युवा शक्ति ही देश के भविष्य को सही दिशा देगी : राज्यपाल

0
151
एनएसआईटी, बिहटा द्वारा आयोजित कार्यक्रम क्रेस्ट-19 का राज्यपाल ने उद्घाटन किया
  • बड़ा लक्ष्य रखकर सफलता की ओर आगे बढ़ेः अरुण कुमार
  • बच्चे इनोवेट करें, हरसंभव सहयोग मिलेगाः एम.एम सिंह
एनएसआईटी के कार्यक्रम क्रस्ट-19 में उपस्थित इंजीनियरिंग के छात्र
एनएसआईटी के कार्यक्रम क्रस्ट-19 में उपस्थित इंजीनियरिंग के छात्र

बिहटा (पटना)। युवा शक्ति ही देश के भविष्य को सही दिशा देगी।देश व समाज के उत्थान के लिए सभी लोगों को साथ मिलकर आगे बढ़ना होगा। युवा इस देश की ताकत हैं। इसलिए युवाओं को रचनात्मक गतिविधियो के साथ देश के विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान देना होगा। उक्त बातें शुक्रवार को बिहटा के नेताजी सुभास इंजीनियरिंग कॉलेज ऑफ टेनॉलॉजी में आयोजित दो दिवसीय वार्षिकोत्सव क्रस्ट-19 का शुभारम्भ करते हुए बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन ने कहीं।

उन्होंने कहा कि गुणवत्ता न सिर्फ पठन-पाठन तथा शोध में हो, बल्कि विद्यार्थियों के संपूर्ण चरित्र निर्माण में दिखाई देनी चाहिए। देश का भविष्य बनाने वाली युवा शक्ति को अच्छी शिक्षा व अच्छे संस्कार दें। यही युवा शक्ति देश के भविष्य को दिशा देगी। उन्होंने कहा कि भारत के अंदर विविधता में एकता है और यहां की युवा पीढी को महापुरुषों द्वारा दिखाए गए रास्ते पर चलकर राष्ट्र निर्माण में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत चौथी वैश्विक औद्योगिक क्रांति के दौर से गुजर रहा है। देश में 65 प्रतिशत आबादी 35 साल से कम उम्र युवाओं की है, जो बड़ी भूमिका निभा सकते हैं।

- Advertisement -

राज्यपाल ने कहा कि आज भारत तेजी से विकास कर रहा है। सभी क्षेत्रों में प्रगति हो रही है। ऐसे में युवा विद्यार्थियों को राष्ट्र-निर्माण में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका को समझते हुए भारत के पुनरोदय में अपना भरपूर योगदान करना चाहिए। भारत देश चौथी औद्योगिक क्रांति का वाहक बनेगा और इसे नेतृत्व प्रदान करेगा। इस दिशा में युवा इसे चुनौती के रूप में लें, क्योंकि जो इनोवेट करेगा, वही दुनिया पर राज करेगा।

यह भी पढ़ेंः बिहार के गवर्नर ने कहा, बिहार में उच्च शिक्षा में सुधार के प्रयास तेज

वही आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर अरुण कुमार अग्रवाल ने कहा कि देश का भविष्य विज्ञान व तकनीक के विकास पर निर्भर करता है। विद्यार्थियों को चाहिए कि वे देश के विकास के लिए विज्ञान एवं तकनीकी क्षेत्र की बेहतरी के लिए काम करें। आज हर इंसान धन को प्राप्त करने के लिए जी-जान से लगा हुआ है, लेकिन हमारे समाज के युवाओं का लक्ष्य धन प्राप्त करना नहीं होना चाहिए।

यह भी पढ़ेंः तीन साल बाद भारत में सिर्फ 36% बूढ़े रह जाएंगे, 64% होंगे जवान

विद्यार्थी वर्ग को चाहिए कि वे अपना लक्ष्य निर्धारित कर अपना रास्ता तय कर लें कि मुझे किस रास्ते जाना है। समाज का हर युवा आईएएस, आरएएस बने, यह जरूरी नहीं, लेकिन अपना आत्मविश्वास कमजोर नहीं होने दे।

यह भी पढ़ेंः पटना साहिब में कड़ी टक्कर, भाजपा में भितरघात के खतरे

संस्था के महासचिव एम.एम सिंह ने आगत अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि विश्व में बदलाव के चलते विज्ञान व तकनीक में काफी बदलाव हो रहा है। अगर नए आविष्कारों व गुणवत्ता को बनाए रखना है तो विद्यार्थियो को NSIT संस्थान का हर मोर्चे पर सहयोग करना होगा। उन्होंने छात्रों से कहा कि NSIT की डिग्री कोई डिग्री नहीं, बल्कि यह एक ब्रांड है। मेरा सपना है था कि आनेवाला समय में ग्रामीण इलाके के छात्र विदेशों में भी पहचान बनायें। इसी उद्देश्य से इस संस्था का शुभारंभ किया गया था। छात्र-छात्राएं इनोवेट करें, उसमें हर सहयोग करने के लिए संस्थान कृतसंकल्पित है। उन्होंने कहा कि संस्था का एक मेडिकल कॉलेज भी बन कर तैयार हो गया है। इसी साल मई से ग्रामीण इलाकों के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य-इलाज सुविधा कम दर पर उपलब्ध हो जाएगी।

यह भी पढ़ेंः बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन ने दिव्यांग बच्चों संग मनाया बर्थडे

राज्यपाल ने एकेडमिक टॉपर बी.टेक में पूजा भारती, राजीव रंजन तथा डिप्लोमा से कृति कुमारी, आदित्य कुमार, प्रज्ञा भारती सहित महोत्सव में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले सिविल से अर्थ रेडिस्टेंस विद स्ट्रिंग बेस्ड को प्रथम तो अर्थ रेडिस्टेंस विद स्प्रिंग बेस्ड को दूसरा स्थान प्राप्त करने वाले छात्रों को सम्मानित किया। मैकेनिकल में हाईवे साइड विंड टरवाईन को प्रथम तो हाई अल्टीउड को दूसरा स्थान मिला। ट्रिपल ई में एग्रो रोबोट को प्रथम और फुट स्टेप पावर जेनरेटर को दूसरा स्थान मिला। ईसीई में मैजिक आई प्रथम तो दूसरे स्थान पर स्मार्ट रिसाईक्लिंग डस्टबिन रहा। सीएस से स्मार्ट पार्किंग को प्रथम और स्टॉक मैनेजमेंट सिस्टम को दूसरा मिला। डिबेट में विजया लक्ष्मी को प्रथम, राजीव रंजन को दूसरा स्थान मिला। क्वीज में अंकित कुमार सुमन प्रथम तो राजीव रंजन को दूसरा स्थान प्राप्त हुआ। रोबॉवार में हर्षित प्रीतम ने बाजी मारी। कार्यक्रम का शुभारंम्भ राष्ट्रीय गीत और संस्था के फाउंडर शिर्डी सांई की प्रतिमा पर पुष्पांजलि कर किया गया और मंच संचालन प्रीति बाला व धन्यवाद ज्ञापन निदेशक डॉ शिवजी सिंह ने किया। इस मौके पर संस्थापक टीएन सिंह, एमपी त्रिपाठी, आदित्य शेखर, पवन सिंह, एपी सिंह, श्रद्धा पंडित आदि प्रमुख थे।

यह भी पढ़ेंः रहिमन पानी राखिए बिन पानी सब सून यानी झारखंड का पलामू

- Advertisement -