केंद्र के चार वर्षों में आम जनता की आय में हुई बढ़ोतरी: राजीव रंजन 

0
150

पटना। विगत चार वर्षों में देश में प्रतिव्यक्ति आय में बढ़ोतरी होने की बात कहते हुए प्रदेश भाजपा प्रवक्ता सह पूर्व विधायक श्री राजीव रंजन ने इस संबंध में आंकड़े गिनाएं। उन्होंने कहा कि माननीय प्रधानमन्त्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में मौजूदा सरकार ने पिछले चार वर्षों में विकास के अभूतपूर्व काम किए हैं, जिनके फलस्वरूप इन वर्षों में देश की आम जनता की आय में लगातार बढ़ोतरी हुई है।

याद करें तो कांग्रेस के शासनकाल में 2011-12 से लेकर 2014-15 तक देश में प्रतिव्यक्ति औसत आय 67,594 रुपए थी, लेकिन 2014 में प्रधानमन्त्री जी के सत्ता संभालने के बाद स्थितियों में सुधार हुआ, जिसका सीधा असर आम जनता के जीवन पर पड़ा। यह केंद्र के विकास कार्यों का ही नतीजा है कि आज देश की प्रतिव्यक्ति औसत आय बढ़कर 79,882 यानी लगभग 80 हजार रुपये तक पंहुच चुकी है। देश की जनता के आय में हो रही इस वृद्धि का श्रेय केंद्र की 100 से भी अधिक योजनाओं को जाता है, जो सरकार के साफ़ नीयत और सही विकास की वजह से आज आम जनता के पास निर्विरोध पंहुच रही है।

- Advertisement -

समाज के हर तबके को फायदा पंहुचा रही इन योजनाओं के कारण आज देश के उन इलाकों में भी विकास की रौशनी पंहुच रही है, जहां कांग्रेस की सरकारों की उदासीनता से आज तक अँधेरा था। पिछले चार वर्षों में देश में गांव-गांव में सड़के बनी हैं, जिससे परिवहन सुदृढ़ हुआ है। लाखों गांवों में ऑप्टिकल फाइबर के माध्यम से लोगों को हाईस्पीड मुहैया कराया गया। किसानों की आय बढ़ाने की दिशा में सार्थक प्रयास हुए हैं। दशकों से अंधेरें में डूबे हजारों गांवो तथा करोड़ों घरों में बिजली पंहुची है। करोड़ों लोगों को कौशल विकास योजना के तहत नौकरी तथा स्वरोजगार के लिए प्रशिक्षित किया गया। मुद्रा योजना एवं स्टैंड अप इण्डिया जैसी योजनाओं से करोड़ों लोगों को उद्यमिता एवं स्वरोजगार के लिए ऋण मुहैया कराया गया। इसके अलावा मेक इन इण्डिया के तहत स्वदेशी निर्माण को मिले बढ़ावे से आज उद्योग जगत भी नयी ऊंचाईयां छू रहा है। लोगों के आय में हो रही यह वृद्धि, केंद्र के इन्ही प्रयासों का परिणाम है।

यह भी पढ़ेंः केंद्र सरकार पिछड़ी जातियों, महादलितों के प्रति संवेदनशील है : राजीव

श्री रंजन ने आगे कहा कि लोगों की आमदनी को बढ़ते देख सबसे ज्यादा बेचैन आज विपक्ष होगा। उन्हें यह अच्छे पता है कि उनके भ्रष्टाचार और घोटालों से तंग आकर समाज का एक बड़ा तबका पहले ही उनसे दूर हो चुका है और अगर मोदी सरकार के विकास कार्यों से बाकि बचा समाज भी विकसित हो गया तो, वह भी उससे दूर चले जाएंगे।

यह भी पढ़ेंः केंद्र के चार वर्षों में भ्रष्टाचारियों पर निरंतर हुआ वारः राजीव रंजन

 

- Advertisement -