्‍लाई होते थे। सप्लाई करने वाले बड़े एक गिरोह का भंडाफोड़ भी सिवान पुलिस ने किया है।

यह भी पढ़ेंः बिहार में सीट शेयरिंग पर फंस गया पेंच, नीतीश 25 पर अड़े

- Advertisement -

पुलिस के मुताबिक अभी तक विदेशों से आने वाले जाली नोटों की बात देश के कई शहरों में सामने आई है, लेकिन अब देश में ही, वह भी बिहार के सिवान में धड़ल्‍ले से जाली नोट छापे जाने का खुलासा होने के बाद पुलिस भी हतप्रभ है।

यह भी पढ़ेंः पहले लूटा, फिर मार दी 2 लोगों को गोली, एक की हो गयी मौत

मंगलवार को बिहार पुलिस ने जाली नोट छापने और इसकी सप्लाई करने वाले ऐसे ही एक गिरोह का भंड़ाफोड़ सिवान में किया। उनकी कारगुजारी देख पुलिस के भी होश उड़ गए। सिवान के एसपी नवीन चंद्र झा ने बताया कि बसंतपुर के बलथरा गांव से पंकज कुमार, भगवानपुर थाने के चोरमा निवासी अंशु कुमार, दिनेश कुमार सहनी और सारण जिले के कोपा थाने के चतरा गांव से राजेश कुमार को गिरफ्तार किया गया है। उनसे पूछताछ जारी है।

यह भी पढ़ेंः कोसी त्रासदी की याद दिलाती फिल्म ‘लव यू दुलहिन’

उन्होंने बताया कि सोमवार की रात छापेमारी कर उक्‍त आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तारी के दौरान एक बोरा में 10, 20, 50, 100, 200 और 2000 के कुल चार लाख 55 हजार 830 रुपये के जाली नोट मिले। साथ ही नोट छापने वाली मशीन व कलर तथा मोटरसाइकिल आदि भी बरामद किए गए।

यह भी पढ़ेंः समस्तीपुर में पकड़ी गयी जाली नोट छापने की मशीन, एक गिरफ्तार

- Advertisement -