ममता को मुसलमानों से वोट की अपील महंगी पड़ी, EC का नोटिस

0
475
पश्चिम बंगाल के चीफ सेक्रेट्री अलापन बंद्योपाध्याय के दिल्ली ट्रांसफर के मुद्दे पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी केंद्र से टकराव के मूड में हैं।
पश्चिम बंगाल के चीफ सेक्रेट्री अलापन बंद्योपाध्याय के दिल्ली ट्रांसफर के मुद्दे पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी केंद्र से टकराव के मूड में हैं।
  • डी. कृष्ण राव

कोलकाता। ममता बनर्जी को मुसलमानों से वोट देने की अपील करना महंगा पड़ गया। चुनाव आयोग ने उन्हें नोटिस देकर 48 घंटे में जवाब मांगा है। कल ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तंज कसा था कि ममता जिस तरह मुसलमानों से वोट मांग रही हैं, उसी तरह अगर मैं हिन्दुओं से एकजुट होकर वोट करने का आग्रह करूं तो चुनाव आयोग बीसियों नोटिस मुझे दे चुका होता। अखबारों में संपादकीय लिखे जा चुके होते।

अगले ही दिन चुनाव आयोग ने ममता की अपील पर संज्ञान लिया और उन्हें इस बाबात अगले 48 घंटे में जवाब देने को कहा है। मुसलमान वोट मांगने के आरोप में  चुनाव आयोग की ओर से ममता बनर्जी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। नोटिस में अगले 48 घंटे के अंदर उनसे जवाब मांगा गया है। मालूम है कि पिछले कई दिनों से ममता बनर्जी आईएसएफ नेता अब्बास सिद्दीकी को भाजपा का एजेंट बताते हुए अपनी हर सभा में कहा कि भाजपा से  मोटी रकम लेकर यह दानव  मुसलमानों का वोट बांटना चाह रहा है। मुसलिम समुदाय से अपना वोट बिखरने से बचाने के लिए उन्होंने एकमुश्त टीएमसी को वोट करने की अपील की थी।

- Advertisement -

ममता बनर्जी के इस भाषण के खिलाफ भाजपा की ओर से चुनाव  आयोग में लिखित शिकायत दर्ज करायी गयी थी। ममता बनर्जी ने आज फिर कहा कि चुनाव बाद टीएमसी से कुझ और गद्दार किनारा कर सकते हैं। इसलिए जरूरी है कि टीएमसी को लोग 200 सीटों पर जीत दिलायें। ममता बनर्जी ने अज फिर कहा कि बंगाल पर कब्जा करने के लिए बीजेपी बाहर से लाखों गुंडे लेकर आयी है। ममता अपनी सभा में तीन बार माइक खराब होने पर इस कदर बिदकीं कि माइक वाले से काह कि इसके लिए बीजेपी ने कितने पैसे दिये हैं।

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष की गाड़ी पर हमला

इधर आज उत्तर बंगाल में सभा कर लौटते  समय लगभग 150 तृणमूल समर्थकों ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष की गाड़ी के सामने आकर हमला किया। गाड़ी में व्यापक तोड़फोड़ हुई। इस घटना में दिलीप घोष भी घायल हुए हैं। घटना के विरोध में चुनाव आयोग के दफ्तर के सामने सौमित्र खान के नेतृत्व में धरना-प्रदर्शन हुआ। सौमित्र खान ने ममता की गिरफ्तारी की मांग की है।

- Advertisement -