बेमेल विवाह की भेंट चढ़ गया एक युवा IPS सुरेंद्र कुमार दास

0
691

कानपुर। पांच दिन पहले कानपुर के एसपी सुरेंद्र कुमार दास ने आत्महत्या के लिए सल्फास की गोलियां खा ली थीं। चार दिनों तक जीवन-मौत से जद्दोजहद के बाद उसने आखिरकार दम तोड़ दिया। उसने जो सुसाइट नोट लिख छोड़ा था, वह समाज के लिए कई संकेत छोड़ गया है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने युवा एसपी के निधन पर गहरा शोक प्रकट किया है।

यह भी पढ़ेंः एक मंदिर, जहां शिवलिंग पर स्वयं जलाभिषेक करती हैैं मां गंगा

- Advertisement -

अभी तक यही बात सामने आई है कि पारिवारिक कलह के कारण आईपीएस ने सल्फास खा लिया था। इससे पहले बिहार के डीएम ने भी सुसाइड कर लिया था। इन दोनों घटनाओं के पीछे दहेज की मोटी रकम के कारण बेमेल विवाह की बात सामने आई।

यह भी पढ़ेंः हिन्दीभाषियों के हथियार से बंगाल में BJP को सबक सिखायेंगी ममता

दुख इस बात का होता हैं कि जो मां-बाप पालते हैं, वही अपने बेटे की बोली लगाते हैं। उस पर धौंस जमाते हैं कि हमने पाला-पोसा और पढ़ाया-लिखाया। दहेज के कारण बेमेल विवाह समाज का सबसे खतरनाक पक्ष है। हालात इस कदर खराब हो गये हैं कि पैसे से बेटे को बेचने और पैसे वाले बेटियों के बाप मनचाहा दूल्हा खरीदने में बड़प्पन समझने लगे हैं। बिहार के जिस आईएएस ने आत्महत्या की थी, उसके परिवार और लड़की वाले के परिवार की हैसियत में जमीन-आसमान का अंतर था। लड़का सामान्य परिवार से निकल कर प्रशासनिक सेवा में आया था, जबकि लड़की के परिवार वाले काफी संपन्न हैं।

सुरेंद्र ने भी सुसाइट नोट में पारिवारिक कलह की बात ही कही थी। अव्वल तो यह कल्पना ही नहीं की जा सकती कि ऐसे प्रतिभावान लोग भी आत्महत्या जैसी बात सोच सकते हैं। लेकिन सच यही है कि दोनों विवाहों और दोनों की आत्नहत्याओं में बेमेल विवाह की बात ही सामने आयी है।

यह भी पढ़ेंः केंद्र सरकार के चार साल के कार्यकाल में सामाजिक सुरक्षा बढ़ी: राजीव

- Advertisement -