दारू नहीं मिली तो शराबखोरी में बंद कैदी ने दम तोड़ दिया

0
291

छपरा। छपरा मंडल कारा के विचाराधीन कैदी की मौत उपचार के दौरान सदर अस्पताल में हो गई। मृतक परसा  थाना क्षेत्र के परसौना  गांव निवासी रघुनाथ साह का 46 वर्षीय पुत्र चंदन साह बताया जाता है।17 जून को शराब के मामले में गिरफ्तार हुआ था। उसे जेल भेज दिया गया था। जेल में जाने के बाद 18 जून को उसकी तबीयत बिगड़ गई। उसे मंडल अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसके द्वारा लगातार शराब की मांग की जाती रही। बताया जाता है कि उसे शराब की लत थी। शराब शराब नहीं मिलने के कारण उसकी स्थिति बिगड़ती गई। उसे 19 तारीख को सदर अस्पताल पहुंचाया गया, जहां बुधवार की सुबह 5:25 पर उसकी मौत हो गई।  चिकित्सकों ने उसकी मौत का कारण हृदय गति का रुकना बताया है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

बिहार सरकार ने शराबबन्दी लागू करने के बाद प्रत्येक जिला सदर अस्पताल में  नशे की लत को छुड़ाने के लिए 20 बेड के नशा मुक्ति केंद्रों की स्थापना की थी। इसका संचालन भी हो रहा है, लेकिन उसका इस्तेमाल जिला पुलिस या मंडल कारा प्रशासन द्वारा नहीं किया जा रहा है। शराबबंदी को लेकर पुलिस और उत्पाद विभाग नशेड़ियों को गिरफ्तार कर मंडल कारा भेज देता है, लेकिन उन नशेड़ियों को नशा मुक्ति केंद भेज पुनर्वास चक्र से गुजारने की कोई पहल नही होती। रोज  शराब और शराबी पकड़े जा रहे हैं, लेकिन किसी का ध्यान इस तरफ जाता हुआ दिखाई नहीं दे रहा है। सदर अस्पताल अधीक्षक सह मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ शम्भूनाथ सिंह ने बताया कि अगर पुलिस प्रशासन या मंडल कारा संपर्क करता है तो हम उनका स्वागत करते हैं और नशामुक्ति केंद्र की सेवा गिरफ्तार व्यक्ति या कैदी दी जायेगी।

- Advertisement -

एटीएम चुरा रहे दो धरायेः एटीएम बदलकर बैंक उपभोक्ताओं को लूटने वाले गिरोह के सदस्यों ने एटीएम को ही निशाना बनाने का असफल प्रयास किया। पुलिस की मुस्तैदी ने उनके अरमान पर पानी फेर दिया। मामला रिविलगंज थाना इलाके का है । थाने के टेकनिवास बाजार पर स्थित इंडी कैश एटीएम को तोड़ कर उसमें रखे रुपयों को चोरी करने का प्रयास कर रहे दो चोरों को पुलिस ने मौके से  रंगेहाथ दबोच लिया । इस संबंध में सारण के पुलिस कप्तान हरकिशोर राय ने बताया कि मंगलवार को दस बजे रात्रि में टेकनिवास बाजार स्थित इंडी कैश एटीएम में संदिग्ध गतिविधि की सूचना प्राप्त होने पर रिविलगंज थानाध्यक्ष मनोज कुमार सिंह, सअनि रामसागर सिंह , सअनि छविनाथ यादव और सशस्त्र बल को छापेमारी का आदेश दिया गया। तत्काल पुलिस दल ने छापेमारी कर दो लोगों को एटीएम तोड़ उसमें रखे लाखों रुपये को लूटने का प्रयास करते रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया गया। पकड़े गए चोर नगर थाना क्षेत्र के उत्तरी दहियावां निवासी बैजनाथ प्रसाद ओझा का पुत्र निशांत कुमार और मुफस्सिल थाना क्षेत्र के दहियावां टोला निवासी अरुण कुमार पाण्डेय का पुत्र अमित कुमार पाण्डेय हैं। इन लोगों का एक बड़ा गिरोह है, जिसका मुख्य कार्य एटीएम से रुपये निकालने वाले बैंक उपभोक्ताओं के पीछे खड़ा होकर पहले उनका एटीएम पिन देखना और उसके बाद किसी बहाने उनसे उनका एटीएम कार्ड बदल किसी अन्य एटीएम से रुपयों की निकासी करना है। अब इस गिरोह ने एक बार में ही ज्यादा रुपयों पर हाथ साफ करने की नीयत से एटीएम मशीन को ही तोड़ कर बड़ी रकम को चुराने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस की तत्परता से अपराधी कामयाब नहीं हो सके और पकड़ लिए गए। पकड़े गए लोगों के पास से एटीएम मशीन तोड़ने के लिए इस्तेमाल की जा रही लोहे की खंती, पेंचकस और आधा दर्जन एटीएम कार्ड और दो मोबाइल के साथ कुछ लोगों के आधार कार्ड को बरामद किया गया।

 

- Advertisement -