संथाल में चौपाल व समीक्षा के लिए पहुंचे झारखंड के सीएम

0
48

रघुवर दास ने जिला स्तरीय पदाधिकारियों के साथ विभागों की समीक्षात्मक बैठक

साहेबगंज। मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने जिला स्तरीय पदाधिकारियों के साथ विभागीय समीक्षात्मक बैठक की। मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के क्रम में संस्थागत प्रसव, 108 एम्बुलेंस सेवा की समीक्षा की। सिविल सर्जन ने बताया कि 12 एम्बुलेंस आने थे। इनमें 10 प्राप्त हो चुके हैं। मुख्यमंत्री ने अनुसूचित, जनजाति बहुल गांवों में जनकल्याणकारी योजनाओं का शत प्रतिशत लाभ सुनिश्चित कराने का निदेश दिया। मुख्यमंत्री ने साहेबगंज के उपायुक्त को ज्यादा से ज्यादा महिला स्वयंसहायता समूहों का गठन करने का निदेश दिया। आदिवासी बहुल इलाकों के विकास पर विशेष कार्य योजना बनाने का निदेश दिया।

मुख्यमंत्री ने बिजली विभाग की समीक्षा के क्रम में कार्यपालक अभियंता विद्युत् को निदेश दिया कि साहेबगंज जिले के प्रत्येक घर में बिजली 30 दिसम्बर तक पहुंचाना सुनिश्चित करें। इस हेतु कार्यपालक अभियंता को प्रत्येक सप्ताह मॉनिटरिंग करने का निदेश दिया और ससमय कार्य पूरा करने का निदेश दिया। मुख्यमंत्री ने जैविक कृषि को बढ़ावा देने के लिए आर्गेनिक क्लस्टर की जगह चिन्हित करने का निदेश दिया। उन्होंने कहा कि झारखण्ड में आज किसानों के अंदर उत्साह है। कृषि वैज्ञानिक की सहायता जिले में उपलब्ध कराकर किसानों को उन्नत कृषि के लिए प्रेरित करने का मुख्यमंत्री ने निदेश दिया।

- Advertisement -

मुख्यमंत्री ने जिला कृषि पदाधिकारी को निदेश दिया कि लोगों को कृषि व्यवसाय से जोड़कर स्वरोजगार के लिए प्रेरित करें। साहेबगंज जिले से इजराइल जाने वाले किसान को कृषक नेता के रूप में ग्रामीण क्षेत्र में कृषि के गुर सिखाने हेतु प्रेरित करने को कहा, ताकि उन्नत कृषि तकनीक का प्रसार गांव तक हो सके और संताल परगना के कृषक खेतों में पैदावार बढ़ा सकें। मुख्यमंत्री ने कहा कि अनुसूचित जनजाति के किसान और गरीब किसान को रियायती दर पर कृषि उपकरण उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने कृषि को उद्योग के रूप में बढ़ावा देने का निदेश दिया। श्री दास ने बैठक के दौरान डिस्ट्रिक्ट पोल्ट्री सोसाइटी का गठन करने का भी निदेश दिया। मुर्गी पालन को इससे बढ़ावा मिलेगा। बकरी पालन, डेयरी से भी लोगों को जोड़ने के लिए आवश्यक कार्रवाई करने का निदेश दिया। प्रथम चरण में हर प्रखण्ड में दो-दो स्कीम से शुरुआत करने का निदेश दिया।

श्री दास ने JSLPS के जिला कार्यक्रम प्रबंधक को निदेश दिया कि वह महिलाओं के साथ बैठक कर महिलाओं को दुग्ध उत्पादन से जोड़ने के लिए विशेष प्रयास करें। गांव-गांव में दूध सहकारी महिला समिति बनाने का निदेश दिया। मिल्क फेडरेशन सोसाइटी दूध का क्रय करेगी। स्थानीय लोगों को डेरी इंडस्ट्री बनाने का निदेश दिया। मुख्यमंत्री ने उपायुक्त को लागातार प्रखण्ड एवं अंचल के द्वारा किए जाने वाले कार्यों की समीक्षा करने का निदेश दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी भूमि अधिग्रहण में अगर कोई कर्मचारी नियम के विरुद्ध कार्य करता है तो उसके विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई करें। गरीब रैय्यतों को शीघ्र मुआवजा राशि का भुगतान करें। योजनाओं हेतु भूमि के अधिग्रहण के मामले में कोई भी कर्मचारी और पदाधिकारी कोताही न बरतें। मुख्यमंत्री ने पदाधिकारियों को रिजल्ट ओरिएंटेड कार्य करने का निदेश दिया। विकास की किरण अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे, सभी पदाधिकारी इसे सुनिश्चित करें। सभी पदाधिकारियों को समाज के लिए कार्य करने का निदेश दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि पदाधिकारी शोषित वंचित आदिवासियों के जीवन में बदलाव लाने का कार्य करें। गांव में जाकर पदाधिकारियों को ग्रामीणों की समस्याओं को सुलझाने का निदेश दिया। श्री दास ने वन प्रमण्डल पदाधिकारी को मधुमक्खी पालन, वनोउत्पाद बांस, इत्यादि वैल्यू एडेड पौधों पेड़ों को लगाने के लिए कार्य करने का निदेश दिया। श्री दास ने ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ करने का निदेश दिया। उन्होंने कहा कि यूरोप के देशों में सब्जी की मांग है। सऊदी अरब एवं रेगिस्तानी देशों में भी सब्जी की मांग है।

मुख्यमंत्री ने साहेबगंज जिले के विकास के लिए 1 साल की योजना बनाने का निदेश दिया। बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने गरीब महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए कार्य करने का निदेश दिया। महिलाओं को विशेष रूप से प्रशिक्षित करने का निदेश दिया। महिलाएं कृषि, पशुपालन में बेहतर कार्य कर रही हैं। कौशल विकास के माध्यम से महिलाओं की तरक्की होगी।

 

 

- Advertisement -