सूरत में गया के अमरजीत की मौत सड़क दुर्घटना में हुईः उपमुख्यमंत्री

0
116
राजभवन में उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने अपनी सद्यः प्रकाशित पुस्तक- लालू लीला की प्रति राज्यपाल श्री लालजी टंडन को भेंट की

पटना। दादीजी मंदिर सेवा समिति के सभागार में आयोजित अग्रसेन जयंती समारोह को सम्बोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और सूरत के सांसद आर.आर. पाटिल से टेलीफोन पर हुई बातचीत के अनुसार सूरत में बिहार के अमरजीत नामक युवक की मौत सड़क दुर्घटना में हुई है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को क्षेत्रीयता व सामाजिक विद्वेष फैलाने वाले अल्पेश ठाकोर जैसे लोगों पर नियंत्रण रखना चाहिए। मीडिया से सामाजिक वैमनस्यता फैलाने वाली खबरों के प्रकाशन-प्रसारण में संयम बरतने और सोशल मीडिया के जरिए फैलाई जा रही फर्जी खबरों से सावधान रहने की उन्होंने अपील की।

श्री मोदी ने कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री व सांसद के अनुसार घायलावस्था में सड़क पर पड़े अमरजीत को गरबा देख कर लौट रहे सूरत के ही कुछ लोगों ने अस्पताल पहुंचाया। अमरजीत जहां गिरा पड़ा था, उससे करीब 10 फीट की दूर पर उसकी मोटरसाइकिल भी पड़ी हुई थी। पोस्टमार्टम की प्रारंभिक रिपोर्ट में दुर्घटना से मौत की पुष्टि हुई है।

- Advertisement -

भारत के नागरिकों को देश के किसी भी हिस्से में जाकर रोजी-रोटी कमाने का पूरा हक है। बिहार व पूर्वांचल के लोग अगर गुजरात, पंजाब नहीं जाएं तो वहां के खेत सूख और कल-कारखाने बंद हो जायेंगे। गुजरात में रहने वाले बिहारी पलायन नहीं करें, अगर आ गए हैं तो त्योहार के बाद पुनः जाएं और वहीं रहें। वहां की सरकार ने पुख्ता सुरक्षा का आश्वासन दिया है। 5-6 दिनों से वहां किसी प्रकार की कोई अप्रिय घटना नहीं घटी है।

क्षेत्रीयता व सामाजिक विद्वेष भड़काने वाली खबरों के प्रकाशन-प्रसारण में मीडिया खासकर इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों को संयम व सतर्कता बरतने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के सांसद रमेश बिधूड़ी के खंडन के बवजूद उनके नाम से सोशल मीडिया पर फर्जी खबर पोस्ट कर अफवाह फैलाई जा रही है। आम लोगों से सोशल मीडिया पर पोस्ट की जा रही भ्रामक व फर्जी सूचनाओं से सचेत रहने की अपील की।

सुशील मोदी के ट्वीट

  • जो लोग बेनामी सम्पत्ति के मामले में चार्जशीटेड होने के बाद जमानत पर हैं और 29 साल की उम्र में 52 से ज्यादा सम्पत्तियों के मालिक होने के बावजूद सरकारी बंगला छोड़ने के हाईकोर्ट के आदेश का पालन करने को तैयार नहीं, वे किस मुंह से न्याय यात्रा निकालने वाले हैं? राजद को न्याय नहीं, आत्मशुद्धि यात्रा निकालनी चाहिए। (तेजस्वी को इंगित करते हुए)
  • कांग्रेस ने समाजवाद का नाटक करने के लिए देश की अर्थव्यवस्था पर घाटे में चलने वाले और पेशेवर स्पर्धा में पिछड़े जिन सरकारी उपक्रमों का बोझ बढाया, उनमें वह हिंदुस्तान एरोनाटिक्स (HAL) भी है, जो वायुसेना को समय पर लड़ाकू विमानों की आपूर्ति नहीं कर पाया। राहुल गांधी बतायें कि HAL पहले से मिले ठेक में समय पर आपूर्ति क्यों नहीं कर पाया? सुखोई- 30 को सौंपने में 3 साल, जगुआर में 6 साल, तेजस विमान देने में 5 साल और मिराज- 2000 सौंपने में 2 साल की देरी क्यों हो रही है? जो कंपनी चार लड़ाकू विमान समय पर नहीं दे पायी, उसके भरोसे रहने की वकालत कर कांग्रेस देश को 1962 जैसी दयनीय दशा में रखना चाहती है।

यह भी पढ़ेंः बिहार में सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने वाले बख्शे नहीं जाएंगे

- Advertisement -