बिहार में सुखाड़ के बन रहे हालात, नीतीश ने सतर्क किया

0
143

पटना। मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने आज 1 अणे मार्ग स्थित ‘संकल्प’ में सुखाड़ की स्थिति के संबंध में समीक्षा बैठक की। मुख्यमंत्री के समक्ष कृषि विभाग, जल संसाधन विभाग, आपदा प्रबंधन विभाग, ऊर्जा विभाग, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग, स्वास्थ्य विभाग ने संभावित सुखाड़ की स्थिति से निपटने के लिए अपने विभागों के द्वारा की गई तैयारियों के बारे में जानकारी दी। मौसम विज्ञान केन्द्र के अधिकारी ने बताया कि राज्य में 22 जुलाई के बाद वर्षा की संभावना बन रही है।

मुख्यमंत्री ने कृषि विभाग को डीजल अनुदान यथाशीघ्र किसानों तक पहुंचाने की बात कही। अगर वर्षा नहीं हो पाती है तो उस स्थिति में धान की रोपाई के लिये विकल्प के तौर पर आकस्मिक फसल योजना के तहत वैकल्पिक फसल के लिए बीज की व्यवस्था करने के निर्देष दिये। मुख्यमंत्री ने यह जानना चाहा कि ग्राउंड वाटर इरिगेशन की क्या स्थिति है और इसकी समस्या से निपटने को लेकर क्या तैयारियाॅ हैं। लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग को पीने के पानी उपलब्ध कराने के लिए चापाकल के सुचारु संचालन की जिलावार स्थिति को दुरुस्त करने का निर्देश दिया। ऊर्जा विभाग को किसानों की सुविधा के लिए अधिक से अधिक नियमित बिजली उपलब्ध कराने का निर्देष मुख्यमंत्री ने दिया। प्रधान सचिव ऊर्जा ने बताया कि ग्रामीण इलाकों में 20 से 22 घंटे बिजली की आपूर्ति की जा रही है।

- Advertisement -

जल संसाधन विभाग को कैनाल एरिया में जल की उपलब्धता के बारे में सचेत रहने को भी कहा गया। पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग को पशुओं के चारे एवं स्वास्थ्य संबंधी व्यवस्था को लेकर सजग रहने को कहा गया। स्वास्थ्य विभाग को भी स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों से निपटने के लिए हर वक्त तत्पर रहने के निर्देष दिये गये। मुख्यमंत्री ने सभी विभागों को आपस में तालमेल बिठाकर परिस्थितियों से निपटने के लिए तैयार रहने की भी बात कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर जल्द वर्षा नहीं होती है तो किसानों को मिलने वाली आपदा संबंधी सहायता राशि उपलब्ध कराने के लिए तत्पर रहना होगा। उन्होंने कहा कि परिस्थितियों पर नजर रखते हुए किसानों को अधिक से अधिक सुविधा मुहैया कराया जाय।

बैठक में विकास आयुक्त श्री शशि शेखर शर्मा, जल संसाधन विभाग के प्रधान सचिव श्री अरुण कुमार सिंह, कृषि विभाग के प्रधान सचिव श्री सुधीर कुमार, आपदा प्रबंधन

यह भी पढ़ेंः

पीने वालों को पकड़े तो शराब की बुराई बताये पुलिसः नीतीश

चांदन जलाशय परियोजना का नीतीश ने किया मुआयना

 

- Advertisement -