झारखंड में जहरीली शराब ने ली 5 की जान, दो की स्थिति गंभीर

0
42
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत 3 अप्रैल से महिला जनधन खाताधारी अपने खाते से 500 रुपये की राशि की निकासी कर सकेंगे।
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत 3 अप्रैल से महिला जनधन खाताधारी अपने खाते से 500 रुपये की राशि की निकासी कर सकेंगे।

रांची। झारखंड की राजधानी रांची के गोंदा थाना क्षेत्र में शनिवार रात जहरील शराब पीने से पांच लोगों की मौत हो गयी, जबकि एक महिला समेत दो लोगों की स्थिति गंभीर बनी हुई है। पुलिस को सूचना दिये बिना रविवार सुबह चार शवों की अंत्येष्टि की कोशिश की गयी, लेकिन पुलिस ने सभी शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

शराब से मौत होने की सूचना मिलते ही जिले के उपायुक्त और वरीय पुलिस अधीक्षक मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी ली। उपायुक्त महिमापत रे ने बताया कि जिन लोगों की मौत हुई है, उन सभी का पोस्टमार्टम किया जा रहा है और रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों के बारे में कुछ जानकारी मिल सकती है। उन्होंने बताया कि हातमा और आसपास के क्षेत्रों के सभी घरों में अधिकारियों को स्वास्थ्य जांच करने का निर्देश दिया गया है। उपायुक्त ने बताया कि गंभीर रूप से बीमार दोनों लोगों के इलाज की समुचित व्यवस्था की गयी है और सभी घरों में इलाज किया जा रहा है।

- Advertisement -

एसएसपी अनीश गुप्ता ने बताया कि पांच लोगों की मौत की पुष्टि हुई है, एक-दो लोग बीमार हैं, लेकिन अभी स्पष्ट कारण सामने नहीं आया है, अनुसंधान जारी है, आसपास के लोगों से पूछताछ की जा रही है। उन्होंने बताया कि शनिवार शाम और रविवार सुबह सभी की मौत हो गयी। कुछ लोगों की मौत इलाज के क्रम में अस्पताल में हुई। उपायुक्त के निर्देश और स्थिति की गंभीरता को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग की टीम ने यहां मेडिकल कैंप लगा दिया है और क्षेत्र के सभी लोगों की जांच की जा रही है। स्थानीय निवासी प्रदीप मिर्धा ने बताया कि शनिवार रात शराब पीने के बाद कुछ लोगों ने अचानक तबीयत खराब होने लगी।

शराब पीने वाले सात-आठ लोगों की तबीयत खराब होने और खून की उल्टी होने के बाद उनकी मौत हो गयी। मृतकों की पहचान विजय मिर्धा, पिंटू ठाकुर, पारस ठाकुर, बिल्लू मिर्धा और अशोक मिर्धा के रूप में की गयी। रविवार को सुबह स्थानीय लोगों की मदद से आनन-फानन में सभी के शव का दाह संस्कार कराने की तैयारी की जा रही थी। स्थानीय लोग चार शव लेकर श्मशान घाट पहुंच गये थे, लेकिन मौके पर पहुंची गोंदा थाना की पुलिस ने दाह संस्कार करने से रोक दिया। पुलिस ने सभी शव को अपने कब्जे में ले लिया और सभी को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया। इधर, पांच लोगों की मौत के बाद पूरे शहर में हड़कंप मच गया है।

एक बार फिर जहरीली शराब का मामला सामने आने के बाद पुलिस प्रशासन की कार्यशैली पर भी कई सवाल खड़े हो रहे हैं। पिछले वर्ष रांची में ही जहरीली शराब पीने से कई लोगों की मौत हो गयी थी। इसके बाद नामकुम का कुख्यात शराब कारोबारी प्रहलाद सिंघानिया सहित कई शराब माफिया पुलिस के कब्जे में आ गये थे। काफी दिनों तक जहरीली शराब का धंधा बंद था। जहरीली शराब मामले में फास्ट ट्रैक अदालत द्वारा दोषियों को सजा भी सुनायी गयी है।

यह भी पढ़ेंः 5वीं की छात्रा को प्रिंसिपल व टीचर ने दुष्कर्म कर प्रेग्नेंट बनाया

- Advertisement -