बिहार में उच्च शिक्षा से कोई वंचित नहीं रहेगाः सुशील मोदी

0
124

पटना। बिहटा स्थित आईआईटी पटना में 47 करोड़ की लागत से निर्मित होने वाले Electronic System Design and Manufacturing: Medical Electronics हेतु Incubation Center के भवन निर्माण के शिलान्यास कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि कोई छात्र बिहार में पैसे के अभाव में उच्च शिक्षा से वंचित नहीं रहेगा। स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना के तहत 4 लाख तक ऋण 4 प्रतिशत के ब्याज पर लड़कों के लिए और 1 प्रतिशत ब्याज पर छात्राओं/दिब्यांगजनों के लिए सरकार उपलब्ध करा रही है। अभी तक 35078 आवेदन स्वीकृत किए गए हैं, जिसमें 1025 करोड़ की राशि सन्निहित है। 22247 छात्र-छात्राओं को 202 करोड़ रूपया वितरित किया जा चुका है।

भारत सरकार द्वारा स्वीकृत इस Incubation Center में 15 करोड़ की लागत से बिहार सरकार भवन निर्माण करा रही है। यहां पर मेडिकल संयंत्रों के निर्माण एवं आविष्कार पर शोध कार्य किया जायेगा। इसके साथ श्री मोदी ने बताया कि नई स्टार्ट अप नीति 2016 के तहत सरकार ने 500 करोड़ का Venture Capital Fund स्थापित किया है जिसमें तत्काल 50 करोड़ का प्रावधान किया गया है। स्टार्ट अप योजना का लाभ उठाने के लिए 5532 लोगों ने आवेदन किया था जिसमें 931 लोगों का चयन कर 17 विभिन्न Incubation Center के साथ सम्बद्ध किया गया है जिसमें अभी तक 47 स्टार्ट अप को 1 करोड़ 80 लाख रू0 अनुदान के रूप में उपलब्ध कराया गया है।

- Advertisement -

उन्होंने आई.आई.टी. के छात्रों से अपील की कि वे नौकरी के पीछे भागने के बजाय चिकित्सा, कृषि एवं शिक्षा के क्षेत्र में स्टार्ट अप के माध्यम से नये-नये अनुसंधान करें।

यह भी पढ़ेंः बिहार की बर्बादी के लिए राजद, कांग्रेस भी जिम्मेवारः सुशील मोदी

सुशील मोदी के ट्वीट

  • जिस कांग्रेस के नेता  पिछड़ा-अतिपिछड़ा परिवार से आने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बर्दाश्त नहीं कर पा रहे हैं और संन्यासी उमा भारती की जाति पूछ रहे हैं, उसके साथ गठबंधन जारी रखकर लालू प्रसाद की पार्टी बिहार में पिछड़ों को अपमानित करने के सामाजिक अन्याय में शामिल हो गई है। सात पीढ़ियों के लिए सम्पत्ति जुटाने में लगे लोग  सामाजिक न्याय के नाम पर गरीबों को धोखा दे रहे हैं।
  • राजीव गांधी ने प्रधानमंत्री रहते हुए स्वीकार किया था कि उनकी सरकार गरीबों के लिए जो एक रुपया भेजती है, उसमें से केवल 15 पैसे लाभार्थी तक पहुंचते हैं। कांग्रेस सरकार दलालों-बिचौलियों से घिरी थी, लेकिन आज डिजिटल इंडिया, जनधन खाता और आधार कार्ड का इस्तेमाल कर एनडीए सरकार गरीब के खाते में पूरा एक रुपया (पूरा लाभ) पहुंचा रही है। राहुल गांधी इसके लिए पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ करने के बजाय बेबुनियाद मुद्दे उछाल रहे हैं। क्या उन्हें अपने पिता के सपने साकार करने वाले पीएम का आभार नहीं मानना चाहिए?

यह भी पढ़ेंः सुशील मोदी ने लालू पर जातिवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया

- Advertisement -