तारिक अनवर ने सांसदी छोड़ी और शरद पवार का साथ भी

0
148

पटना। एनसीपी के राष्ट्रीय महासचिव तारिक़ अनवर ने आज शरद पवार का साथ छोड़ दिया। उन्होंने लोकसभा से इस्तीफा दे दिया है। साथ ही एनसीपी से भी इस्तीफा दे दिया है। शरद पवार के साथ वह लंबे समय से बने हुए थे और बिहार से एनसीपी के एकमात्र सांसद थे।

उन्होंने कटिहार में आज एक प्रेस वार्ता आयोजित कर बताया कि  राफेल डील पर एनसीपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार के द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बचाव में कल दिए गए बयान से व्यथित होकर उन्होंने इस्तीफा दिया है। उन्होंने बताया कि उन्होंने पार्टी की  प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने के साथ-साथ कटिहार लोकसभा  सीट से भी इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने आकाशवाणी और दूरदर्शन को बताया कि आगे क्या करना है, इसका निर्णय वह दिल्ली जाने के बाद करेंगे।

- Advertisement -

दूसरी ओर तारीक अनवर के इस्तीफा देने के बाद कटिहार के सभी एनसीपी नेताओं ने इस्तीफा दे दिया है। वहीं चर्चा है कि जल्द ही प्रदेश स्तर के कई नेता भी इस्तीफा देने जा रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः बेगूसराय की बेटी ने BPSC में 59वां रैंक लाकर जिले का बढ़ाया मान

संभावना जताई जा रही है कि जनाब तारिक अनवर जल्द ही कांग्रेस का दामन थामेंगे।। दूरदर्शन और आकाशवाणी से विशेष  बातचीत के क्रम में उन्होंने बताया कि यह दिल्ली में तय होगा, लेकिन इस सम्भावना से उन्होंने इनकार भी नहीं किया।

तारिक अनवर युवा कांग्रेस के संस्थापक अध्यक्ष थे। वह संजय गांधी के काफी करीबी थे। कालांतर में उन्होंने कांग्रेस से मुंह मोड़ लिया और शरद पवार के साथ एनसीपी में शामिल हो गये। बिहार में एनसीपी के वह अकेले सांसद थे। कांग्रेस के अंदरूनी सूत्रों के मुताबिक उनके कांग्रेस में लौटने की बात चल रही थी। अब उन्हें फैसला करना है कि वे किस दल का रुख करते हैं।

यह भी पढ़ेंः अभाविप की बैठक में झारखंड में भी NRC को जरूरी माना गया

- Advertisement -