भारतीय जनता पार्टी ने बंगाल में हिंसा को लेकर धारा 356 की मांग की

0
407
भारतीय जनता पार्टी ने पश्चिम बंगाल में चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद हो रही हिंसा को लेकर हल्ला बोल दिया है। पार्टी ने बड़े तीन कदम उठाये हैं।
भारतीय जनता पार्टी ने पश्चिम बंगाल में चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद हो रही हिंसा को लेकर हल्ला बोल दिया है। पार्टी ने बड़े तीन कदम उठाये हैं।

कोलकाता। भारतीय जनता पार्टी ने पश्चिम बंगाल में चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद हो रही हिंसा को लेकर हल्ला बोल दिया है। पार्टी ने बड़े तीन कदम उठाये हैं। पहला कदम यह उठाया कि सुप्रीम कोर्ट में में मामला दर्ज करा कर सीबीआई जांच के लिए कोर्ट से आद्रह किया है। दूसरा कदम भाजपा ने बुधवार को देशभर में विरोध प्रदर्शन का फैसला किया है। इसके साथ ही पार्टी ने राष्ट्रपति को एक पत्र भेजकर पश्चिम बंगाल में धारा 356 के इस्तेमाल का आग्रह किया है।

भाजपा का कहना है कि लोकतांत्रिक तरीके से निर्वाचित पश्चिम बंगाल की टीएमसी ने अपने नेता के इशारे पर जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं पर अत्याचार करना शुरू कर दिया है। कहीं रेप तो कहीं सामूहिक रेप की घटनाएं हो रही है। आगजनी, जानलेवा हिंसा, तोड़फोड़ और लूटपाट की घटना को टीएमसी के कार्यकर्ता अंजाम दे रहे हैं।

- Advertisement -

पत्र भारतीय जनता पार्टी के वकील गौरव गोयल की ओर से राष्ट्रपति को भेजा गया है। गौरव गोयल चंडीगढ़ भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता भी हैं। पत्र में यह आग्रह किया गया है की संविधान की धारा 356 का प्रयोग करते हुए तत्काल राष्ट्रपति शासन लगाया जाए।

पत्र के साथ साथ प्रदेश भर में हुई हाल की कुछ घटनाओं की तस्वीरें भी राष्ट्रपति को भेजी गई हैं, जिसमें किसी महिला के साथ सामूहिक बलात्कार को दर्शाया गया है तो कहीं लूट, हत्या और मारपीट की घटना को दिखाया गया है।

भारतीय जनता पार्टी कल देशभर में बंगाल की स्थिति को लेकर विरोध प्रदर्शन करेगी। कोलकाता में इसका नेतृत्व भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा करेंगे। इससे पहले आज दिन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बंगाल की स्थिति पर राज्यपाल जगदीप धनखड़ से फोन पर बात की थी।

जेपी नड्डा भी आज ही कोलकाता पहुंचे और सीधे सोनारपुर चले गए, वहां उन्होंने भाजपा समर्थक एक पीड़ित परिवार से मुलाकात की। कार्यकर्ताओं के लगातार दबाव में भारतीय जनता पार्टी ने इसे मुद्दा बना दिया है। कई जगहों से धारा 356 के इस्तेमाल की मांग उठने लगी है। सोशल मीडिया पर भी इन घटनाओं को लेकर ममता बनर्जी की छीछालेदर हो रही है।

कल राजभवन में ममता बनर्जी मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगी। ममता बनर्जी तीसरी बार बंगाल की मुख्यमंत्री बनने जा रही हैं। अभी तक की सूचना के मुताबिक ममता बनर्जी अकेले शपथ लेंगी। बाद में मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाएगा। राजभवन ने पूर्वाह्न 10:45 बजे शपथ ग्रहण का समय दिया है।

यह भी पढ़ेंः बंगाल विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद हिंसा में 6 मारे गये(Opens in a new browser tab)

- Advertisement -