बिहार में अधिकाधिक सीटों पर उम्मीदवार देगी भारतीय मित्र पार्टी

0
841

पटना। भारतीय मित्र पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष धनेश्वर महतो ने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में भारतीय मित्र पार्टी बिहार में अधिक से अधिक सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े करेगी। हमारी पार्टी उड़ीसा, मध्य प्रदेश में प्रत्याशी उतारेगी। उड़ीसा में विधानसभा और लोकसभा के चुनाव एक साथ होने हैं। भारतीय मित्र पार्टी का प्रयास है कि विधानसभा और लोकसभा दोनों में ही अपने प्रत्याशी वहां से उतारे। श्री महतो सोमवार को पटना स्थित पार्टी कार्यालय में बैठक के बाद पत्रकारों से बात कर रहे थे। बैठक में बिहार के सभी जिलों से जिला अध्यक्ष और प्रखंड अध्यक्ष उपस्थित थे।

उड़ीसा के प्रदेश अध्यक्ष मिलन चंद्र महंता ने कहा कि उड़ीसा में भारतीय मित्र पार्टी जोर-शोर से चुनाव लड़ेगी और हमारा प्रयास होगा कि उड़ीसा से भारतीय मित्र पार्टी के कैंडिडेट अधकाधिक जीतें। उन्होंने कहा कि भारतीय मित्र पार्टी का सिद्धांत किसी राजनीतिक दल से मेल नहीं खाता और भारतीय मित्र पार्टी आम जनता की आवाज बुलंद करती है। इसी वजह से उन्होंने समाजवादी पार्टी का साथ छोड़ दिया और भारतीय मित्र पार्टी में आए हैं। उन्होंने आशा जतायी कि यह पार्टी सभी जाति-धर्म को साथ लेकर चलने की बात करती है और कहीं से इस पार्टी के अंदर किसी तरह का भेदभाव नजर नहीं आता।

- Advertisement -

उन्होंने दावा किया कि आने वाला समय भारतीय मित्र पार्टी का होगा। राष्ट्रीय महासचिव इंद्रजीत कुमार ने कहा कि भारतीय मित्र पार्टी गरीबों की पार्टी है। पार्टी 90 प्रतिशत टिकट गरीब मिडिल क्लास के लोगों को देगी। दिव्यांगों को कोई भी राजनीतिक दल स्थान नहीं देता है, लेकिन भारतीय मित्र पार्टी उनको भी स्थान देगी। उन्हें भी चुनाव लड़ाएगी। पार्टी के अंदर जो जमीनी स्तर के कार्यकर्ता हैं, उन्हें टिकट के लिए सोचना नहीं पड़ेगा। पार्टी उन्हें स्वयं टिकट देकर चुनाव लड़ाने का काम करेगी।

मध्य प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष सुनील कुशवाहा मध्य प्रदेश से चुनाव लड़ेंगे। उन्हें और भी प्रत्याशी चयन के लिए कहा गया है। प्रदेश प्रवक्ता इनामुल रहमान अंसारी ने कहा कि आज हिंदुस्तान के अंदर लगभग 20% अल्पसंख्यक हैं। आज उनकी अनदेखी हर पार्टी करती है। ऐसे में भारतीय मित्र पार्टी से मुस्लिम समाज को बहुत उम्मीदें हैं। उन्होंने आग्रह किया कि वाजिब संख्या में टिकट मुस्लिम समाज को भी दिया जाये। हिंदुस्तान में भारतीय मित्र पार्टी पहली है, जिसके अंदर हमें किसी भी तरह के जातिवाद की गंध नहीं लगती। इसीलिए हमने भाजपा छोड़ कर भारतीय मित्र पार्टी का साथ दिया है।

यह भी पढ़ेंः

भाजपा में मची भगदड़, पहले शत्रुघ्न व कीर्ति बागी बने, अब उदय सिंह

लोकसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबले की बन रही संभावना

रोड शो के बाद अनंत सिंह को आस, हर हाल में मिलेगा हाथ का साथ

पुण्यतिथिः आधुनिक युग के  विद्रोही संन्यासी का नाम है ओशो

तेज प्रताप का बदला ठिकाना, अपनों को छोड़, अलग घर बसाया

राहुल की रैली के बाद ही महागठबंधन में सीटों का बंटवारा संभव

राष्ट्रीय महिला सेल की अध्यक्ष बीना देवी, पटना महिला सेल के अध्यक्ष रूमा देवी, प्रभा देवी, पटना जिला अध्यक्ष विमल कुमार यादव, बृज बिहारी लाल, हेमंत कुमार सिंह, गोपाल कुमार तिवारी, धर्मेंद्र कुमार, रवि कुमार समेत बिहार के कोने-कोने से कार्यकर्ता बैठक में शामिल होने आये थे।

- Advertisement -