दुपट्टा, चप्पल किनारे छोड़ युवती ने नहर में लगाई छलांग, तलाश जारी 

0
180

सासाराम। नगर थाना छेत्र के पच्छिमी मुख्य नहर पुल  (हदहदवा पुल)  से कूदकर शुक्रवार को  एक युवती  ने जान दे दी। वहां मौजूद लोगों ने बचाने का प्रयास किया, पर उसे बचाया नहीं जा सका। पानी के तेज धारा  में वह बह गई।

थानाध्यछ धर्मेन्द्र कुमार के अनुसार आज सुबह एक युवती  हदहदवा पुल की रेलिंग में अपना डुपट्टा बांध कर पुल से नीचे कूद गई। वहां मछली मार रहे लोगों ने बचाने की कोशिश की, पर पानी के तेज धारा  में वह बह गई। उन्होंने बताया कि सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने दुपट्टा व चप्पल को अपने कब्जे में ले लिया है। वहीं  शव की खोजबीन की जा रही है। अभी तक किशोरी की पहचान नहीं हो पाई है और न आत्महत्या के कारणों का ही पता चल पाया है।

- Advertisement -

दर-दर की ठोकर खा रही है दहेज के लिए बेघर बहू

दहेज के लिए ससुराल से बेघर बहू न्याय के लिए दर-दर की ठोकर खा रही है। मामला सासाराम नगर के आलमगंज मोहल्ले का है। इस मोहल्ले के हरिद्वार प्रसाद चौरसिया के पुत्र दीपेश चौरसिया की शादी 23 नवंबर को डुमराव स्टेशन रोड निवासी अधिवक्ता राजीव भगत की पुत्री वंदना के साथ स्थानीय सत्यम पैलेस में संपन्न हुई थी। अगले दिन 24 नवंबर को वंदना अपनी ससुराल पहुंची।

चंद दिनों बाद ही ससुराल पक्ष के लोग वंदना को दहेज में कार एसी, बैटरी इन्वर्टर, कूलर आदि जैसे कीमती सामानों के मांग करते हुए प्रताड़ित करने लगे। वंदना का पति दीपेश ने शराब के नशे में उसके साथ कई दफे मारपीट की। उसका मोबाइल फोन भी तोड़ दिया, ताकि वंदना अपनी मैके माता-पिता से बात नहीं कर सके। वंदना ने अपने ससुर हरिद्वार  प्रसाद चौरसिया पर भी कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

उसके मुताबिक गत 21 जून की रात उस पर काफी जुल्म ढाया गया। ससुराल पक्ष के लोगों ने वंदना के साथ जमकर मारपीट की। उसी रात ससुराल वालों ने वंदना को घर से बेघर कर दिया। किसी तरह वंदना अपने नाते-रिश्तेदारों से संपर्क कर अपने ऊपर हो रहे जुल्म की कहानी अपने माता-पिता तक पहुंचाई। तब घरवाले डुमरांव से दौड़े भागे सासाराम पहुंचे। इस संबंध में वंदना के लिखित बयान पर नगर थाना सासाराम में मामला दर्ज कराया गया है। इस मामले का अनुसंधान भी पूरा हो गया है। पुलिस उपाधीक्षक के अलावा पुलिस अधीक्षक द्वारा भी पति दीपेश चौरसिया, उसके ससुर हरिद्वार प्रसाद चौरसिया तथा सास रीता चौरसिया की गिरफ्तारी का आदेश दिया है।

ससुराल से बेघर हुई वंदना ने न्याय के लिए राज्य महिला आयोग का भी दरवाजा खटखटाया है। आयोग ने इस मामले को काफी गंभीरता से लेते हुए सुनवाई शुरू कर दी है। सुनवाई में दो बार ससुराल पक्ष को हाजिर होने का निर्देश दिया गया। बावजूद ससुराल पक्ष के लोग अपना पक्ष रखने के लिए अब तक आयोग के समक्ष हाजिर नहीं हुए। बताया जाता है कि ससुराल पक्ष के इस रवैया को आयोग ने भी गंभीरता से लिया है।

बेगूसराय में एक युवक को गोली मारकर किया जख्मी

बेगूसराय। नाव कोठी थाना क्षेत्र के महेश्वरा गांव निवासी राम अनुज सिंह के पुत्र आनंद मोहन सिंह उम्र लगभग 25 वर्ष को अपराधियों ने आरसीएस  कॉलेज, मंझौल के पास गोली मारकर घायल कर दिया। घटना की सूचना मिलते ही आसपास के लोग घटनास्थल पर जमा हो गये और घायल गोली लगे आनंद मोहन सिंह को इलाज के लिए बेगूसराय निजी क्लिनिक में भेजा गया। उसकी हालत फिलहाल गंभीर बनी है। डॉक्टर की टीम उसे बचाने में लगी हुई है। घटना के कारणो का कोई अता पता नहीं चला है।

यह भी पढ़ेंः गोपालगंज की रीता देवी ने मछली पालन से बदली अपनी किस्मत

- Advertisement -