फिल्मी गमशपः रामायण की सीता फिर दिखेंगी सिल्वर स्क्रीन पर

0
570

रामानंद सागर के कालजयी धारावाहिक रामायण की सीता यानी दीपिका चिखलिया फिर से सिल्वर स्क्रीन पर नजर आयेंगी। वह न्यूज़ आई कि हिंदी फ़िल्म ग़ालिब से कम-बैक करने जा रही हैं। यह फ़िल्म अफजल गुरु के बेटे ग़ालिब गुरु के जीवन पर है, जिसमें दीपिका ग़ालिब की मां तबस्सुम का रोल कर रही हैं। ‘ग़ालिब’ के अलावा वह ‘नटसम्राट’ के गुजराती रीमेक में भी नज़र आने वाली हैं।

करीब 32 साल पहले छोटे पर्दे के सीरियल रामायण के प्रसारण के दौरान अपने सीता के किरदार के चलते दीपिका कई घरों में पूजी जाने लगी थीं। दीपिका की ख्वाहिश है कि जैसे सीता का किरदार उनके नाम और पहचान के साथ जुड़ गया है, ठीक ऐसे ही वह चाहती हैं कि कम-से- कम एक और किरदार वो ऐसा निभाये, जिनसे उनकी एक नयी पहचान बने। सीता के अलावा उस किरदार के लिए भी वह याद की जायें।

- Advertisement -

गुजरात के बिज़नेसमैन हेमंत टोपीवाला के साथ शादी करने के बाद उन्होंने एंटरटेमेंट की दुनिया से दूरी बना ली और अपने पति के कॉस्मेटिक्स के कारोबार में उनकी मदद करती रहीं। दीपिका इसी कंपनी की रिसर्च और मार्केटिंग टीम को हेड करती हैं। यह कंपनी श्रृंगार बिंदी और टिप्स एंड टोज नेलपॉलिश बनाती है। दो बेटियों की मां दीपिका रामायण के अलावा टीपू सुल्तान और विक्रम और बैताल जैसे शो में भी नज़र आई थीं। रामायण में अभिनय के समय दीपिका की उम्र महज 16 साल थी। कम उम्र में इतनी लोकप्रियता हासिल करने के बावजूद दीपिका का एक्‍टिंग कैरियर ज्‍यादा नहीं चला, लेकिन, राम के अपने किरदार के लिए अरुण गोविल और सीता के किरदार के लिए दीपिका आज भी याद की जाती हैं।

इतने साल ग्लैमर की दुनिया से दूर रह कर दीपिका बेहद व्यस्त रहीं। शादी और बच्चों के साथ वह खुश थीं। जब उनकी छोटी बेटी दसवीं में थी, तब भी उन्हें एक सीरियल का ऑफर आया, जिसे उन्होंने बड़े प्यार से मना कर दिया, क्योंकि बेटियां उसकी प्राथमिकता रही थीं। जब उन्होंने कमबैक का मन बनाया, तब ऑफर्स भी आने लगे।

दीपिका बड़ोदरा से लोक सभा सदस्य भी रही हैं। आज भी उन्हें जब पार्टी चुनाव प्रचार के लिए बुलाती हैं, तो समय होने पर वो प्रचार करने के लिए ज़रूर जाती हैं।

यह भी पढ़ेंः बिहार के अतीत को संजोने के लिए अभी और बनेंगे संग्रहालय

- Advertisement -