लाक डाउन 17 मई तक बढ़ा, स्पेशल ट्रेनों से लौटेंगे बाहर फंसे लोग

0
156
लॉक डाउन- 4 को जारी रखने का फैसला केंद्र सरकार ने किया है। राज्य अपने हिसाब से रेड, आरेंज व ग्रीन जोन का निर्धारण कर सकेंगे।
लॉक डाउन- 4 को जारी रखने का फैसला केंद्र सरकार ने किया है। राज्य अपने हिसाब से रेड, आरेंज व ग्रीन जोन का निर्धारण कर सकेंगे।

दिल्ली। लाक डाउन की मियाद तीसरी बार बढ़ाने का फैसला हुआ है। अब इसे 17 मई तक यानी दो हफ्ते के लिए बढ़ा दिया गया है। कई राज्यों ने हालत में सुधार नहीं होने की वजह से पहले ही मियाद बढ़ाने की घोषणा कर दी थी। इस बीच स्पेशल ट्रेनें चला कर दूसरे राज्यों में फंसे लोगों को उनके राज्य तक वापस पहुंचाने का काम होगा। मंत्रि समूह की बैठक आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के घर पर हुई, जिसमें यह फैसला लिया गया।

लाक डाउन की मियाद 3 मई को खत्म हो रही थी। अब भी ट्रेनें-बसें नहीं चलेंगी। दूसरे राज्यों से अपने लोगों को राज्य बुलाना चाहें तो उनके लिए स्पेशल ट्रेनों का इंतजाम सरकार करेगी। अलबत्ता कुछ शर्तों के साथ कहीं-कहीं दुकानें खुलेंगी। भीड़भाड़ वाली जगहों- शापिंग माल, स्वीमिंग पुल और सिनेमा घर नहीं खुलें। केंद्र सरकार ने प्रवासी मजदूरों, छात्रों और पर्यटकों और इलाज कराने गये लोगों को वापस अपने राज्यों में लौटने की इजाजत दे दी थी। अब तो स्पेशल ट्रेनों की भी घोषणा हो गयी है। झारखंड में पहली मजदूर स्पेशल ट्रेन आज ही रात 11 बजे पहुंचने वाली है।

- Advertisement -

कुछ इलाकों में काम-धाम शुरू करने के लिए तीन तरह के जोन बनाये गये हैं। रेड जोन में अधिक सख्ती रहेगी और सब कुछ बंद रहेगा, जबकि आरेंज जोन में सामान्य सख्ती होगी। वहां पेड टैक्सी चलाने की छूट दी गयी है। अलबत्ता ग्रीन जोन के लोग सामान्य दिनचर्या में रहेंगे। इसके बावजूद बसों के न चलने या ट्रेनें बंद रहने से आवाजाही अभी सामान्य नहीं हो पायेगा।

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक बिहार-झारखंड के तकरीबन 25 लाख लोग राज्य से बाहर हैं। उनको लाने के लिए ट्रेनों का इंतजाम तो हो गया, लेकिन सरकारों को हर आदमी की स्क्रीनिंग और मानीटिरिंग बड़ी चुनौती है। अभी सरकार की योजना है कि स्क्रीनिंग के बाद लोगों को होम या केंद्रों पर 14 दिनों के क्वारंटाइन में रखा जायेगा। रेल, हवाई यात्रा बंद रहेगी। शैक्षणिक संस्थान बंद रहेंगे। माल, जिम और सिनेमा हाल नहीं खुलेंगे। प्रधानमंत्री शनिवार को सुबह 10 बजे राष्ट्र को संबोधित करेंगे।

- Advertisement -