जिउतिया पर अपनी मांओं की गोद सूनी कर गये 14 बच्चे

0
225

पटना। माताएं संतान की कुशलता की कामना के लिए जिउतिया व्रत करती है। वे माएं खुद को किसी अभागन से कम नहीं मान रही होंगी, जिनके बच्चे पिछले 24 घंटों के दौरान जिउतिया पर्व के लिए नदी में स्नान करने के दौरान काल के गाल में समा गये। कल पशिचमी चंपारण जिले में 3 बच्चे डूबे थे। एक को बचा लिया गया था, पर दो की मात हो गयी थी। कोसी-पूर्व बिहार में सात बच्चों की कल डूबने से मौत हो गयी थी। कई लापता हो हो गये।

ताजा घटना आज शाम की है। सारण जिले के पानापुर थाना क्षेत्र में जिउतिया पर अपनी मांओं के साथ नहाने गये 5 बच्चे डूब गये। एक को तो बचा लिया गया और एक का शव बरामद हुआ, पर 3 का अब तक कोई अतापता नही है।

- Advertisement -

पानापुर थाने के रामपुररुद्र 161 के गंडक नदी घाट पर मंगलवार की शाम अपनी मां के साथ जीवितपुत्रिका व्रत के मौके पर स्नान करने गए पांच बच्चे डूब गए। इनमें से एक लड़की को महिलाओं ने डूबने से बचा लिया। चार बच्चे डूब गए।

जानकारी के अनुसार रामपुरररूद्र 161 घाट पर जीवितपुत्रिका व्रत में दिन भर के उपवास के बाद शाम में महिलाएं स्नान कर रही थीं। महिलाओं के साथ बच्चे भी नदी में स्नान कर रहे थे। इसी दौरान बच्चे डूबने लगे। जिसे देख महिलाएं चिल्लाने लगीं। एक महिला ने अपनी साड़ी खोलकर नदी में फेंक दिया और डूब रहे बच्चों को पकड़ने के लिए कहा। तरैया थाना क्षेत्र के सगुनी राजवाड़ा  के दिलीप राय की 12 वर्षीया पुत्री ने साड़ी पकड़ ली। उसे महिलाओं ने धीरे-धीरे खींचकर बचा लिया। जबकि चार बच्चे साड़ी नहीं पकड़ सके। उनके बारे में अभी तक कोई पता नहीं चला है।

डूबे बच्चों में एक ऋषभ भी है। 10 वर्षीय ऋषभ कुमार के पिता सुरेश राय एक वर्ष पूर्व मर चुके हैं। विधवा माँ गीता कुँवर का जीने का एकमात्र सहारा ऋषभ कुमार ही था, जो मंगलवार को जीवित्पुत्रिका व्रत को लेकर गंगा नदी में दादी के साथ स्नान करने गया था। डूबने से उसकी मौत हो गयी।

सभी बच्चे चौथी व पाचवीं कक्षा के बताये जाते हैं। ऋषभ कुमार वर्ग 4, प्रीति कुमारी वर्ग 5, रीति कुमारी वर्ग 4 तथा प्रिंस कुमार वर्ग 3 का छात्र था। घटना की सूचना मिलते ही एसडीओ विनोद कुमार तिवारी, डीएसपी धीरेन्द्र कुमार साह, बीडीओ राकेश कुमार, सीओ  वीरेंद्र मोहन, तरैया थानाध्यक्ष मनोज कुमार प्रसाद, पानापुर थानाध्यक्ष रमेश कुमार महतो, स्थानीय मुखिया सुशील कुमार सिंह घटना स्थल पर पहुंचे।

यह भी पढ़ेंः नवरात्र में NDA के सीट बंटवारे का होगा ऐलान, तब मचेगा घमासान

- Advertisement -