बिहटा में फुटवियर डिजाइन एंड डेवलपमेंट इन्स्टीच्यूट का उद्घाटन

0
144

पटना। उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बताया कि बिहटा में बिहार सरकार की ओर से निःशुल्क उपलब्ध करायी गई 10 एकड़ जमीन पर 115.95 करोड़ की लागत से निर्मित फुटवियर डिजाइन एंड डेवलपमेंट इन्स्टीच्यूट का औपचारिक उद्घाटन भारत सरकार के नागरिक विमानन, कामर्स व इन्डस्ट्री मंत्री सुरेश  प्रभु ने किया। चेन्नई, कोलकाता, हैदराबाद आदि के बाद यह देश  का 12 वां संस्थान है, जहां फुटवियर डिजाइन एवं प्रोडक्शन  तथा फैशन डिजाइन के 3 और 4 वर्षीय पाठ्यक्रम में प्रतिवर्ष 300 छात्र-छात्राएं प्रशिक्षण ले सकेंगे। कटिंग, फिनिशिग व कम्प्यूटर आधारित डिजाइन के लिए यहां अत्यंत आधुनिक मशीन व उपकरण लगाये गए हैं। यहां भव्य भवन,परिसर के साथ छात्रावास का निर्माण भी कराया गया है।

श्री मोदी ने बताया कि उद्घाटन कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्री ने घोषणा कि की यहां 14 करोड़ की लागत से ‘चर्म उद्योग में उत्कृष्टता व नवाचार’ को बढ़ावा देने के लिए  ‘सेंटर आफ एक्सेलेंस’ की स्थापना की जायेगी। अन्तरराष्ट्रीय स्तर की प्रशिक्षण देने के लिए संस्थान ने इंग्लैंड और इटली के प्रसिद्ध संस्थानों से समझौता किया है।

- Advertisement -

फुटवियर मैन्युफैक्चरिंग व लेदर प्रोडक्ट के अल्पकालीन पाठ्यक्रम के तहत अभी तक यहां एक हजार से ज्यादा लोगों को प्रशिक्षित किया जा चुका है। बिहार में चमड़े की उपलब्धता को देखते हुए संस्थान का उद्देश्य  फुटवियर व अन्य सामानों को तैयार करने के लिए लोगों को मैनेजर, सुपरवाइजर और कर्मकार के तौर पर प्रशिक्षित करना है ताकि चमड़े पर आधारित उद्योग यहां लगाया जा सके।

यह भी पढ़ेंः पिछले 12 वर्षों में बिहार में हुआ चमत्कारिक बदलाव ः सुशील मोदी

सुशील मोदी के ट्वीट

  • चारा घोटाला में सजायाफ्ता लालू प्रसाद की परिवारवादी पार्टी राजद आंतरिक पावर वार, बेनामी सम्पत्ति बचाने के लीगल बैटल और पांच-छह राजनीतिक दोस्तों के बीच सीट-शेयरिंग फाइट के तिहरे मोर्चे पर अस्तित्व बचाने की लड़ाई लड़ रही है। हताशा में तेजप्रताप कभी वृंदावन जाते हैं तो कभी सुप्रीमों के कमरे पर कब्जा कर जनता दरबार लगाने लगते हैं। जो लोग घर में न्याय के साथ शांति नहीं कायम कर सके, वे  12 करोड़ लोगों के बिहार के लिए क्या कर पाएंगे?
  • बिहार की 40 संसदीय सीटों पर जीत सुनिश्चित करने के लिए एनडीए के तीन घटक दलों ने जो सम्मानजनक समझौता किया, उससे समाज के सभी वर्गों को प्रतिनिधित्व मिलेगा। महागठबंधन के छह दलों के  बीच सीट बंटवारे पर संग्राम छिड़ने वाला है, इसलिए उसके नेताओं को अपना घर बचाने की चिंता करनी चाहिए।

यह भी पढ़ेंः दरभंगा में एयरपोर्ट का हो गया भूमि पूजन, जून से शुरू होगी उड़ान

- Advertisement -