प्रशांत किशोर क्या कल से सचमुच बेराजगार हो जाएंगे !

0
378
प्रशांत किशोर क्या कल से सचमुच बेराजगार हो जाएंगे। क्या उनकी कंपनी आईपैड अब चुनावी रणनीति बनाने का अपना काम छोड़ देगी।
प्रशांत किशोर क्या कल से सचमुच बेराजगार हो जाएंगे। क्या उनकी कंपनी आईपैड अब चुनावी रणनीति बनाने का अपना काम छोड़ देगी।
  • डी. कृष्ण राव

कोलकाता। प्रशांत किशोर क्या कल से सचमुच बेराजगार हो जाएंगे। क्या उनकी कंपनी आईपैक अब चुनावी रणनीति बनाने का अपना काम छोड़ देगी। अगर एग्जिट पोल के नतीजे वास्तविकता में बदलते हैं तो ऐसा ही होना चाहिए। इसलिए चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कहा था कि बंगाल विधानसभा के चुनाव में बीजेपी अगर डबल डिजिट क्रास कर जाती है तो वह अपने पेश को छोड़ देंगे। कल बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने हैं। चार इन्य राज्यों के नतीजे भी कल ही घोषित होंगे।

प्रशांत किशोर ने कई राज्यों में चुनावी रणनीतिकार की सफल भूमिका निभायी है। बिहार में तो नीतीश कुमार उनके कामकाज से इतने प्रभावित हुए थे कि उन्हें पार्टी का उपाध्यक्ष तक बना दिया था। हालांकि बाद में दोनों के बीच खटास आयी और अंततः नीतीश कुमार ने उन्हें पिछला दरवाजा दिखा दिया था। साफ शब्दों में कहें तो बड़े बेआबरू होकर वे नीतीश कुमार के कूचे से निकले थे।

- Advertisement -

बंगाल विधानसभा चुनाव में प्रशांत किशोर ने पिछले साल से ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी का कामकाज संभाला था। उन्होंने अपने स्तर से ममता बनर्जी की छवि दुरुस्त करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी, लेकिन इसका खामियाजा भी पार्टी को भोगना पड़ा। टीएमसी से बड़े पैमाने पर टूट की वजह प्रशांत किशोर माने गये। आरोप था कि बाहरी व्यक्ति टीएमसी की गतिविधियों में हस्तक्षेप कर रहा है और ममता बनर्जी आंख मूंद कर उसकी बातें मान रही हैं।

बताते हैं कि बाद में ममता बनर्जी भी प्रशांत किशोर से नाराज हो गयी थीं। सूत्र तो यह भी बताते हैं कि प्रशांत किशोर अब तक कूच कर गये होते, लेकिन बड़ी रकम टीएमसी पर बकाया है। उन्हें एग्जिट पोल और अपने दावे पर भरोसा है कि ममता फिर सत्ता में आएंगी और उनका बकाया भी मिल जाएगा। वैसे भी चुनाव परिणाम ममता बनर्जी के पक्ष में जाये या उनके खिलाफ, कांट्रैक्ट के मुताबिक उनकी सेवा बंगाल से अब समाप्त हो जाएगी। अगर काम छोड़ने के अपने वादे पर वह कायम रहे और बीजेपी को डबल डिजिट से ज्यादा सीटें मिलीं तो उन्हें नैतिक रूप से बेरोजगार हो जाना पड़ेगा।

यह भी पढ़ेंः प्रशांत किशोर जदयू में शामिल, एनडीए को मजबूत करेंगे(Opens in a new browser tab) 

- Advertisement -