देवघर से बासुकीनाथ धाम को जोड़ने वाली सड़क होगी फोरलेन

0
179

रांची। मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहा कि देवघर से बासुकीनाथ धाम जाने वाली सड़क को फोरलेन किया जाएगा। फोरलेन रोड का निर्माण कार्य वर्ष 2019 श्रावण महीने से पहले पूरा कर लिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने मंगलवार को झारखंड मंत्रालय स्थित सभा कक्ष से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बासुकीनाथ धाम पहुंचे कांवरिया श्रद्धालुओं से सीधी बातचीत की।

देशभर के विभिन्न हिस्सों से पहुंचे कांवरिया श्रद्धालुओं ने मुख्यमंत्री के समक्ष अपने देवघर-बासुकीनाथ धाम यात्रा के अनुभवों को साझा किया। कांवरिया श्रद्धालुओं के द्वारा व्यवस्था से संबंधित कुछ आवश्यक सुझाव भी दिए गए। मुख्यमंत्री ने कांवरिया श्रद्धालुओं द्वारा दिए गए सुझावों का स्वागत करते हुए कहा कि आपके द्वारा व्यवस्था से संबंधित सुधार हेतु प्राप्त सुझावों पर देवघर एवं दुमका जिला प्रशासन आवश्यक कार्रवाई करेगा।

- Advertisement -

मुख्यमंत्री ने कांवरिया श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए कहा कि आने वाले वर्षों में देवघर एवं बासुकीनाथ धाम को राज्य सरकार सांस्कृतिक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करेगी। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देवघर एवं बासुकीनाथ धाम सांस्कृतिक एवं धार्मिक पर्यटन स्थल के रूप में जाना जाए, इस पर सरकार प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले वर्षों में देवघर से बासुकीनाथ धाम पहुंच पथ पर जाम की समस्या ना हो, इस हेतु विशेष यातायात व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाएगी।

उन्होंने कहा कि श्रावण महीने में लाखों श्रद्धालु कांवरिया देवघर से बासुकीनाथ धाम बाबा फौजदारी का दर्शन करने पधारते हैं। भीड़ अधिक होने के कारण थोड़ी-बहुत जाम की समस्या अवश्य होती है। इस पर जल्द सुधार किया जाएगा। रास्ते में कहीं पेयजल की समस्या ना हो, इस पर जिला प्रशासन कार्य कर रहा है। शुद्ध पेयजल कांवरिया श्रद्धालुओं को उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है।

मुख्यमंत्री के समक्ष औरंगाबाद बिहार से आए कांवरिया श्रद्धालु बबलू जी ने कहा कि इस वर्ष की व्यवस्था बहुत ही उच्चस्तरीय तरीके से की गई है। सुरक्षा, साफ सफाई, ठहरने की व्यवस्था का उत्तम प्रबंध किया गया है। गुवाहाटी (असम) से पहुंचे कांवरिया श्रद्धालु वीरेंद्र प्रसाद ने बताया कि हर वर्ष की भांति इस वर्ष की व्यवस्था कांवरिया श्रद्धालुओं के अनुकूल किया गया है, जिससे कांवरिया श्रद्धालुओं को होने वाली परेशानियों में कमी आई है। झारखंड के पलामू जिले से पहुंची महिला कांवरिया श्रद्धालु सुनीता देवी ने मुख्यमंत्री के समक्ष कहा कि गत वर्षो की अपेक्षा इस वर्ष शौचालय, ठहरने का प्रबंध, साफ-सफाई एवं स्वास्थ्य सेवा पर अधिक बल दिया गया है, जिससे कांवरिया श्रद्धालुओं का देवघर यात्रा सफल रहा है।

पलामू जिले से ही पहुंचे महिला कांवरिया श्रद्धालु बिंदु देवी ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा व्यवस्था ऐसी की गई है कि यहां हर बार श्रावण महीने में आने को दिल करता है।

गया बिहार से पहुंचे कांवरिया श्रद्धालु रितिक ने मुख्यमंत्री के समक्ष कहा कि पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष व्यवस्था के स्तर पर जिला प्रशासन द्वारा अच्छे कार्य किए गए हैं। थोड़ी बहुत जाम की समस्या अवश्य हुई है, परंतु व्यवस्था उच्चस्तरीय है। औरंगाबाद बिहार से पहुंचे कांवरिया श्रद्धालु सरोज तिवारी ने बताया कि सुल्तानगंज से देवघर तक सरकार द्वारा निःशुल्क बस सेवा उपलब्ध कराना बहुत ही अच्छी पहल है। मेडिकल सुविधा भी इस वर्ष बहुत ही बढ़िया है। पैर में पड़ने वाले छालों का तुरंत इलाज हो पा रहा है।

मुख्यमंत्री से उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश एवं पश्चिम बंगाल इत्यादि राज्यों से पहुंचे कांवरिया श्रद्धालुओं ने अपने अनुभव साझा किया। साथ ही कहा कि गत वर्षों की भांति इस वर्ष व्यवस्था बहुत ही उच्चस्तरीय रही है। व्यवस्था में लगे कर्मी एक-एक कांवरिया श्रद्धालुओं के पास पहुंचकर उनकी तकलीफों को दूर कर रहे हैं। कांवरिया श्रद्धालुओं के ठहरने के लिए टेंट सिटी का निर्माण बहुत ही अच्छी पहल है। इस वर्ष ठहरने का प्रबंध, बिजली, पंखा, भोजन, पानी, चिकित्सा सुविधा, साफ सफाई इत्यादि कार्य बहुत ही मुस्तैदी से किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री ने कांवरिया श्रद्धालुओं से बात करते हुए कहा कि देवघर एवं दुमका जिला प्रशासन सरकार के साथ समन्वय स्थापित कर उच्चस्तरीय सेवा कांवरिया श्रद्धालुओं को उपलब्ध करा रहा है। देवघर एवं दुमका जिला प्रशासन बधाई के पात्र हैं। आने वाले दिनों में भी इसी तरह प्रशासन अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करता रहेगा। मुख्यमंत्री ने बासुकीनाथ धाम क्षेत्र के लोगों एवं समाजसेवी संस्थाओं को बधाई दी और कहा कि जिस प्रकार लोग कांवरियों की सेवा कर रहे हैं। इससे सिर्फ बासुकीनाथ धाम, देवघर या झारखंड का ही गौरव नहीं बढ़ा है, बल्कि पूरे देश का गौरव बढ़ा है।

यह भी पढ़ेंः झारखंड अब विकास के लिए जाना जाता है, भ्रष्टाचार के लिए नहीं

- Advertisement -