मुंबई से शिवहर पहुंचा युवक कोरोना पॉजिटिव, बिहार में 131 संक्रमित

0
504
मुंबई से शिवहर पहुंचे युवक की कोरोना जांच की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। इसके साथ ही बिहार में कोरोना संक्रमित 131 हो गये हैं।
मुंबई से शिवहर पहुंचे युवक की कोरोना जांच की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। इसके साथ ही बिहार में कोरोना संक्रमित 131 हो गये हैं।

शिवहर प्रखंड के गढ़वा व सुगिया कटसरी के 2 वार्डों किये गये सील

पटना/ शिवहर। मुंबई से शिवहर पहुंचे युवक की कोरोना जांच की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है। इसके साथ ही बिहार में कोरोना संक्रमित 131 हो गये हैं। शिवहर जिला पदाधिकारी अवनीश कुमार सिंह ने बताया मुंबई से आया युवक मोतिहारी के फेनहारा थाना निवासी है। कोरोना पॉजिटिव युवक को  शिवहर में आइसोलेट किया गया है। हालांकि मुंबई से उसके साथ आए तीन लोगों को रिपोर्ट नेगेटिव आया है।

शिवहर जिला प्रशासन मुंबई से पहुंचे लोगों के संपर्क में आने वाले लोगों की शिनाख्त करने में जुटा है। प्रशासन द्वारा शिवर प्रखंड के गढ़वा एवं सुगिया कटसरी के 2 वार्डों को सील कर दिया गया है। मेडिकल टीम कर जांच में जुटी है। शिवहर जीरो माइल चौक स्थित क्वॉरेंटाइन सेंटर में एसडीपीओ राकेश कुमार के नेतृत्व में कड़ी चौकसी बरती जा रही है। डीएम अवनीश कुमार सिंह, प्रभारी पुलिस अधीक्षक संजय कुमार सिंह द्वारा हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है।

- Advertisement -

आज दिन भर कोरोना पॉजिटिव की खबर को लेकर शिवहर में चर्चा का विषय बनी रही। लोग खबर को जानने को लेकर बेचैन दिखे। गौरतलब हो कि शिवहर जिला में मुंबई से आए पड़ोसी जिला मोतिहारी के फेनहारा थाना अंतर्गत 25 वर्षीय युवक को कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के मामले ने शिवहर जिला को हिला कर रख दिया है। लोग भयभीत भी हैं तथा जागरूक भी।

शिक्षक न्याय मोर्चा के पूर्व जिला सचिव बर्खास्त

शिक्षक न्याय मोर्चा के महासचिव अभय कुमार सिंह ने पत्र जारी कर कहां है कि पूर्व जिला सचिव मोहम्मद सरफुद्दीन को बर्खास्त कर दिया गया है। उन्होंने पत्र जारी कर मोहम्मद सरफुद्दीन पूर्व जिला सचिव को सूचित किया है कि शिक्षक न्याय मोर्चा के संयोजक द्वारा कारण पृच्छा का जवाब नहीं देने के कारण और हड़ताल के नाजुक दौर में निष्क्रियता के कारण तर्कसंगत संघर्ष समन्वय समिति के निर्णय के खिलाफ उक्त कार्यवाही की गई है। शिक्षक न्याय मोर्चा के प्रदेश महासचिव अभय कुमार सिंह ने तत्काल प्रभाव से जिला सचिव पद से बर्खास्त करते हुए निर्देश दिया है कि 1 सप्ताह के अंदर जिला इकाई के समस्त अभिलेखों को जिला संयोजक के समर्पित करते हुए प्रतिवेदन देना सुनिश्चित करें।

यह भी पढ़ेंः भारत में हर साल 29 करोड़ मोबाइल का निर्माण होता है

- Advertisement -