बेगूसराय में जहरीली शराब पीने से चार की मौत

0
135

बेगूसराय। बिहार में पूर्ण शराबबंदी को सरकार राष्ट्रपति के हाथों पुरस्कृत होने वाली है। दूसरी ओर सच्चाई यह है कि लगातार शराबबंदी में शराब पीने से लोगों की मौत भी हो रही है। सरकार भले ही शराबबंदी की सफलता बता कर इतराये और उत्साही बयान दे, लेकिन शराब पीकर हुई मौत सरकार के दावे की पोल खोल कर रख देती है।

ताजा मामला बेगूसराय जिले का है। शराब पीने से चार लोगों की मौत की सूचना है। मरने वालों में जदयू का एक नेता भी है। बेगूसराय के नगर थाना के पोखरिया मोहल्ले में शराब पीने से चार लोगों की मौत हो गयी। मरने वाले चारों दोस्त थे। लोगों का कहना है कि रविवार की रात चार दोस्त स्टेडियम में बैठकर शराब पी रहे थे। मिलावटी शराब पीने की वजह से इन सभी की हालत बिगड़ने लगी। बिगड़ती हालत को देखकर परिजनों ने चोरी छुपके इन लोगों को निजी नर्सिंग होम और स्थानीय डॉक्टरों से दिखवाया, लेकिन इनकी हालत बिगड़ती चली गई और कुछ ही देर में चारों की मौत हो गई।

खबरों के मुताबिक नगर थाना के पोखरिया मोहल्ले का मनोज पासवान अपने दोस्तों के साथ हर रोज शराब पीता था। मनोज अपने साथियों सोनू कुमार, सोनी कुमार और प्रवीण कुमार के साथ मिलकर रविवार को भी मिलावटी शराब पी रहा था। शराब पीकर जैसे ही ये लोग घर पहुंचे, इनकी हालत इतनी बिगड़ने लगी। घंटे भर में ही इन चारों की मौत हो गई।

- Advertisement -

इसके पहले गोपालगंज और राज्य के दूसरे इलाकों में भी जहरीली शराब पीने से मौत की सूचनाएं आती रही हैं। पुलिस इस तरह की घटनाओं पर अंकुश लगाने की कोशिश भी करती रही है, लेकिन कोई फायदा नहीं हो रहा। शराब की बड़ी खेप रोज राज्य के कोने-कोने में पकड़े जाने की सूचनाएं मिलती रही हैं। लाखों लीटर शराब पुलिस ने नष्ट की है। इमरजेंसी में जितने लोग गिरफ्तार हुए थे, उससे कहीं ज्यादा शराबबंदी कानून के तहत लोग जेलों में बंद हैं। फिर भी घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रहीं।

 

 

- Advertisement -