सावधान! पटना में बर्डफ्लू ने दी दस्तक, चिड़ियाखाना बंद

0
101

पटना। पटना में बर्डफ्लू की आशंका के मद्देनजर संजय गांधी जैविक उद्यान को एहतियातन बंद कर दिया गया है। वायरस से 16 से 20 दिसम्बर के बीच 6 मोर के मर जाने के बाद एहतियात के तौर पर संजय गांधी जैविक उद्यान्न को तत्काल प्रभाव से बंद कर दिया गया है। क्रिसमस के मौके पर चिड़ियाखाना घूमने आये लोगों को निराश लौटना। नये साल के पहले दिन भी चिड़ियाखाना बंद रहेगा।

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बताया कि संजय गांधी जैविक उद्यान के अंदर जितने पिंजड़े हैं और पूरे क्षेत्र को सेनेटाइज करने के बाद जांचोपरांत पुनः उद्यान्न को खोलने का निर्णय लिया जायेगा। आम दर्शकों से अपील करते हुए श्री मोदी ने कहा कि नए साल के मौके पर अग्रिम टिकट बुक करा चुके दर्शकों के टिकट को विस्तारित करने या रिफंड की व्यवस्था की जायेगी।

- Advertisement -

श्री मोदी ने कहा कि 5 दिन के अंदर मृत पाए गए 6 मोरों का पोस्टमार्टम पटना में कराने के बाद उसके ‘कारकस’ की जांच भोपाल में कराई गई, जिसमें मृत्यु का कारण बर्ड फ्लू का एच-5 एन-1 वायरस पाया गया। इस वायरस का बाघ, जेबरा और तेन्दुआ आदि में भी फैलने का खतरा रहता है। इसलिए तत्काल प्रभाव से उद्यान्न को बंद कर सभी पिंजड़े और पूरे क्षेत्र को फार्मालीन को पानी में मिला कर चूने के साथ छिड़काव करने का निर्णय लिया गया है।

यह भी पढ़ेंः बेटियों के कल्याण के लिए बिहार सरकार ने उठाये क्रांतिकारी कदम

सेनेटाइज करने के बाद पूरे उद्यान की जांच कराई जायेगी और वायरस नहीं पाए जाने के बाद उद्यान को आम लोगों के लिए खोलने का निर्णय लिया जायेगा। उन्होंने क्रिसमस और नए साल के मौके पर होने वाली असुविधा के बाबत दर्शकों से अपील की कि जैसे ही स्थिति सामान्य होगी, उद्यान्न को खोल दिया जायेगा। इस दौरान अग्रिम टिकट बुक करा चुके दर्शक चाहे तो अपना टिकट को विस्तारित या रिफंड करा सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः किसानों पर मेहरबान बिहार सरकार, हर इच्छुक से धान की खरीद

- Advertisement -