बेगूसराय में लूट व रंगदारी मांगने वाले 4 चढ़े पुलिस के हत्थे

0
79
गिरफ्तार अपराधियों व बरामद हथियार के बारे में मीडिया को जानकारी देते बेगूसराय के एसपी अवकाश कुमार
गिरफ्तार अपराधियों व बरामद हथियार के बारे में मीडिया को जानकारी देते बेगूसराय के एसपी अवकाश कुमार

बेगूसराय। बेगूसराय में लूट व रंगदारी मांगने वाले 4 अपराधकर्मी पुलिस के हत्थे चढ़ गये। एसपी अवकाश कुमार के समक्ष चारों अपराधियों ने अपराध कबूल लिया है। बालू गिट्टी व्यवसायी से 8 लाख रुपए की रंगदारी व जीरो माइल के पास पेट्रोल पंप पर लगे ट्रक चालक से लूट की घटना में अपनी संलिप्ता को स्वीकार किया है। एसपी अवकाश कुमार ने अपने कार्यालय कक्ष में प्रेस कांफ्रेंस कर मीडियाकर्मियों को इसकी जानकारी दी। उनके साथ सदर एसडीपीओ राजन सिन्हा व अन्य पुलिसकर्मी भी मौजूद थे।

यह भी पढ़ेंः ट्रेन के सामने 4 बच्चों के साथ महिला ने लगा दी छलांग

- Advertisement -

एसपी अवकाश कुमार ने बताया कि पिछले वर्ष दिसंबर माह के अंतिम और जनवरी माह के प्रथम सप्ताह में जिले में लूट की कुछ घटनाएं हुई थीं। बालू-गिट्टी के एक व्यवसायी से अज्ञात अपराधियों द्वारा 8 लाख रुपये की रंगदारी मांगी गई थी। इस सिलसिले में रिफाइनरी ओपी थाना में कांड संख्या 10 /19 दर्ज कराया गया था। उसके बाद पुलिस ने बरौनी रिफाइनरी ओपी थाना क्षेत्र के चकवल्ली गांव से महेश साह के पुत्र कौशल कुमार और बरौनी थाना के बीहट गांव से अनिल सिंह के पुत्र हरिओम कुमार को गिरफ्तार किया। उन दोनों से पूछताछ करने के बाद उनके अन्य दो साथियों को भी गिरफ्तार किया गया। इनमें लाखो ओपी थाना के इनियार गांव से महेश सिंह के पुत्र आजाद कुमार और दिलीप कुमार सिंह के पुत्र अतुल सिंह शामिल थे।

यह भी पढ़ेंः एक संपादक ऐसा भी, जिसके लिए पद्म भूषण निरर्थक था

एसपी ने बताया कि इन चारों अपराधियों ने बालू-गिट्टी व्यवसायी चकवल्ली गांव के सुरेंद्र कुमार यादव से पिछले वर्ष दिसंबर माह में मांगी गई 8 लाख रुपये रंगदारी और जीरो माइल के पास एक  पेट्रोल पंप  पर खड़े ट्रक के चालक से लूट की घटना हुई थी। उसका  उद्भेदन हो पाया है।

यह भी पढ़ेंः ससुराल जाने के पहले स्वरोजगार का हुनर सीख रही हैं बेटियां

आजाद कुमार और अतुल सिह की गिरफ्तारी के समय पुलिस ने उनके पास से एक देसी कट्टा और दो जिंदा कारतूस भी बरामद किया है। इसके अलावा चारों अपराधियों के पास से 6 मोबाइल फोन भी बरामद हुए हैं। चारों अपराधियों ने लूट और रंगदारी की घटना में अपनी संलिप्ता को स्वीकार कर लिया है। जो मोटरसाइकिल लूटी गई,  उसके बारे में भी पता किया जा रहा है। इन चारों से आगे पुलिस गहन पूछताछ कर रही है।

यह भी पढ़ेंः नमो-नीतीश की जोड़ी ने बिहार में कर दी विकास की क्रांतिः BJP

एसपी ने बताया कि इनका पहले से कोई आपराधिक इतिहास नहीं रहा है। ये हाल फिलहाल बहुत एक्टिव नहीं थे, लेकिन चारों एक दूसरे के साथ कनेक्टेड थे। चारों से पुलिस पूछताछ कर  उनके अन्य साथियों के बारे में पता लगा रही है। पुलिस यह भी जानने की कोशिश कर रही है कि इन घटनाओं में और कौन-कौन लोग संलिप्त हैं।

यह भी पढ़ेंः बाप ने 4 वर्षीय बेटे का गला रेत डाला, फिर अपना भी गला रेता

छापामारी दल का नेतृत्व एसपी ने किया। इसमें सदर एसडीपीओ राजन सिन्हा, फुलवरिया थानाध्यक्ष विवेक भारती, रिफाइनरी ओपी अध्यक्ष सुजीत कुमार, एफसीआई ओपी अध्यक्ष राजीव रंजन और जिला आसूचना शाखा के पल्लव एवं चीता सशस्त्र बल के जवान शामिल थे।

यह भी पढ़ेंः लागेला करेजा काढ़ लेबू- गाने से चांदनी सिंह मचाएंगी धमाल 

- Advertisement -