समस्तीपुर में विश्वकर्मा नगर और रामबाबू चौक पर कांवरिया शिविर

0
104

डीएसपी, एसडीओ और विधायक भी सेवा शिविर में उपस्थित रहे

समस्तीपुर (प्रमोद प्रभाकर)। सावन में भोलेनाथ पर जलार्पण से भगवान प्रसन्न होते हैं। जल चढ़ाने वालों पर शिव की कृपा बरसती है। ऐसे में मीलों नंगे पांव पैदल चल कर जलार्पण के लिए आये कांवरियों की सेवा करने वालों पर भी भगवान शिव प्रसन्न होकर कृपा बरसाते हैं।

एक माह के इस पवित्र सावन में श्रद्धालु सुल्तानगंज से जल भरकर 105 किलोमीटर पैदल चलकर देवघर पहुंचते हैं और भगवान भोलेनाथ पर जलाभिषेक करने का काम करते हैं। समस्तीपुर थानेश्वर मंदिर में जलाभिषेक के लिए श्रद्धालु झमटिया से जल भर कर चलते हैं। इन श्रद्धालुओं का कष्ट दूर करने के लिए भक्तगण रास्ते में कैम्प लगाकर दवा, गर्म पानी, चाय और खाने का प्रबंध करने का काम करते हैं।

- Advertisement -

बताते चलें कि सुल्तानगंज से देवघर के बीच लाखों बम और डाक बम चलते हैं। काफी कठिनाइयों का सामना करते हुए रास्ते में रुकते हुए तीन से चार दिन में भोलेनाथ के दरबार में पहुंच कर जलाभिषेक कर अपनी  हाजिरी लगाने के अलावा मन की मुराद के लिए कुछ मांगने का काम करते हैं। इन काँवर और डाक बम की सेवा के लिए वर्षों  से समस्तीपुर के श्रद्धालु मनोज काबरा, महेन्द्र केडिया, डा. अरविन्द पोद्दार, युगल किशोर पोद्दार, दीपू बोरा, प्रमोद चौधरी, मनोज मोदी, इंद्रदेव गुप्ता, अटल मोदी, जय प्रकाश अग्रवाल, डब्लू शुक्ला, राजेश अग्रवाल, श्याम सराफ और विकाश शर्मा  सहित सैकड़ों श्रद्धालु  बाबाधाम के रास्ते में स्थित विश्वकर्मा नगर में कैम्प लगाकर बम की सेवा करने का काम करते हैं।

दूसरी तरफ समस्तीपुर शहर के रामबाबू चौक पर नगर अध्यक्ष तारकेश्वरनाथ गुप्ता, पार्षद राहुल कुमार, किशोर, संतोष, विजय, अनस आदि सैकड़ों श्रद्धालु बम की सेवा के लिए दवा वितरण, खाना खिलाने के लिए अंतिम सोमवारी को कैम्प में उपस्थित रहे। विधायक शाहिन, डीएसपी प्रीतीश कुमार और एसडीओ अशोक मंडल ने भी डाकबम सेवा समिति में आकर अपनी उपस्थिति दर्ज करायी।

यह भी पढ़ेंः बकरीद पर विशेष- इस्लाम के लिए सबसे ज्यादा कुर्बानी बकरों ने दी है

- Advertisement -