झारखंड के 36 खिलाड़ियों की हुई सीधी नियुक्ति, 27 ने लिया लेटर

0
291
झारखंड के 27 खिलाड़ियों को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बुधवार को नियुक्ति पत्र सौंपा। इन खिलाड़ियों को गृह विभाग में आरक्षी के पद पर रखा गया है।
झारखंड के 27 खिलाड़ियों को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बुधवार को नियुक्ति पत्र सौंपा। इन खिलाड़ियों को गृह विभाग में आरक्षी के पद पर रखा गया है।

रांची। झारखंड के 27 खिलाड़ियों को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बुधवार को नियुक्ति पत्र सौंपा। इन खिलाड़ियों को गृह विभाग में आरक्षी के पद पर रखा गया है। गृह विभाग में ये आरक्षी के पद पर तैनात होंगे। 36 खिलाड़ियों को नियुक्ति पत्र दिया जाना था, जिनमें 9 नहीं आ पाये थे। 27 को आज नियुक्ति पत्र सौंप दिया गया। बाकी 9 को नियुक्ति पत्र उनके घर पर भेज दिया जाएगा। झारखंड के कई खिलाड़ियों ने न्यूनतम संसाधनों में भी राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में राज्य और देश का नाम रौशन किया है।

हेमंत सोरेन ने कहा कि झारखंड में खेल और खिलाड़ियों के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है। खिलाड़ियों को सीधी नियुक्ति का तोहफा मिला है। मुख्यमंत्री ने कहा- इससे प्रोत्साहन पाकर अब हर खिलाड़ी को अपनी हुनर को दिखाने का मौका मिलेगा। नियुक्ति पत्र प्राप्त करने वाले 27 खिलाड़ियों में 17 महिलाएं और 10 पुरुष शामिल हैं। उन्होंने कहा कि झारखंड के रग-रग में खेल बसा है। प्रतिभाओं को तराशने की जरूरत है।

- Advertisement -

हेमंत ने कहा कि खिलाड़ियों को सरकार का हिस्सेदार बनाया जाएगा। खेल और खिलाड़ियों को बढ़ावा देने के लिए सरकार लगातार कदम उठा रही है। इस कड़ी में पहले सभी जिलों में खेल पदाधिकारियों की नियुक्ति की गई और आज प्रतिभाशाली तथा राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में देश और राज्य का नाम रोशन करने वाले खिलाड़ियों को नियुक्ति पत्र प्रदान किया गया। इन खिलाड़ियों ने न्यूनतम संसाधनों के बाद भी जो मुकाम हासिल किया है, वह निश्चित रूप से  तारीफ के काबिल है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में खेल लोगों के रग-रग में बसा है। बस उसे तराशने की जरूरत है। इस दिशा में सरकार ने  काम शुरू कर दिया है। आने वाले दिनों में खेलों  और खिलाड़ियों के लिए यह मील का पत्थर साबित होगा। खेल की दुनिया में झारखंड की शुरू से ही अलग पहचान रही है। यहां के  नौजवानों में  प्रतिभा की कोई कमी नहीं है। इस राज्य के कई खिलाड़ियों ने अपने प्रदर्शन का लोहा देश आज दुनिया में मनवाया है।  इन खिलाड़ियों ने अपना, अपने राज्य और देश का नाम रोशन किया है। इन खिलाड़ियों को अब आर्थिक रूप से सशक्त बनाने का का काम सरकार ने शुरू कर दिया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह तो अभी शुरुआत है और आगे निरंतर जारी रहेगा। खिलाड़ियों को तलाशने और तराशने के साथ उन्हें  सरकार का हिस्सेदार बनाया जाएगा। जिन खिलाड़ियों को  आज सीधी नियुक्ति का लाभ नहीं मिला है, उन्हें निराश होने की जरूरत नहीं है। सरकार सभी खेलों और खिलाड़ियों के लिए नई कार्ययोजना के साथ  सामने आएगी। यह तो अभी शुरुआत है। राज्य के सभी खिलाड़ियों को अपने हुनर को दिखाने का मौका मिलेगा।

राज्य में खेलों  के लिए वातावरण बने,  इसके लिए सरकार हरसंभव कदम उठाएगी। इस दिशा में राज्य में विभिन्न खेलों से संबंधित राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा, ताकि यहां के खिलाड़ियों को अपना हुनर दिखाने का मौका मिले और अपने प्रदर्शन के बदले अपनी मुकाम को हासिल कर सके। झारखंड के हर क्षेत्र में असीम संभावनाएं और  क्षमताएं हैं। ऐसे में विकास की गति को तेज कर देश को अग्रणी राज्यों में अपने राज्य को शामिल किया जा सकता है। हमारी सरकार अपने संसाधनों का पूरा सदुपयोग कर राज्य को  हर क्षेत्र में आगे ले जाने की मुहिम में जुट चुकी है। इस सिलसिले में जनहित से जुड़े विषयों को लेकर सरकार  कटिबद्ध है।

कोरोना ने ठप्प कर दी  थी सारी व्यवस्थाएं 

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार के गठन के कुछ ही महीने हुए थे कि वैश्विक महामारी कोरोना की चपेट में पूरी देश और दुनिया आ गयी।  झारखंड भी इससे अछूता नहीं रहा। सारी  व्यवस्थाएं ठप हो गईं। लेकिन इस दौरान  राज्य वासियों में  हिम्मत का परिचय देते हुए  सरकार को पूरा सहयोग किया। यही वजह है कि जनता के सहयोग से कोरोना से निपटने में काफी सफलता हासिल की।  सरकार के बेहतर प्रबंधन का नतीजा है कोरोना के खिलाफ चल रही लड़ाई में झारखंड देश के अग्रणी राज्यों में शामिल है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना का खतरा अभी खत्म नहीं हुआ है। देश के कई राज्यों में यह फिर तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में हमें पूरी तरह सतर्क रहने की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने  कहा कि आज की इन  विषम परिस्थितियों में राज्य के हर क्षेत्र में हर तबके के लोगों  और व्यवस्थाओं को मजबूत करने का प्रयास सरकार कर रही है।

इस मौके पर खेल विभाग की  सचिव श्रीमती पूजा सिंघल ने बताया कि   27 खिलाड़ियों को आज मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने नियुक्ति पत्र प्रदान किया, जबकि एक  खिलाड़ी को पहले ही नियुक्ति पत्र दिया जा चुका है। जिन खिलाड़ियों को नियुक्ति पत्र मिला है, उन्हें गृह विभाग में नौकरी दी गई है।  उन्होंने यह भी बताया कि नियुक्ति पत्र प्राप्त करने वाले 27 खिलाड़ियों में 17 महिला खिलाड़ी और 10 पुरुष खिलाड़ी शामिल हैं। इस मौके पर मुख्य सचिव श्री सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजीव अरुण एक्का, पुलिस महानिदेशक नीरज सिन्हा और पर्यटन, कला-संस्कृति, खेलकूद और युवा कार्य मंत्रालय की सचिव पूजा सिंघल विशेष रूप से उपस्थित थे।

- Advertisement -