करम पर्व पर झारखंड में 60 हजार करम पौध लगाने की हुई शुरुआत

0
226

रांची। गीत, नृत्य, संगीत और प्रकृति पूजा झारखंड की पहचान है। करम, सरहुल, वटवृक्ष, पीपल, आंवला, नीम व पलास जैसे अनेक वृक्षों को पर्व और संस्कार से जोड़ा गया है। करम वृक्ष के महत्व को देखते हुए राज्य में 60 हजार करम पौधे का रोपण किया जा रहा है, जिसकी शुरुआत आज हुई। करम पर्व से हमें अच्छा कर्म करने की सीख मिलती है। ये बातें मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने रांची में करमा पूजा समारोह में कहीं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले साल जमशेदपुर में करमा पूजा में करम का वृक्ष लगाने की घोषणा की थी। इस दुर्लभ प्रजाति के वृक्ष को पूरे राज्य में अभियान चलाकर लगाया जायेगा। हमारे पूर्वजों ने हमें हरा-भरा झारखंड और सांस्कृतिक विरासत सौंपी है। हमारे आदिवासी भाई-बहनों ने पर्यावरण की रक्षा करने में सबसे बड़ा योगदान दिया है। हमारा कर्तव्य है कि हम आनेवाली पीढ़ी को हरा-भरा और खुशहाल झारखण्ड सौंपे। हमें अपनी संस्कृति बचाने के लिए जागरूक रहने की जरूरत है।

- Advertisement -

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी गांव, गरीब, किसान, महिला और नौजवानों को केंद्र में रखकर योजनाएं बनायी हैं। इसी कड़ी में महिलाओं को जहरीले धुएं से बचाने के लिए उज्जवला योजना चलायी। इसमें महिलाओं को निशुल्क गैस कनेक्शन दिये जा रहे हैं। झारखंड सरकार एलपीजी गैस सिलेंडर के साथ-साथ गैस चूल्हा और पहली रिफिल फ्री दे रही है। अब तक राज्य में 23 लाख परिवारों को गैस कनेक्शन दिया जा चुका है। दिसंबर तक कुल 34 लाख परिवारों को इसका लाभ दिया जायेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिसंबर तक राज्य के 68 लाख परिवारों तक बिजली पहुंचा दी जायेगी। 02 अक्टूबर तक रामगढ़ के घर-घर तक बिजली पहुंच जायेगी। 11 अक्टूबर तक बोकारो जिला भी पूरी तरह से विद्युतीकृत कर दिया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने आजादी के बाद पहली बार *पिछड़ा आयोग को संवैधानिक दर्जा देने का काम किया है।

मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने आगामी 23 सितंबर 2018 को सभी लोगों से रांची स्थित प्रभात तारा मैदान पहुंचने की अपील की। इसी दिन प्रधानमंत्री झारखंड की धरती से दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना की शुरुआत करेंगे। इसमें पूरे देश में 50 करोड़ लोगों का स्वास्थ्य बीमा होगा। राज्य के 68 लाख परिवारों में से 57 लाख परिवारों का बीमा होगा। इससे गरीबों को बीमारी के इलाज के लिए किसी का मुंह नहीं देखना होगा। वे सम्मान के साथ अपने परिजनों का इलाज करा सकेंगे।

मुख्यमंत्री ने बताया कि रिंग रोड  और रांची-जमशेदपुर रोड का काम जल्द तेजी पकड़ेगा। इसके लिए राज्य सरकार ने माननीय न्यायालय से दूसरे संवेदक से काम कराने को लेकर अनुमति मांगी है। अनुमति मिलते ही काम तेजी से होगा। लोगों की मांग को देखते हुए कांके रिंग रोड ब्रिज से पिठोरिया चंदवे मुख्य पथ के कोल्हे कनादु तक पथ के निर्माण की घोषणा मुख्यमंत्री ने की। उन्होंने कहा कि इससे यह गांव रिंग रोड से कनेक्ट हो जायेगा। कार्यक्रम की शुरुआत मुख्यमंत्री ने सरना झंडे की पूजा और करम का पौधा लगाकर किया।

यह भी पढ़ेंः पीएम 23 को रांची में करेंगे आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत

- Advertisement -