हेमंत सोरेन मंत्रिमंडल का कल नहीं होगा विस्तार

0
181
मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राज्यपाल से मिल कर शुक्रवार को हेने वाले मंत्रियों के शपथ ग्रहण समारोह को टानने का आग्रह किया
मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने राज्यपाल से मिल कर शुक्रवार को हेने वाले मंत्रियों के शपथ ग्रहण समारोह को टानने का आग्रह किया

रांची। हेमंत सोरेन मंत्रिमंडल का विस्तार टल गया है। बुरुगुलीकेरा गांव में हुई ग्रामीणों की हत्या के मद्देनजर उन्होंने राज्यपाल से शपथ समारोह टालने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने राज भवन पहुँच कर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से आज अपने चाईबासा भ्रमण की महत्वपूर्ण जानकारी साझा की। मुख्यमंत्री ने राज्यपाल से कहा कि पश्चिमी सिंहभूम जिला अंर्तगत गुदड़ी प्रखंड के गुलीकेरा पंचायत के बुरुगुलीकेरा गांव में हुई 7 ग्रामीणों की निर्मम हत्या से मन व्यथित है। उन्होंने राज्यपाल से अनुरोध किया कि इस घटना से व्यथित मन को देखते हुए कल होने वाले मंत्रियों के शपथ ग्रहण की तारीख को टाल दिया जाय। जानकारी के मुताबिक कांग्रेस कोटे के मंत्रियों का पेंच सुलझ गया है। उसके कोटे से 2 और मंत्री होंगे। अभी तक सीएम समेत 4 मंत्री ही कैबिनेट में थे। कल दोपहर नये मंत्री शपथ लेने वाले थे।

सूत्रों के मुताबिक राजभवन में इसकी तैयारियां चल रही थीं। राजभवन के बिरसा मंडप में शपथ ग्रहण समारोह दिन के एक बजे होने वाला था। राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू आज ही दिल्ली से रांची लौटीं। उनके लौटने पर मुख्यमंत्री ने राज्यपाल से मुलाकात की थी। मंत्रिमंडल गठन के लिए समय निर्धारित करने का उन्होंने राज्यपाल से आग्रह किया था। वे अपने साथ मंत्रियों की सूची भी लेकर गये थे। राज्यपाल बुधवार को दिल्ली गयी थीं और उन्हें आज शाम पीएम से मिलना था, लेकिन वे आज सुबह ही लौट आयीं।

- Advertisement -

यह भी पढ़ेंः हेमंत सोरेन का नया राजनीतिक अवतार, राष्ट्रीय फलक पर उभरता चेहरा

कल शपथ लेने वाले संभावित मंत्रियों में झामुमो कोटे से जिन नामों की चर्चा है, उनमें मिथिलेश ठाकुर, बैद्यनाथ राम, मथुरा महतो, जगन्नाथ महतो, स्टीफन मरांडी, हाजी हुसैन अंसारी, चंपई सोरेन, जोबा मांझी दीपक बिरुवा शामिल हैं। कांग्रेस के संभावित मंत्रियों में बन्ना गुप्ता, दीपिका पांडेय सिंह और बादल पत्रलेख के नाम शुमार हैं। कांग्रेस कोटे से इनमें से किसी दो को ही अभी शपथ दिलायी जायेगी। इसलिए कि फिलहाल दो नामों पर ही सहमति बन पायी है। कांग्रेस पांच मंत्री पद की मांग कर रही थी। दो पहले शपथ ले चुके हैं। झामुमो ने चार पद देने की बात कही थी।

यह भी पढ़ेंः मलिकाइन के पातीः आग लागो, बज्जर परो एह दुनिया में मलिकार

विभागों के बंटवारे का पेंच भी सुलझ गया है, लेकिन अभी तक इसका खुलासा नहीं हो पाया है कि किसे कौन सा विभाग मिलेगा। मंत्रिमंडल विस्तार में देरी को लेकर विपक्ष हेमंत सोरेन सरकार की आलोचना में लगा था। इस पर हेमंत ने कहा था कि विपक्ष को करारी हार का सामना करना पड़ा है। सरकार में शामिल दलों की एकता को देख विपक्ष परेशान है। झामुमो अध्यक्ष शिबू सोरेन ने भी बुधवार को बेरमो में कहा था कि अब कोई पेंच नहीं है, जल्द ही मंत्रिमंडल का विस्तार होगा।

यह भी पढ़ेंः JDU से किनारे किये जा सकते हैं उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर उर्फ PK

- Advertisement -