बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह पार्टी में अपनी उपेक्षा से परेशान हैं

0
184
बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह अपनी उपेक्षा से परेशान हैं। कल उनके करीबी दो विधायक ममता से इसलिए मिलने गये, ताकि वह अपनी ताकत का अहसास करा सकें।
बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह अपनी उपेक्षा से परेशान हैं। कल उनके करीबी दो विधायक ममता से इसलिए मिलने गये, ताकि वह अपनी ताकत का अहसास करा सकें।

कोलकाता। बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह अपनी उपेक्षा से परेशान हैं। कल उनके करीबी दो विधायक ममता से इसलिए मिलने गये, ताकि वह अपनी ताकत का अहसास करा सकें।पार्टी बदल कर टीएमसी से बीजेपी में गये विधायक सुनील सिंह और विश्वजीत दास ने सरकारी सुरक्षा वापस कर दी है। कल दोनों विधायकों ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात की थी। उसके बाद अटकलें लगाई जा रही थीं कि दोनों का मन बदल गया है और वे टीएमसी में वापसी कर सकते हैं। कल दोनों विधायकों की ममता से मुलाकात के बाद राज्य सरकार ने आज सुरक्षा मुहैया करायी, लेकिन दोनों ने सुरक्षा गार्ड बैरंग लौटा दिये और कहा कि इसकी जरूरत नहीं।

दरअसल दोनों विधायक बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह के करीबी हैं। सुनील सिंह तो अर्जुन सिंह के रिश्ते में भतीजा बताये जाते हैं। राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि अर्जुन सिंह की वजह से ही दोनों ने पार्टी छोड़ी और बीजेपी में शामिल हुए। अर्जुन सिंह ने दोनों करीबी विधायकों को पार्टी छोड़ने के लिए इसलिए प्रेरित किया था, ताकि बीजेपी में उनकी धौंस बनी रहे।

- Advertisement -

बीजेपी में अर्जुन सिंह की पूछ शुभेंदु अधिकारी के आने के बाद कम हुई है। बीजेपी की कोर कमेटी में भी पार्टी छोड़ कर नये-नये आये शुभेंदु अधिकारी और राजीव बनर्जी को रखा गया, लेकिन अर्जुन सिंह को जगह नहीं मिली। बीजेपी में नये लोगों को ज्वाइन कराने के लिए भी केंद्रीय नेतृत्व ने शुभेंदु अधिकारी को ही अधिकृत किया है। इससे अर्जुन सिंह मन ही मन खफा है। बताया जाता है कि कल दोनों विधायक ममता से मुलाकात करने अर्जुन सिंह के इशारे पर ही गये थे।

ममता ने साफ-साफ कहा था कि अब वक्त नहीं है, जो सोचा है बता दो। राजनीतिक जानकार मानते हैं कि दोनों विधायकों ने नाटकीय तरीके से ममता के सामने हामी भरी होगी, तभी उन्हें सरकारी सुरक्षा आज मुहैया करायी गयी। उनके पार्टी में वापस लौटने का कोई इरादा था ही नहीं। इसी बहाने अर्जुन सिंह बीजेपी को यह संदेश देना चाहते थे कि जो टीएमसी छोड़ कर आये हैं, वे लौट भी सकते हैं।

ममता ने मुर्शिदाबाद के कालना में भरी हुंकार   

इधर ममता बनर्जी ने मुर्शिदाबाद के कालना में एक जनसभा में ललकारते हुए कहा कि जिन्हें पार्टी छोड़ कर जाना है, वे चले जाएं। ये वही लोग हैं, जिनके टिकट पार्टी काटने वाली थी। उन्होंने कहा कि में कमजोर नहीं हूं, मैं रॉयल बंगाल टाइगर हूं। किसी से मैं नहीं डरती। तृणमूल का कोई नेता गलत काम करे तो मुझे बताना, दो थप्पड़ मारूंगी। भाजपा चोरों की पार्टी है। पैसे दे तो ले लेना, मांस-भात खाकर वोट बक्सा पलट देना। ममता ने शुभेंदु अधिकार व राजीव बनर्जी का नाम लिए बिना उन्हें कुपुत्र बताया। उन्होंने कहा- ऐसी दुष्ट गायों से खाली खटाल भली। कालना में मुख्यमंत्री ममता की जनसभा में पूर्व आईपीएस हुमायूं कबीर ने TMC ज्वॉइन कर ली। हाल ही में उन्होंने पुलिस की नौकरी से इस्तीफा दे दिया था।

यह भी पढ़ेंः मान गयीं शताब्दी राय, अभिषेक से मिलने के बाद दिल्ली दौरा टाला(Opens in a new browser tab)

- Advertisement -