बिहार के नये गवर्नर के रूप में गुरुवार को शपथ लेंगे लालजी टंडन

0
265

पटना। बिहार के नये राज्यपाल लालजी टंडन आज पटना पहुंच गये। वे कल (गुरुवार) बिहार के राज्यपाल के तौर पर शपथ ग्रहण करेंगे। वे विशेष विमान से पटना पहुंचे। हवाई अड्डे पर उनके स्वागत में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी समते अन्य गणमान्य मौजूद थे। बिहार के राज्यपाल रहे सत्यपाल मलिक को अब जम्मू-कश्मीर का राज्यपाल बनाया गया है। उन्हें आज विदा कर दिया गया।

श्री टंडन यूपी में बीजेपी के वरिष्ठ नेता रहे। 1978 से लेकर 1996 तक वे लगातार एमएलसी रहे। फिर वे लखनऊ से विधायक चुने गए। अटल बिहारी वाजपेयी के बाद वे 2009 में लखनऊ से लोकसभा के सांसद बने। भाजपा के सहयोग से बनी मायावती सरकार में वे नगर विकास मंत्री रहे। लालजी टंडन को लोग अटल बिहारी वाजपेयी के सहयोगी के रूप में जानते हैं।

- Advertisement -

राज्यपाल श्री टंडन का पटना एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पुष्प-गुच्छ भेंटकर स्वागत किया। इस मौके पर उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार चैधरी, ऊर्जा मंत्री विजेन्द्र प्रसाद यादव, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पाण्डेय, शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा, कृषि मंत्री प्रेम कुमार, पशुपालन एवं मत्स्य संसाधन मंत्री पशुपति कुमार पारस, मेयर पटना नगर निगम सीता साहू सहित मंत्रिमंडल के कई अन्य मंत्री और नेताओं ने स्वागत किया। वहीं मुख्य सचिव दीपक कुमार, पुलिस महानिदेशक के.एस. द्विवेदी, प्रधान सचिव गृह आमिर सुबहानी, प्रधान सचिव मंत्रिमण्डल समन्वय अरुण कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, प्रमण्डलीय आयुक्त आनंद किशोर, मुख्यमंत्री के सचिव विनय कुमार, विशेष सचिव मुख्यमंत्री सचिवालय अनुपम कुमार, जिलाधिकारी कुमार रवि, वरीय पुलिस अधीक्षक मनु महाराज सहित बिहार सरकार के अन्य वरीय पदाधिकारियों ने भी स्वागत किया।

कामत के निधन पर सीएम शोक जतायाः मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री गुरुदास कामत के निधन पर गहरी शोक संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा कि गुरुदास कामत एक प्रखर वक्ता और शानदार व्यक्तित्व के साथ ही सांगठनिक क्षमता से परिपूर्ण थे। उन्होंने छात्र राजनीति से ही अपना सफर शुरू किया था। वे सदैव लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा हेतु समर्पित रहे। उनका निधन राजनीति एवं सामाजिक जगत के लिये एक अपूरणीय क्षति है। मुख्यमंत्री ने दिवंगत आत्मा की चिर शान्ति तथा उनके परिजनों एवं समर्थकों को दुख की इस घड़ी में धैर्य धारण करने की शक्ति प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है।

यह भी पढ़ेंः वाहन खरीदना हो तो बिहार से बाहर का रुख करें

- Advertisement -