सभी बेघरों को घर देने के लिए प्रतिबद्ध है बिहार सरकारः श्रवण कुमार

0
146

बेगूसरा। बिहार सरकार के  ग्रामीण विकास एवं संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने सोमवार को  बेगूसराय के  सर्किट हाउस में मीडिया के साथ बातचीत के दौरान कहा कि हर घर तक विकास योजनाओं का लाभ पहुंचा देने पर ही बिहार आगे बढ़ सकेगा।नजब बिहार आगे बढ़ेगा, तभी हमारा देश आगे बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि वास स्थल क्रय सहायता योजना व मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना के अनुसार इस वर्ग में वैसे परिवारों को 60 हजार रुपये की मदद वास भूमि खरीदने के लिए सरकार द्वारा दी जाएगी, जिनका चयन आवास के लिए हुआ है और उनके पास भूमि नहीं है। उन्हें 3 महीने के भीतर जमीन खरीदनी है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा 1996 के पहले क्लस्टर में बने जर्जर हो चुके इंदिरा आवास के फिर से निर्माण के लिए सरकार संबंधित परिवार को 1.20 लाख रुपए उपलब्ध कराएगी। मंत्री ने कहा कि बेगूसराय में अब भी लगभग 70 हजार गरीब लोग बेघर हैं। सरकार का लक्ष्य है हर आवास विहीन परिवार को घर उपलब्ध कराना।

जिलाधिकारी द्वारा जिले को ओडीएफ घोषित करने को लेकर जगह-जगह कार्यक्रम कर इसकी घोषणा करने के संबंध में पूछने पर मंत्री ने जिलाधिकारी राहुल कुमार का बचाव करते हुए कहा कि उनके द्वारा इस तरह की बातें नहीं कही गई होंगी। वह  सिर्फ यही बोले होंगे कि जिला अभी ओडीएफ घोषित होने के कगार पर है। बेगूसराय जिला को शीघ्र ओडीएफ घोषित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि बिहार में अभी तक मात्र दो ही जिलों को  ओडीएफ घोषित किया गया है। इनमें सीतामढ़ी और शिवहर जिला हैं। फिलहाल  बिहार के ऐसे 7 से 8 जिले ओडीएफ घोषित होने के कगार पर हैं।

- Advertisement -

मीडिया द्वारा यह पूछा गया कि हाल में शौच करने के लिए  सुबह में लोटा लेकर खेत में जाते हुए देखकर 7 से 8 लोगों को  जिले के एक पदाधिकारी द्वारा पकड़ा गया था। इसका वीडियो  किसी के द्वारा बनाकर वायरल करने पर जिला में कई दिनों से काफी बवाल हुआ। उस  पदाधिकारी के द्वारा सभी लोगों को न सिर्फ कान पकड़ कर उठक-बैठक कराया गया था, बल्कि एक व्यक्ति के द्वारा  कान पकड़कर उठक-बैठक करने के दौरान हँसने पर उसे पदाधिकारी द्वारा  अभद्र बातें सुनाई गयीं और उन्होंने एक थप्पड़ भी उसकी गाल के ऊपर जड़ दिया था। सभी लोगों से लोटा को प्रणाम कराकर खेत में शौच नहीं करने की शपथ दिलायी गयी थी।

इस पर मंत्री ने कहा  कि किसी भी पदाधिकारी को पीटने का अधिकार बिल्कुल  नहीं है। साथ ही किसी को प्रताड़ित करने का भी अधिकार नहीं है। यह मेरे संज्ञान में अभी आप लोगों के द्वारा दिया गया है। निश्चित रूप से उनके विरुद्ध कठोर कानूनी कार्रवाई जांच के उपरांत होगी।

यह भी पढ़ेंः बिहार में शराब बेच रही पुलिस, पकड़े गये दारोगा और जमादार

श्रवण कुमार से पूछा गया कि बिहार के मजदूरों को दूसरे राज्यों में जैसे आसाम, गुजरात और  महाराष्ट्र में प्रताड़ित करने की घटना बार-बार सुनने को हमें मिलती है। फिलहाल गुजरात में बिहार के गरीब मजदूरों को  वहां  पर प्रताड़ित किया जा रहा है। इस सवाल का जवाब  देते हुए मंत्री ने कहा कि इस घटना की पहले हम घोर निंदा करते हैं। बिहारियों के ऊपर डंडा चलाने वाले लोगों को हम कभी भी बर्दाश्त नहीं करेंगे। साथ ही उन्होंने गुजरात सरकार से यह मांग करते हुए  कहा कि वैसे लोगों को पकड़ कर  गुजरात की सरकार  उन पर कठोर से कठोर कानूनी कार्रवाई करे।

यह भी पढ़ेंः SC/ST और अति पिछड़ा वर्ग के के लिए नीतीश ने किया बड़ा ऐलान

इस मौके पर जदयू के जिलाध्यक्ष भूमि पाल राय, नगर अध्यक्ष जितेंद्र कुमार जीबू, पूर्व विधान पार्षद रुदल राय, जदयू युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष विकास कुशवाहा, पैक्स अध्यक्ष अविनाश वर्मा, महादलित के जिला अध्यक्ष रामनंदन पासवान, मीडिया प्रभारी कुंदन कुमार पिंटू, मुकेश राय, रजनीश झा, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष राम विनय राय समेत दर्जनों जदयू के कार्यकर्ता उपस्थित थे।

यह भी पढ़ेंः नवरात्र पर पहली बार सम्मानित होंगी बेगूसराय की 9 देवियाँ

- Advertisement -