घूंघट में रहने वाली एक अबला ने उठाई तलवार, क्‍यों-जानिए 31 को

0
594

कहते हैं औरत को कभी अबला नहीं समझना चाहिए। क्‍योंकि जब उनकी अंदर की शक्ति जगती है, तो वो संहार तक करने की क्षमता रखती हैं। ऐसा ही कुछ हुआ एक अबला के नारी के साथ, जिसने तलवार उठाई कर जंग का ऐलान कर दिया। हम बात का रहे हैं भोजपुरी अभिनेत्री ख्‍याति सिंह की, जो 31 अगस्‍त को रिलीज हो रही अपनी फिल्‍म ‘बलमुआ तोहरे खातिर’ में तलवार उठाकर ललकारती नजर आयेंगी।

दरअसल सुपर स्‍टार पवन सिंह स्‍टार भोजपुरी फिल्‍म ‘बलमुआ तोहरे खातिर’ 31 अगस्‍त को रिलीज होगी। इसमें ख्‍याति सिंह मुख्‍य किरदार में पवन के अपोजिट हैं।

- Advertisement -

‘बलमुआ तोहरे खातिर’ मूलत: महिला सशक्तीकरण और नारी उत्‍थान पर केंद्रित फिल्‍म है, जिसे दिनेश यादव निर्देशित कर रहे हैं। फिल्‍म को लेकर ख्‍याति सिंह काफी एक्‍साइटेड हैं और क‍हती हैं कि फिल्‍म बेहद अच्‍छी है।  यह 31 अगस्‍त को रिलीज हो रही है, जिसका इंतजार दर्शकों के साथ मैं भी बेसब्री से कर रही हूं। इस फिल्‍म में मेरी भूमिका एक अबला नारी की है, जो क्‍लाइमेक्‍स तक समाज के जुल्‍मोसितम की वजह से सबला बन जाती है। परिस्थितियां ऐसा पैदा हो जाती हैं कि मुझे तलवार उठाना पड़ता है। उन परिस्थितियों को जानने के लिए 31 अगस्‍त तक इंतजार करना होगा।

पवन सिंह के बारे में ख्‍याति सिंह ने कहा कि पवन सिंह मेरे फेवरेट अभिनेता हैं। उनके साथ काम करके खूब मजा आया। मैं आगे भी उनके साथ फिल्‍में करना चाहूंगी। बता दें कि क्रिस्‍प एग्जिम्‍प प्रा. लि. की प्रस्‍तुति ‘बलमुआ तोहरे खातिर’ कमाल की फिल्‍म है, जिसके जरिये समाज में महिला सशक्तीकरण को लेकर एक संदेश जायेगा। फिल्‍म में मुख्य कलाकार हैं सुपर स्‍टार पवन सिंह, ख्‍याति सिंह, संजय पाडेय, अयाज खान, मनोज टाइगर, सीमा सिंह, करण पांडेय, ग्‍लोरी मोहन्ता, सोनिया मिश्रा, विनोद मिश्रा, अनारा गुप्ता और किरण पांडेय।

फिल्‍म ‘बलमुआ तोहरे खातिर’ के खूबसूरत गाने का संगीत दिया है अविनाश झा (घुंघरू) ने और गीत लिखा है आजाद सिंह व प्‍यारे लाल ने। संकलन गोविंद दूबे ने किया है। डीओपी नीटू इकबाल सिंह, लेखक मनोज सिंह टाइगर, कोरियोग्राफी कानू मुखर्जी व रिक्‍की गुप्‍ता का है। एक्‍शन बाजी राव का है।

- Advertisement -