सुधांशु शेखर की कविता- कब निकलेगा समाधान प्रिये !

0
19
  • सुधांशु शेखर

इस लॉक डाउन के चंगुल से

कब निकलेगा समाधान प्रिये !

- Advertisement -

तुम लॉक डाउन की बढ़ती डेट

मैं वस्तु का घटता दाम प्रिये !

तुम ग्रीन जोन की मल्लिका हो

मैं रेड जोन का इंसान प्रिये !

तुम 9 बजे की रामायण

मैं 8 बजे का शक्तिमान प्रिये !

कब होगा अपना मेल जोल

यही दिल पूछे हर बार प्रिये !

कुछ दिन रहना घर के अंदर

तभी अपना होगा काम प्रिये !

इस लॉक डाउन के चंगुल से

तभी मिलेगा समाधान प्रिये

- Advertisement -