नीतीश के घर से ही शरद यादव ने किया परिवर्तन का आगाज

0
58

कहा- देश में कानून का राज खत्म हो गया है, गुजरात से उत्तर भारतीयों को भगाया जा रहा है

बिहारशरीफ (नालंदा)। लोकतांत्रिक जनता जल के नेता शरद यादव ने अपनी बार्टी का चुनावी शंखनाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इलाके से किया। यहां स्थानीय सोगरा हाई स्कूल के मैदान में परिवर्तन रैली को संबोधित करते हुए शरद यादव ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री का ख्वाब देखने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दो-चार सीटों के लिए गिड़गिड़ा रहे हैं। स्वामीनाथन कमिटी की बात करने वाले किसानों तथा नौजवानों के साथ धोखा का काम करने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि नालंदा के खेतों में पहले सोना उपजता था। आज-कल पानी के अभाव में धान की लहलहाती फसलें सूख रही हैं। नरेंद्र मोदी का राज्य कहे जाने वाले गुजरात में आज उत्तर भारतीयों को लाठी-डंडे, बम-बारूद से मारपीट कर भगाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रतिवर्ष एक करोड़ युवाओं को रोजगार देने की बात कही थी। अगर उस हिसाब से रोजगार दिया जाता तो 5 करोड़ लोगों को अब तक रोजगार मिल चुका होता। जिससे 50 करोड़ परिवार पलते। 70 करोड़ किसान परिवारों तथा 50 करोड़ युवा परिवारों को धोखा देने का मोदी ने काम किया। देश में कानून समाप्त हो गया है।

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र का मालिक जनता है। मालिक से किया हुआ कोई भी वादा सबसे बड़ा ईमान है। देश में कानून समाप्त हो गया है। जिस देश में कानून समाप्त हो जाए तो वहां संविधान तार-तार हो जाता है। श्री यादव ने कहा कि वोट का अधिकार बहुत कुर्बानी के बाद मिला है। जिसके सहारे हम लोग झूठ के बुनियाद पर टिकी हुई सरकार को उखाड़ फेंकने का काम करें। मुजफ्फरपुर कांड के अलावा अन्य जगहों पर राज्य में कम उम्र की बेटियों के साथ बलात्कार हो जाता है। जिस देश में मां का अपमान होता है। उस देश की मां-बहनें काफी दुखी होती हैं।

- Advertisement -

उन्होंने कहा कि राजद ने बड़ी पार्टी होते हुए भी नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाया। उस समय नीतीश कहते थे कि मिट्टी में मिल जाएंगे, पर भाजपा के साथ नहीं जाएंगे। परंतु भाजपा की गोद में वे चुपके से सरक गए। केंद्र सरकार पर भी उन्होंने कटाक्ष किया। कहा- सीबीआई ने देश के कानून को बर्बाद करने का काम किया है। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने भी चिंता जाहिर की। शरद यादव ने जनता के लिए नीतीश के घर से ही उन्हें साफ करने की हुंकार भरी।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उदय नारायण चैधरी ने कहा कि शरद यादव देश के संविधान को बचाने के लिए घूम-घूम कर लोगों से अपील करने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि राफेल खरीद में चोरी नहीं, डकैती का काम किया गया है। अली अकबर ने कहा कि नालंदा में जिस तरह से स्वागत किया गया, यह बताता है कि परिवर्तन की शुरुआत मुख्यमंत्री के गृह जिले से हो गयी है। अमेरिका के राष्ट्रपति द्वारा  निमंत्रण को ठुकराने पर कहा कि यह पूरे देश में पहली घटना है कि इस तरह से राष्ट्रीय दिवस के दिन अतिथि के लिए निमंत्रण देने के बाद उसे अस्वीकार किया गया।

यह भी पढ़ेंः SC/ST और अति पिछड़ा वर्ग के के लिए नीतीश ने किया बड़ा ऐलान

 

- Advertisement -