भाजपा ने गिनायीं साल 2018 की ऐतिहासिक उपलब्धियां

0
135
बिहार भाजपा के उपाध्यक्ष व पूर्व विधायक राजीव रंजन
बिहार भाजपा के उपाध्यक्ष व पूर्व विधायक राजीव रंजन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश ने दुनिया में परचम लहरायाः राजीव रंजन 

पटना। सभी प्रदेश वासियों को नववर्ष की शुभकामनाएं देते हुए प्रदेश भाजपा प्रवक्ता सह पूर्व विधायक राजीव रंजन ने साल 2018 में देश द्वारा हासिल की गयी उपलब्धियों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि प्रधानमन्त्री मोदी जी के सत्ता में आने के बाद से ही विभिन्न क्षेत्रों में देश की उपलब्धियों से दुनिया में भारत का नाम रोशन होता रहा है। वर्ष 2018 में भी यह सिलसिला जारी रहा। इसी वर्ष देश के गरीब गुरबों को दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य सुरक्षा आयुष्मान भारत मिली।

उन्होंने कहा कि 2018 में ऐसी कई उपलब्धियां रहीं, जो पहली बार भारत को हासिल हुईं और जिन्होंने हर भारतवासी को दुनिया में गर्व से सिर ऊंचा करने का मौका दिया। याद करें तो इसी साल फ़्रांस को पीछे छोड़ भारत पहली बार दुनिया की छठी सबसे बड़ी आर्थिक ताकत बना। देश में व्यापार से जुड़े कामकाज को आसान बनाने के पीएम मोदी के प्रयासों के कारण भारत ने विश्व बैंक की ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ रैंकिंग में लंबी छलांग लगाते हुए 77 वां स्थान किया है, जो भारत की आज तक की सर्वश्रेष्ठ रैकिंग है।

- Advertisement -

इसी वर्ष देश के गरीब गुरबों को दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य सुरक्षा आयुष्मान भारत मिली। इसी वर्ष देश के प्रथम गृहमंत्री लौहपुरुष को यथोचित सम्मान मिला, जब उनकी 143वीं जयंती के मौके पर उनकी दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा ‘स्टैचू ऑफ यूनिटी’ का अनावरण हुआ, जो अमेरिका की ‘स्टैचू ऑफ लिबर्टी’ से भी दोगुनी ऊंची है।

इसी वर्ष अमेरिका ने पहली बार भारत के महत्व को बढ़ाते हुए नाटो और यूरोपीय देशों के बराबर व्यापारिक साझेदार बना दिया, जो कुटनीतिक मोर्चे पर काफी अहम मानी जा रही है। पीएम मोदी की विदेश नीति और दुनिया के देशों से बेहतर संबंध बनाने के प्रयासों के परिणामस्वरूप भारत में पहली बार 60.8 बिलियन डॉलर का प्रत्यक्ष विदेशी निवेश हुआ, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है।

यह भी पढ़ेंः मामा लोगों से भाजों, तो सालों से बहनोई के नाराज होने की वजह

यह भी पढ़ेंः महागठबंधन में सीट बंटवारे पर महामंथन का पहला दौर खत्म

इसके अलावा जनकल्याण के लिए परिश्रम कर रही मोदी सरकार ने इस साल भी जनता के हित में तेज गति से काम करना जारी रखा। देश के सभी 36 राज्य और केन्द्र शासित प्रदेशों में खाद्य सुरक्षा के दायरे को बढ़ा दिया गया, जिससे देश के करीब दो-तिहाई लोगों को खाद्य सुरक्षा मिली। कुल मिला कर केंद्र की प्रतिबद्धता से बीते वर्ष भारत ने अंतरिक्ष से जमीन तक विकास के सभी मानकों पर अपना परचम लहराया, जिस पर आज प्रत्येक भारतवासी को नाज है।

यह भी पढ़ेंः कमल की चाह में ललन पासवान, करेंगे अपने इरादे का खुलासा

यह भी पढ़ेंः बिहार में अनंत सिंह की लालटेन जलाने की साध अधूरी रहेगी

- Advertisement -