पखवाड़े भर में दो भाइयों की मौत से परिवार में मचा कोहराम

0
106

छपरा। सारण जिले के नगरा प्रखंड के खैरा थाना क्षेत्र के खैरा बाजार स्थित अनुसूचित जाति के मोहल्ले में एक पखवाड़े के अंदर ही दो भाइयों की मौत से परिवार में कोहराम मचा है। मिली जानकारी अनुसार राज नारायण दास पूर्व शिक्षक ने दो शादियां कर रखी थीं। दोनों पत्नियों से संतानें थीं। पहली पत्नी से एक लड़का और तीन लड़की तथा दूसरी पत्नी से चार बेटे एवं तीन बेटियां हैं।

यह भी पढ़ेंः जिद, जुनून और जोश के बल पर गुरु रहमान ने फिर रचा इतिहास

- Advertisement -

सूत्र बताते हैं कि पहली पत्नी के लड़के 30 वर्षीय श्रवण कुमार ने 24 फरवरी 2019 को फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली थी। हालांकि लोगों ने उसकी बीमारी से हुई मौत का हवाला देते हुए शव को दफना दिया था। अभी श्रवण कुमार के श्राद्ध को मात्र 2 दिन ही बीते हैं कि उसकी सौतेली मां के 17 वर्षीय लड़के शत्रोहन राम ने सोमवार को फांसी लगा कर जान दे दी।

यह भी पढ़ेंः ‘राजवंशीय’ लोकतंत्र के बढ़ते कदमों के बीच एक और चुनाव 

जब इस बात की सूचना आम लोगों को लगी तो बात जंगल में आग की तरह फैल गई। लोग तरह-तरह की चर्चाएं करने लगे। इसी में यह भी उजागर हुआ कि श्रवण  कुमार ने भी फांसी लगा कर ही जान दी थी। ग्रामीणों ने खैरा थाना को सूचित किया खैरा थाना प्रभारी अरुणंजय  कुमार ने लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

यह भी पढ़ेंः भाजपा को काबू में रखने की कला कोई नीतीश कुमार से सीखे

सूत्रों की मानें तो ये दोनों लड़के राज नारायण दास पूर्व शिक्षक की दोनों पत्नियों के बेटे थे। चूंकि राज नारायण दास ने दो शादियां कर रखी है तो मोहल्ले के लोग दबी जुबान पारिवारिक कलह को ही कारण मान रहे हैं। फिलहाल एक ही पखवाड़े के अंदर दो मौतों के कारण राज नारायण दास के घर एवं मोहल्ले में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है। आवाज यदि मिल रही है तो सिर्फ और सिर्फ रोने की। पुलिस के मुताबिक प्रथमदृष्टया मामला आत्महत्या का लगता है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही सही जानकारी उपलब्ध हो जाएगी।

यह भी पढ़ेंः उलझी गांठें खोलने में पसीने छूट रहे बिहार में महागठबंधन के

यह भी पढ़ेंः मलिकाइन के पातीः बड़का नेंव आ ढेर नेवतरही तबाही के घर होला

- Advertisement -