BASUKINATH में बोले रघुवर- बाबा से मुस्कान मांगने आया हूँ

0
125

बासुकिनाथ। बाबा फौजदारी नाथ इतनी शक्ति दे कि झारखंड की गिनती आने वाले वर्षों में पूरी दुनिया में समृद्ध राज्य में हो। फौजदारी बाबा से राज्य के गरीबों के चेहरे पर मुस्कान मांगने आया हँू। मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने राजकीय श्रावणी मेला महोत्सव बासुकिनाथ धाम 2018 के उद्घाटन समारोह में उक्त बाते कही। वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच माननीय मुख्यमंत्री ने दीप प्रज्जवलित कर मासव्यापी श्रावणी मेला का विधिवत उद्घाटन किया।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने *तीन अरब तेईस करोड़ पचपन लाख उनासी हजार रुपये के कुल 21 योजनाओं का शिलान्यास एवं 15 योजनाओं का उद्घाटन किया।* उन्होंने अनुकम्पा के आधार पर चयनित तृतीय एवं चतुर्थ वर्ग के कर्मियों को नियुक्ति पत्र प्रदान किया। *बासुकिनाथ धाम के मोबाईल एप्प का विमोचन किया साथ ही दुमका एक नजर में पुस्तिका का विमोचन किया।* बीपी कंसट्रक्सन गलैक्सिआ माॅल राँची द्वारा माननीय मुख्यमंत्री रघुवर दास जी को मंदिर न्यास समिति के लिए एम्बुलेंस की चाभी भेट की।

- Advertisement -

इस अवसर पर *मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहा कि बाबा फौजदारी नाथ इतनी शक्ति दे कि आने वाले समय में प्रधानमंत्री के संकल्प से सिद्धि तक के आह्वान को हम पूरा कर सके। 2022 तक न्यू झारखंड का निर्माण कर सके। उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास और जनशक्ति मिलकर हम न्यू झारखंड का निर्माण कर सकते हैं। झारखंड ऐसा राज्य है, जहां देश का 40 प्रतिशत संसाधन उपलब्ध है। प्रकृति की गोद में बसा झारखंड अपार संभावनाओं से भरा प्रदेश है। प्रकृति ने दोनों हाथ से अपने सौंदर्य को झारखंड में बिखेरा है। संथाल परगना के पर्यटन स्थल मसानजोर, मलूटी, बाबा धाम, बासुकीनाथ धाम को अगर हम देखें तो प्रकृति के सौंदर्य को यह सभी पर्यटन स्थल चरितार्थ करता है। झारखंड का हर कोना हमें अपनी और आकर्षित करता है। उन्होंने कहा कि सरकार पर्यटन क्षेत्रों को विकसित करने के लिए लगातार प्रयासरत है। पर्यटन को विकसित कर हम राज्य के युवाओं को रोजगार के नए अवसर प्रदान करेंगे साथ ही विदेशों से भी लोग हमारे पर्यटन स्थल पहुंचेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार विकास कार्य निरंतर कर रही है। विकास में किसी प्रकार की शिथिलता सरकार बर्दाश्त नहीं करेगी। हमें इस राज्य में तेजी से विकास करना है, जिसके लिए सरकार सभी क्षेत्रों में कार्य कर रही है। सरकार ने तय किया है कि स्थानीय महिलाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए पर्यटन स्थल पर पर्यटन हाट बनाया जाएगा। इससे आदिवासी महिलाओं को रोजगार मिलेगा और मुझे खुशी है कि जिला प्रशासन दुमका द्वारा हड़िया बेचने वाली महिलाओं को रोजगार उपलब्ध कराकर इस दिशा में कार्य करना प्रारंभ कर दिया है। महिलाओं को जब तक सशक्त नहीं किया जाता तब तक विकास की कल्पना नहीं की जा सकती है । सरकार ने हमारी माताओं बहनों द्वारा बनाए गए जूते को कस्तूरबा विद्यालय में पढ़ने वाली छात्राओं को उपलब्ध कराने का कार्य किया है। इससे अधिक से अधिक महिलाओं को रोजगार उपलब्ध कराया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री का संकल्प हर किसानों की आय को दोगुनी करने का है। हर गांव में ग्राम उद्योग का जाल बिछाकर ही हम माननीय प्रधानमंत्री के संकल्प को पूरा कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि रोजगार के

लिए यहां के युवाओं का माताओं बहनों का पलायन होता है और हमारी माताओं बहनों को कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। सरकार द्वारा इसे ध्यान में रखते हुए रोजगार के नए अवसर प्रदान करने का कार्य किया जा रहा है। बाबा बासुकीनाथ यहां के युवाओं माताओं बहनों को इतनी शक्ति दे कि उन्हें  रोजगार के लिए कहीं नहीं जाना पड़े। उन्होंने कहा कि संथाल परगना का सर्वांगीण विकास सरकार की प्राथमिकता है।

श्री रघुवर दास ने कहा कि पूरे विश्व में सिल्क का धागा, कोकून की मांग है । दुमका जिला तसर कोकून के उत्पादन में अग्रणी जिलों में शामिल है। यहाँ की महिलाओं को सिल्क धागा निर्माण से जोड़ा भी गया है ताकि वे आर्थिक रूप से सशक्त हो सके। ठीक उसी तरह बांस से निर्मित सामग्रियों की मांग भी बाजारों में है। विदेश में भी लोग बांस से निर्मित सामग्रियों को पसंद करते हैं। महिलाओं को ट्रेंनिग देकर हम उन्हें सशक्त बना सकते हैं। उन्होंने कहा कि विकास ही सभी समस्याओं का निदान है। तेजी से विकास करने के लिए सकारात्मक सोच की जरूरत पड़ती है। सकारात्मक सोच से हम राज्य को एक नई दिशा दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि कर्म ऐसा करें कि जब दुनिया से जाएं तो आप हंसते जाएं पर यहां के लोग आपकी कमी को पूरी जिंदगी तक महसूस करते रहे। इस देश को आजादी दिलाने के लिए बिरसा मुंडा, सिदो कान्हू, चांद भैरव, फूलो झानो ने अपना बलिदान दिया। सरकार उनके बलिदान को व्यर्थ नहीं जाने देगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने श्रावणी मेला 2018 में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए व्यापक व्यवस्था की है लेकिन इसके बावजूद अगर किसी प्रकार की परेशानी आपको महसूस होती हो तो सीधे *सोशल मीडिया के माध्यम से मुझसे जुड़ें आपकी हर समस्याओं को त्वरित गति से दूर किया जाएगा।* उन्होंने कहा कि मेला में आने वाले श्रद्धालु सुगमतापूर्वक जलार्पण कर सकें यहां से जाने के बाद एक अच्छा संदेश लेकर जाएं इसे ध्यान में रखते हुए कार्य करने की जरूरत है।

इस अवसर पर सरकार के मंत्री अमर बाउरी, डॉ लुइस मरांडी,राज पालिवार, सांसद निशिकांत दुबे, पूर्व सांसद अभय कांत प्रसाद ,विधायक बादल पत्रलेख, जीतू चरण राम, जानकी यादव, सरकार के सचिव मनीष रंजन, उपायुक्त मुकेश कुमार जिला प्रशासन के अधिकारी एवम बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थेे।

इससे पहले श्री दास ने देवघर मेले का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा- बाबा बैद्यनाथ राज्य को स्वावलंबी, समृद्धशाली और विकसित बनाने हेतु शक्ति प्रदान करें। इन्हीं कामनाओं के साथ महादेव पर जलार्पण कर श्रावणी मेला का शुभारंभ कर रहा हूं। देवघर के निवासियों यह आपके लिए अवसर है अपनी जिम्मेदारियों व भागीदारी के निर्वहन करने का प्रयास करें। क्योंकि राज्य सरकार का मानना है कि जन भागीदारी के बिना इतना बड़ा आयोजन कतई सफल नहीं होगा। सरकार आपके साथ है आइये कदम से कदम मिला कर चलें और अपने पुनीत कर्तव्य का पालन करें। बाबाधाम आने वाले सभी श्रद्धालुओं और कांवरियों का देवघर अपने भव्य स्वरूप के साथ उनके अभिनंदन को तैयार है। उपरोक्त बातें मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कही। श्री दास आज देवघर स्थित दुम्मा में श्रावणी मेला के शुभारंभ के अवसर पर बोल रहे थे।

श्री रघुवर दास ने कहा देवघर देश समेत पूरे विश्व में सबसे प्रसिद्ध सांस्कृतिक केंद्र के रूप में उभर कर सामने आए इसके लिए लगातार कार्य किया जा रहा है।

यह भी पढ़ेंः

सावन में बाबाधाम जा रहे तो जान लें ये बातें, सरकार दे रही सहूलियतें

- Advertisement -