महागठबंधन में सीट बंटवारे पर महामंथन का पहला दौर खत्म

0
122
फाइल फोटो
  • बिहार-झारखंड से राजग को उखाड़ने की रणनीति बनी
  • कंप्रोमाइज करने को तैयार रहने की प्रतिबद्धता दोहरायी
  • सीटों की संख्या का खुलासा खरमास के बाद होगा

पटना/ रांची (राणा अमरेश सिंह)महागठबंधन में सीट शेयरिंग का पहले महामंथन का दौर आज शनिवार को रांची स्थित रिम्स में खत्म हो गया। बैठक के बाद मुकेश सहनी और उपेंद्र कुशवाहा के बाडी लैंग्वैज से मिलीजुली प्रतिक्रिया मिली। दोनों ने बिहार और झारखण्ड से राजग को उखाड़ फेंकने की अपनी प्रतिबद्धता दोहरायी। बैठक में रालोसपा मुखिया उपेंद्र कुशवाहा, सन आफ मल्लाह यानी मुकेश सहनी, बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव व राजद सुप्रीमो लालू यादव शामिल थे। बैठक के बाद मुकेश सहनी और उपेंद्र कुशवाहा एक साथ निकले, जबकि तेजस्वी यादव अपने पिता लालू यादव के साथ बैठे रहे। खबर है कि अगले शनिवार को हम (से) के मुखिया व पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी लालू यादव से सीट शेयरिंग पर अपनी बात रखेंगे।

रिम्स गेट पर आज सुबह से ही मीडिया का पहरा लग गया था, ताकि महागठबंधन के महामंथन की रिपोर्टिंग की जा सके। सुबह करीब 11 बजे तेजस्वी यादव के साथ मुकेश सहनी और उपेंद्र कुशवाहा लालू यादव से मिलने पहुंचे। करीब दो घंटे चली बैठक के बाद मुकेश सहनी और उपेंद्र कुशवाहा एक साथ निकले, जबकि तेजस्वी यादव एक घंटे बाद निकले।

- Advertisement -

बैठक के बाद मुकेश सहनी ने कहा, राजग को बिहार व झारखंड से हटाने के लिए कंप्रोमाइज करने को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि बिहार की जनता राजग सरकार से असहज महसूस करती है और सत्ता परिवर्तन चाहती है। उन्होंने सीट शेयरिंग के संबंध में अभी खुलासा करने से इंकार किया।

इसी तरह उपेंद्र कुशवाह ने कहा, वर्ष 2019 में बिहार और झारखंड में राजग को उखाड़ फेकेंगे। उन्होंने कहा कि बिहार में सहनी की लहर है। जाहिर है कि लालू यादव ने मुकेश सहनी के जनाधार की बैठक में प्रशंसा की होगी। इसलिए उपेंद्र कुशवाहा को भी दबे मन से इसे मीडिया के सामने कहना पड़ा।

उपेंद्र कुशवाहा ने बताया कि खरमास यानी 14 जनवरी के बाद सभी घटक दल संयुक्त रूप से सीट शेयरिंग की घोषणा करेंगे। दोनों ने लालू यादव की तबीयत को सामान्य बताया। लगे हाथ बता दें कि यह लगातार दूसरा शनिवार था, जब महागठबंधन के प्रतिनिधि लालू यादव से हालचाल जानने के बहाने सीट शेयरिंग पर मंथन के लिए मिले। पिछले हफ्ते कांग्रेस आलाकमान के दूत व कद्दावर नेता शकील अहमद मिले थे। अगले शनिवार 5 जनवरी को पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी रिम्स में लालू यादव से मिलेंगे और अपना पक्ष रखेंगे।

यह भी पढ़ेंः रांची में लालू से मिले तेजस्वी संग सन आफ मल्लाह व कुशवाहा

- Advertisement -