हार की हताशा में ऊटपटांग बयानबाजी कर रहे हैं तेजस्वी

0
101
बिहार भाजपा के उपाध्यक्ष व पूर्व विधायक राजीव रंजन
बिहार भाजपा के उपाध्यक्ष व पूर्व विधायक राजीव रंजन

भाजपा प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा- केवल नेता पुत्र होना ही योग्यता नही

पटना। हार की हताशा में ऊटपटांग बयानबाजी कर रहे हैं तेजस्वी। भाजपा प्रवक्ता राजीव रंजन ने तेजस्वी के बारे में कहा कि नेता पुत्र होना ही नेता बनने की योग्यता नहीं। तेजस्वी यादव पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि केवल नेता पुत्र होने की राजनीतिक योग्यता रखने वाले तेजस्वी जी लोकसभा चुनाव में अपनी संभावित हार देख अब पूरी तरह बदहवास हो गए हैं। कल पिछड़े समाज को गालियां देने के बाद अब उन्होंने पिछड़े समाज से आने वाले प्रधानमन्त्री मोदी को अपमानित करने की कोशिश की।

यह भी पढ़ेंः माया-मुलायम ने 25 साल बाद मंच साझा किया, मांगे वोट

- Advertisement -

तेजस्वी जी जिस परिवेश से आते हैं, उसके कारण उनसे सही आचरण की उम्मीद तो किसी को नही थी, लेकिन युवा होने के नाते लोगों को लगा था कि शायद अब वह राजद की सामंतवादी, भ्रष्टाचारी और जातिवादी राजनीति में कहीं कुछ परिवर्तन लाएं, लेकिन लगातार अपमानजनक बयानों और शाही रवैए के कारण अब लोग समझ चुके हैं कि समाज तोड़ने वाली राजनीति में यह लालू जी से भी दो कदम आगे जाने वाले हैं। इनमें इतनी भी समझ नही बची कि जिस व्यक्ति को पिछड़ा होने का सर्टिफिकेट देने की कोशिश कर रहे हैं, वह प्रधानमन्त्री मोदी आज देश के करोड़ों पिछड़े वर्ग के लोगों के लिए गौरव का प्रतीक हैं।

यह भी पढ़ेंः पिछड़ों की पालिटिक्स करने वाले कन्हैया के खैरख्वाह क्यों?

तेजस्वी जी यह समझ लें कि बिहार का पिछड़ा समाज उनका राजद नहीं है, जहां हर कोई उनकी पालकी उठाए हुए है। पिछड़ों को अपमानित करने वाले बयानों का खामियाजा उन्हें इसी चुनाव में दिखाई दे जाएगा।

यह भी पढ़ेंः माया-मुलायम ने 25 साल बाद मंच साझा किया, मांगे वोट

श्री रंजन ने कहा कि राजद-कांग्रेस दोनों की राजनीति आज केवल वंशवाद के कारण रसातल में जा रही है। दोनों दलों में सुयोग्य और जनता के लिए काम करने वाले अनुभवी नेता आज कोने में खड़े हैं और दल की कमान राहुल-तेजस्वी जैसे नेताओं के हाथ में दे दी गयी है। इनके नेताओं को यह तक नहीं पता रहता कि वे बोल क्या रहे हैं। दोनों ही बिना कोई काम-धंधा किए अरबपति बने बैठे हैं। दोनों के पास न तो कोई विजन है और न जनता के विकास के लिए कोई प्लान, लेकिन दोनों जल्द से जल्द कुर्सी पकड लेना चाहते हैं। खास बात यह है कि जनता भी दोनों को समझती है, इसीलिए जनता ने दोनों को ही विपक्ष में बैठा रखा है।

यह भी पढ़ेंः युवा शक्ति ही देश के भविष्य को सही दिशा देगी : राज्यपाल

- Advertisement -