PMCH में कोरोना जांच के लिए भर्ती 2 मरीजों की मौत!

0
477
क्वारंटाइन से कोरोना की बीमारी से बचाव हो सकता है। इससे इतना भय क्यों? यह काला पानी जैसी कोई सजा भी नहीं है। फिर भी इसका कई जगहों पर बेतुका विरोध हो रहा है।
क्वारंटाइन से कोरोना की बीमारी से बचाव हो सकता है। इससे इतना भय क्यों? यह काला पानी जैसी कोई सजा भी नहीं है। फिर भी इसका कई जगहों पर बेतुका विरोध हो रहा है।

पटना। PMCH के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती 2 मरीजों की मौत होने से हड़कंप मच गया है। दोनों को कोरोना संदिग्ध मानकर भर्ती कराया गया था। दोनों के स्वाब के नमूने जांच के लिए भेजे गए हैं। दोनों की जांच रिपोर्ट मिलने के बाद ही उनके शव का पोस्टमार्टम किया जाएगा।

प्राप्त सूचना के मुताबिक पटना के PMCH में बेगूसराय के शाहपुर कमाल के 80 वर्षीय व्यक्ति और मुजफ्फरपुर के 55 वर्षीय व्यक्ति की मौत गुरुवार की दोपहर को हो गई। मुजफफरपुर वाला मरीज बुधवार की सुबह और बेगूसराय वाला मरीज बुधवार की शाम को अस्पताल में भर्ती कराया गया था।  बेगूसराय वाला पहले एम्स में भर्ती हुआ था, फिर वहां से उसे एनएमसीएच में भर्ती कराया गया था। उसके बाद उसे पीएमसीएच में भर्ती किया गया था।

- Advertisement -

बताया जा रहा है कि उसे सांस लेने में परेशानी थी। वह दमा का मरीज था। वहीं, मुजफ्फरपुर से आया मरीज किस बीमारी से पीड़ित था, यह अभी तक पता नहीं चल पाया है। अस्पताल ने अभी आधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नहीं की है। बेगूसराय का मरीज 80 वर्ष का वृद्ध था तो वहीं मुजफ्फरपुर के मरीज की उम्र 55 साल बतायी जाती है। दोनों मरीजों के सैंपल्स की जांच फिलहाल पीएमसीएच में की जा रही है। जानकारी के मुताबिक दोनों के सैंपल्स क्रॉस चेक के लिए पटना के आरएमआरआइ और फिर पुणे भेजे जाएंगे।

यह भी पढ़ेंः पूर्व केंद्रीय मंत्री मतंग सिंह ने दिया आइसोलेशन वार्ड का आफर

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री के वीडियो कांफ्रेंसिंग में दिन में ही बताया था कि आज तक बिहार में 24 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं और 1 ही व्यक्ति की मृत्यु हुई है। 2 लोग कोरोना वायरस से रिकवर भी हुए हैं। बिहार में 1 व्यक्ति की जो मौत कोरोना वायरस से हुई थी, उनकी मृत्यु के बाद कोरोना वायरस की रिपोर्ट आयी। इसके कारण कई लोगों में ये स्प्रेड हो गया। मृतक के घर और अस्पताल से संपर्क में आए 11 लोग कोरोना वायरस से प्रभावित हो गए। इस तरह 24 में 12 कोरोना वायरस के मामले एक व्यक्ति के चलते फैल गया।

यह भी पढ़ेंः एचआरडी मिनिस्ट्री का बड़ा फैसला, 11वीं तक के बच्चे होंगे प्रमोट

- Advertisement -