बिहार की कुछ ऐसी खबरें, जिन्हें आप जरूर पढ़ना चाहेंगे

0
82
कोइलवर पुल
कोइलवर पुल

कोइलवर पुल का दक्षिणी लेन 25 जुलाई से 43 दिनों के लिए बंद

पटना। बिहार की कुछ ऐसी खबरें, जिन्हें आप जरूर पढ़ना चाहेंगे। ये तमाम खबरें बुधवार की हैं। भोजपुर का कोइलवर पुल 43 दिनों तक बंद रहेगा। आवश्यक मरम्मत कार्य हेतु 25 जुलाई से 6 सितंबर  तक पुल पर आवागमन बंद रहेगा। छोटे वाहनों के आवागमन के लिए कोइलवर पुल का उत्तरी लेन चालू रहेगा। शाहाबाद का लाइफ लाइन कहा जाने वाला कोइलवर पुल के दक्षिणी लेन पर गुरुवार से मरम्मत कार्य चलेगा। इसको लेकर 43 दिनों तक पुल के दक्षिणी लेन पर आवागमन अवरुद्ध रहेगा। उत्तरी लेन से छोटे वाहनों का आवागमन जारी रहेगा। कोइलवर पुल के दक्षिणी लेन पर वाहनों का  आवागमन अवरुद्ध होने पर यातायात व्यवस्था तथा विद्युत व्यवस्था सुचारू रखने को लेकर गाइडलाइंस जारी किए गए हैं।

जानकारी के अनुसार पुल के उत्तरी लेन से केवल छोटे वाहनों का परिचालन दोनों छोर से बारी-बारी रुक-रुक कर किया जाएगा। पटना से आरा-बक्सर की ओर आने वाले भारी वाहन/ बड़ी बस बिहटा सहार पुल होकर आएंगे। मोहनिया व बक्सर से पटना जाने वाले भारी वाहन/ बस तेतरिया मोड़ होते हुए सहार पुल के रास्ते पटना जाएंगे। सासाराम से पटना जाने वाले भारी वाहन तेतरिया, सकड़ी से मुड़कर चांदी होकर सहार पुल के रास्ते पटना जाएंगे।.छपरा की ओर से आने वाले भारी वाहन सकड्डी, सहार होकर पटना जाएंगे। उपरोक्त यातायात व्यवस्था को ले कोइलवर पुल के दोनों छोर तथा सकड़्डी, तेतरिया मोड एवं धोबी घटवा मोड पर साइनेज लगाने का निर्देश दिया गया है।

- Advertisement -

सेक्स रैकेट संचालिका व उसके सहयोगी को रिमांड पर लेगी पुलिस

आरा। नगर थाना की पुलिस देह व्यापार के धंधे का पूरा सच जानने के लिए अनीता देवी और सहयोगी संजीत को रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी। इसके लिए पुलिस को दोनों का चार दिनों का रिमांड मिला है। इसकी जानकारी भोजपुर एसपी सुशील कुमार ने दी। उन्होंने बताया कि पीड़िता के बयान के बाद दोनों को रिमांड पर लेकर पूछताछ करने का निर्णय लिया गया। इसे लेकर कोर्ट में अर्जी दी गयी थी। उस आधार पर कोर्ट द्वारा चार दिनों की रिमांड दी गयी है। एसपी ने बताया कि पूछताछ में कुछ अन्य जानकारी मिलने की उम्मीद है।

बरमेश्वर मुखिया हत्याकांड की जांच में जल्द आरा आयेगी सीबीआई

आरा। बहुचर्चित रणवीर सेना के पूर्व सुप्रीमो बरमेश्वर सिंह उर्फ मुखिया जी की हत्या की जांच में सीबीआई की टीम एक बार फिर आरा आने वाली है। पुलिस सूत्रों के अनुसार सीबीआई की टीम दो-तीन दिनों के भीतर ही आरा पहुंच सकती है। इस दौरान टीम कई बिन्दुओं पर छानबीन करेगी। हत्या में शामिल लोगों की पहचान व उनका सुराग पाने की भी कोशिश की जायेगी। पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार द्वारा भी इस बात की पुष्टि की गयी है। बता दें कि एक जून 2012 की अहले सुबह आरा शहर के कतीरा में ब्रह्मेश्वर मुखिया की उनके घर के सामने हथियारबंद लोगों द्वारा ताबड़तोड़ गोली मार हत्या कर दी गयी थी। उसके बाद आरा से लेकर पटना तक बवाल मचा था। हत्या के बाद मामले की जांच व हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए एसआईटी का गठन किया गया था। तब जांच में जुटी पुलिस ने कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया था। लेकिन हत्या में शामिल लोगों का सुराग नहीं मिल सका। बाद में बरमेश्वर मुखिया के परिजनों व राजनीतिक दबाव को देखते हुए मामले को सीबीआई के हवाले कर दिया गया था।

महनार स्टेशन के नजदीक बाइक सवार को अपराधियों ने गोली मारी

हाजीपुर। वैशाली जिले के महनार  स्टेशन रोड में झुरकिया के पास स्टेशन की ओर से आ रहे बाइक सवार को अपराधियों ने  गोली मार कर जख्मी कर दिया। घायल युवक  रामनरेश राय  का पुत्र रणवीर कुमार बताया गया है। रणवीर को इलाज के लिए महनार सीएचसी में लाया गया। नाजुक हालत देख चिकित्सक ने  प्राथमिक उपचार के बाद उसे हाजीपुर रेफर कर दिया। रणवीर महनार स्टेशन से अपने भाई को ट्रेन पकड़ा कर लावापुर घर लौट रहा था। उसी दौरान झुरकिया के नजदीक कोल्ड स्टोरेज के पास स्टेशन की तरफ से ही छिनतई का विरोध करने पर एक बाइक पर सवार दो अपराधियों ने रणवीर पर गोली चलायी। गोली  उसके जबड़े में जा लगी। सूचना पर महनार थानाध्यक्ष सुबोध कुमार सिंह पहुंचे।

यह भी पढ़ेः क्या नीतीश छोड़ेंगे भाजपा का साथ, हवा में तैर रहा सवाल

यह भी पढ़ेंः भाजपा को काबू में रखने की कला कोई नीतीश कुमार से सीखे

यह भी पढ़ेंः BJP और JDU के रिश्तों में खटास के बीज पड़ चुके हैं

यह भी पढ़ेंः All Is Not Well In Bihar NDA, नीतीश करा रहे RSS की जांच

यह भी पढ़ेंः गृह विभाग ने ADG से पूछा, किसके कहने पर करायी RSS की जांच

यह भी पढ़ेंः राम मंदिर व धारा 370 पर भाजपा से कितनी निभेगी नीतीश की

यह भी पढ़ेंः RJD किनारे रह कर भी बिहार में किंग मेकर की भूमिका निभाता रहेगा

यह भी पढ़ेंः नीतीश कुमार के दोनों हाथ में लड्डू, इधर रहें या उधर जाएं

- Advertisement -