मुकेश सहनी की ताकत का एहसास पीएम नरेंद्र मोदी को भी हो गया है

0
90
मुजफ्फरपुर में चुनावी सभा को संबोधित करते प्रधानमंत्री
मुजफ्फरपुर में चुनावी सभा को संबोधित करते प्रधानमंत्री

मुजफ्फरपुर। मुकेश सहनी की ताकत का एहसास पीएम नरेंद्र मोदी को भी हो गया है। उन्होंने मछुआरों को लुभाने के लिए मछुआरा मंत्रालय बनाने की घोषणा की है। उनकी इस घोषणा से माना जा रहा है कि मछुआरा कम्युनिटी से आने वाले वीआइपी पार्टी के नेता मुकेश सहनी के महागठबंधन के साथ होने के कारण ही प्रधानमंत्री को आसी घोषणा करनी पड़ी। प्रधानमंत्री ने चुनावी सभा में कहा कि अगली बार उनकी सरकार बनी तो केंद्र में मछुआरा मंत्रालय बनायेंगे।

यह भी पढ़ेंः ससुराल जाने के पहले स्वरोजगार का हुनर सीख रही हैं बेटियां

- Advertisement -

एनडीए की विजय संकल्प रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पिछली बार चुनाव में जिन्हें लोकसभा में विपक्ष के नेता बनने लायक भी सीट नहीं मिली, वे प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहे हैं। इस रैली के मंच से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राहुल गांधी सहित महागठबंधन के सभी नेताओं पर निशाना साधते हुए कहा कि चार चरणों के सम्पन्न हुए चुनाव के बाद महागठबंधन चारों खाने चित हो गया है। अब शेष चरण के चुनाव में यह तय होगा कि महागठबंधन की कितनी बड़ी हार होगी और एनडीए को कितनी बड़ी जीत हासिल होने वाली है।

यह भी पढ़ेंः लड़िका मालिक, बूढ़ दीवान ममिला बिगड़े सांझ विहान

भाजपा जिलाध्यक्ष रामसूरत राय की अध्यक्षता में आयोजित इस रैली में मंच पर पहुंचते ही प्रधानमंत्री ने दोनों हाथ उठाकर उपस्थित जनसमूह का अभिवादन बज्जिका भाषा में- बाबा गरीबनाथ के धरती पर हम अपने सब के अभिनंदन करैत छी- किया। मुजफ्फरपुर के एनडीए प्रत्याशी अजय निषाद के समर्थन में आयोजित विजय संकल्प रैली को संबोधित करते हुए नरेंद्र मोदी ने उपस्थित जनता के साथ ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की भी तारीफ की।

यह भी पढ़ेंः जेट एयरवेज की खस्ताहाली यानी बड़ी मछली का बीमार होना!

उन्होंने कहा कि ये लहर नहीं, ललकार है, एक बार फिर मोदी सरकार है। साथ ही विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि जिन्हें लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष बनने के लायक भी सीट नहीं मिलेगी, वे प्रधानमंत्री बनने का सपना देख रहे हैं। उन्होंने महिलाओं के संबंध में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा कही गई बात की सराहना की और कहा कि यह बिहार में ही देखने को मिलता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि लीची और आम जैसी मिठास स्वीट सिटी में ही सम्भव है। यह कई लोगों के लिए कड़वाहट पैदा करेगा।

यह भी पढ़ेंः एक संपादक ऐसा भी, जिसके लिए पद्म भूषण निरर्थक था

विपक्ष पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि चार चरण के चुनाव सम्पन्न होने के बाद महागठबंधन चारों खाने चित होने वाला है। अब शेष अगले चरण के चुनाव में यह तय होने वाला है कि  महामिलावट की कितनी बड़ी हार होने वाली है और हमारी कितनी बड़ी जीत होने वाली है। नरेंद्र मोदी ने बिहार के लोगों को महा मिलावट से सावधान रहने की अपील करते हुए कहा कि उनकी ताकत बढ़ाने का मतलब है बिहार को पीछे ले जाना। नीतीश कुमार, सुशील मोदी और रामविलास पासवान के अथक प्रयास के कारण बिहार ने अपने पुराने दिनों को पीछे छोड़ा है। एनडीए को जिताने के लिए लोग बेताब हैं। बिहार के लोगों को सावधान रहने की जरूरत है। उनकी ताकत बढ़ाने का मतलब है, लूटपाट के दिन वापस लाना और हत्या, अपहरण, भ्रष्टाचार और गुंडागर्दी को फिर से बिहार में स्थापित करना।

यह भी पढ़ेंः लागेला करेजा काढ़ लेबू- गाने से चांदनी सिंह मचाएंगी धमाल 

प्रधानमंत्री ने विपक्ष पर प्रहार करते हुए कहा कि विरोधी दलों के लोग नहीं चाहते कि केंद्र में मजबूत सरकार बने। ये लोग जाति में देश को बांटकर अपने स्वार्थ सिद्ध करना चाहते हैं। अपने काले कारनामों को छुपाने के लिए झूठ बोल रहे हैं। उन्होंने लोगों से पूछा कि क्या आप केंद्र में कमजोर और मजबूर सरकार बनाना चाहते हैं। जो जेल में हैं, जेल के दरवाजे पर हैं या जो वेल पर हैं, वे लोग केंद्र में एक  मजबूत सरकार को बर्दाश्त नहीं करना चाहते। उन्होंने कहा कि देश का विकास और देश की सुरक्षा तब ही सम्भव है, जब देश में एक मजबूत सरकार होगी।

यह भी पढ़ेंः बाप ने 4 वर्षीय बेटे का गला रेत डाला, फिर अपना भी गला रेता

उन्होंने मजबूत सरकार के लिए उपस्थित जन समूह से एनडीए के सभी प्रत्याशियों को अपना वोट देकर जिताने और केंद्र में एक बार फिर एनडीए की मजबूत सरकार बनाने की अपील की। सभा को केंद्रीय मंत्री व लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. सीपी ठाकुर, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय, बिहार सरकार के मंत्री मंगल पांडेय, सुरेश शर्मा, डॉ. प्रेम कुमार सहित एनडीए के कई अन्य नेताओं ने संबोधित किया।

यह भी पढ़ेंः नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बढ़ा है देश का सम्मान बढ़ी प्रतिष्ठा

- Advertisement -